Tuesday, April 13, 2021
Home विविध विषय अन्य कुटाई काण्ड 3: अब मुजफ्फरनगर में सरकार विरोधी बयान पर नाराज समर्थकों ने किए...

कुटाई काण्ड 3: अब मुजफ्फरनगर में सरकार विरोधी बयान पर नाराज समर्थकों ने किए हाथ साफ

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुधीर सैनी ने कहा है कि युवक की पिटाई करने उतरे युवा सिर्फ सरकार का समर्थन करने वाले आम लोग थे, जो जज्बात में उग्र होकर मैदान में उतर गए थे।

‘विरोधियों के सुतान में, समर्थक भी मैदान में।’ देश में राजनीतिक सरगर्मी का दौर उफान पर है। पिछले तीन दिनों में इस प्रकार की ये लगातार तीसरी निंदनीय घटना सामने आई है। पहली घटना में भाजपा के ही सांसद और विधायक आपस में एक बहस के चलते भिड़ पड़े। दूसरी घटना कल की है जिसमें उत्तराखंड के कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता आपस में एक दूसरे की सुताई कर बैठे। अब ये नया मामला है जिसमें अपने नेताओं की ही तर्ज पर समर्थक भी मैदान में उतरते नजर आए हैं। ये मामला है उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का जिसमें सरकार विरोधी बयान देने पर जनता ने युवक पर हाथ साफ कर दिए।

कल एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हुआ जो असल में बुधवार (मार्च 06, 2019) को हुई एक मारपीट का मामला था। एक टीवी न्यूज चैनल के लिए बुलाए गए युवक को भीड़ ने जमकर कूट दिया। हुआ ये कि TV चर्चा के दौरान एक युवक ने सरकार पर बुनियादी सुविधाओं और रोजगार से सम्बंधित इल्जाम लगाए जिससे नाराज भीड़ ने कैमरे के सामने ही ताबड़तोड़ तरीके से पीट दिया। कहा जा रहा है कि पिटाई करने वाले भाजपा के कार्यकर्ता थे। हालाँकि, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुधीर सैनी ने इन आरोपों का खंडन किया कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने युवाओं के साथ मारपीट की थी। उनका कहना है कि युवक की पिटाई करने उतरे युवा सिर्फ सरकार का समर्थन करने वाले आम लोग थे, जो जज्बात में उग्र होकर मैदान में उतर गए थे।

इंटरनेट पर जारी किए गए इस वीडियो में देखा जा सकता है कि युवक सरकार पर कटाक्ष करते हुए कह रहा है, “घुसना है तो पाकिस्तान में घुस के दिखाओ। तुम आतंकवादियों को अंदर घुसाते हो।” इसी बात पर वहाँ पर उपस्थित जनता युवक से नाराज हो गई।

रिपोर्ट्स के अनुसार, यह घटना मुजफ्फरनगर के कंपनी गार्डन पार्क में हुई, जहाँ बुधवार को पत्रकार नरेंद्र प्रताप द्वारा एक सार्वजनिक चर्चा की मेजबानी की जा रही थी। बाद में ऑनलाइन जारी की गई वीडियो फुटेज में नरेंद्र प्रताप को जनता के सदस्यों से बात करते हुए दिखाया गया है।  पत्रकार प्रताप का जनता से सवाल था कि क्या वर्तमान सरकार के तहत उनके जीवन में सुधार हुआ है? जब प्रताप ने युवाओं से अपना पूछा तो पीड़ित युवक ने कहा, “सड़कों की हालत पहले जैसी ही है। बेरोजगारों के लिए कोई अवसर नहीं आए हैं। इसके अलावा, शिक्षा की गुणवत्ता खराब हो गई है।”

पीड़ित युवक के इन बयानों से नाराज भीड़ ने युवक की तब ताबड़तोड़ कुटाई शुरू कर दी, जिससे वह भागने पर मजबूर हो गया। वीडियो में  कि लगभग 25 से 30 लोगों ने पीड़ित युवक जमकर हाथ साफ़ किए।

पत्रकार प्रताप ने इस पर कहा, “भीड़ में ऐसे लोग थे, जिन्होंने पीड़ित युवक को बीच में कई बार रोका। इसके तुरंत बाद हाथापाई शुरू हुई और मैं सिर्फ भीड़ को युवक पर हमला करते हुए देखता रह गया।”

इसके बाद यह वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो गया। हालाँकि, भीड़ में से ही कई लोगों को युवक को छोड़ने की बात कहते हुए सुना जा सकता है। जिसका मतलब ये है कि भीड़ में सब मारने वाले ही नहीं बल्कि कुछ लोग पीड़ित युवक की सहायता करने के लिए गए थे।

मुजफ्फरनगर पुलिस ने इस मामले पर ट्वीटर पर जवाब देते हुए कहा, “उक्त के सम्बन्ध में Co नगर द्वारा अवगत कराया गया कि थाना सिविल लाइन क्षेत्र में हुई उक्त मारपीट की घटना के सम्बन्ध में थाना सिविल लाइन पर पीड़ित के माध्यम से कोई लिखित तहरीर नहीं दी गई है। उसके उपरांत भी उक्त प्रकरण में जाँच कर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।”

सरकार के समर्थन और विरोध में जनता को भीड़ बनने से बचना चाहिए। इस प्रकार के कृत्य नेता, जनता और समर्थकों को शोभा नहीं देते हैं। अभिव्यक्ति की आजादी लोकतंत्र में आवश्यक है और किसी भी बयान पर हाथ छोड़ने के लिए हर समय तैयार रहना अच्छी बात नहीं है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मरकज से कुम्भ की तुलना पर CM तीरथ सिंह ने दिया ‘लिबरलों’ को करारा जवाब, कहा- एक हॉल और 16 घाट, इनकी तुलना कैसे?

हरिद्वार में चल रहे कुंभ की तुलना तबलीगी जमात के मरकज से करने वालों को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने करारा जवाब दिया है।

यूपी पंचायत चुनाव लड़ रहे एक प्रत्याशी के घर से भारी मात्रा समोसे-जलेबी की जब्ती, दक्षिण भारत में छिड़ा घमासान

क्या ज़माना आ गया है। चुनाव के मौसम में छापे मारने पर समोसे और जलेबियाँ बरामद हो रही हैं! जब ज़माना अच्छा था और सब ख़ुशी से जीवनयापन करते थे तब चुनावी मौसम में पड़ने वाले छापे में शराब जैसे चुनावी पेय पदार्थ बरामद होते थे।

100 करोड़ की वसूली के मामले में अनिल देशमुख को CBI का समन, 14 अप्रैल को होगी ‘गहन पूछताछ’

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को 100 करोड़ रुपए की वसूली मामले में पूछताछ के लिए समन जारी किया है। उन्हें 14 अप्रैल को जाँच एजेंसी के सामने पेश होना पड़ेगा।

आंध्र या कर्नाटक… कहाँ पैदा हुए रामभक्त हनुमान? जन्म स्थान को लेकर जानें क्यों छिड़ा है नया विवाद

तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) द्वारा गठित एक विशेषज्ञ पैनल 21 अप्रैल को इस मामले पर अपनी रिपोर्ट सौंप सकता है। पैनल में वैदिक विद्वानों, पुरातत्वविदों और एक इसरो वैज्ञानिक भी शामिल हैं।

‘गुस्ताख-ए-नबी की इक सजा, सर तन से जुदा’: यति नरसिंहानंद के खिलाफ मुस्लिम बच्चों ने लगाए नारे, वीडियो वायरल

डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद के खिलाफ सोमवार को मुस्लिम बच्चों ने 'सर तन से जुदा' के नारे लगाए। पिछले हफ्ते आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर महंत की गर्दन काट देने की बात की थी।

कुम्भ और तबलीगी जमात के बीच ओछी समानता दिखाने की लिबरलों ने की जी-तोड़ कोशिश, जानें क्यों ‘बकवास’ है ऐसी तुलना

हरिद्वार में चल रहे कुंभ की दुर्भावनापूर्ण इरादे के साथ सोशल मीडिया पर सेक्युलरों ने कुंभ तुलना निजामुद्दीन मरकज़ के तबलीगी जमात से की है। जबकि दोनों ही घटनाओं में मूलभूत अंतर है।

प्रचलित ख़बरें

राजस्थान: छबड़ा में सांप्रदायिक हिंसा, दुकानों को फूँका; पुलिस-दमकल सब पर पत्थरबाजी

राजस्थान के बारां जिले के छाबड़ा में सांप्रदायिक हिसा के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया गया है। चाकूबाजी की घटना के बाद स्थानीय लोगों ने...

बंगाल: मतदान देने आई महिला से ‘कुल्हाड़ी वाली’ मुस्लिम औरतों ने छीना बच्चा, कहा- नहीं दिया तो मार देंगे

वीडियो में तृणमूल कॉन्ग्रेस पार्टी के नेता को उस पीड़िता को डराते हुए देखा जा सकता है। टीएमसी नेता मामले में संज्ञान लेने की बजाय महिला पर आरोप लगा रहे हैं और पुलिस अधिकारी को उस महिला को वहाँ से भगाने का निर्देश दे रहे हैं।

SHO बेटे का शव देख माँ ने तोड़ा दम, बंगाल में पीट-पीटकर कर दी गई थी हत्या: आलम सहित 3 गिरफ्तार, 7 पुलिसकर्मी भी...

बिहार पुलिस के अधिकारी अश्विनी कुमार का शव देख उनकी माँ ने भी दम तोड़ दिया। SHO की पश्चिम बंगाल में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

जुमे की नमाज के बाद हिफाजत-ए-इस्लाम के कट्टरपंथियों ने हिंसा के लिए उकसाया: हमले में 12 घायल

मस्जिद के इमाम ने बताया कि उग्र लोगों ने जुमे की नमाज के बाद उनसे माइक छीना और नमाजियों को बाहर जाकर हिंसा का समर्थन करने को कहने लगे। इसी बीच नमाजियों ने उन्हें रोका तो सभी हमलावरों ने हमला बोल दिया।

‘हमें बार-बार जाना पड़ता है, वो वॉशरूम कब जाती हैं’: साक्षी जोशी का PK से सवाल- क्या है ममता बनर्जी का टॉयलेट शेड्यूल

क्लबहाउस पर बातचीत में ‘स्वतंत्र पत्रकार’ साक्षी जोशी ने ममता बनर्जी की शौचालय की दिनचर्या के बारे में उनके चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से पूछताछ की।

बालाघाट में यति नरसिंहानंद के पोस्टर लगाए, अपशब्दों का इस्तेमाल: 4 की गिरफ्तारी पर भड़की ओवैसी की AIMIM

बालाघाट पुलिस ने यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ पोस्टर लगाने के आरोप में मतीन अजहरी, कासिम खान, सोहेब खान और रजा खान को गिरफ्तार किया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,167FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe