Wednesday, May 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'वर्षों की मनोकामना पूरी हुई, मंदिर बन जाएगा तो फिर आऊँगा': अयोध्या में रजनीकांत...

‘वर्षों की मनोकामना पूरी हुई, मंदिर बन जाएगा तो फिर आऊँगा’: अयोध्या में रजनीकांत ने किया रामलला का दर्शन, स्वागत में IG-कमिश्नर से लेकर ट्रस्ट के सदस्य और हिन्दू पदाधिकारी तक रहे मौजूद

इस दौरान उन्होंने राम मंदिर का प्रारूप भेंट किया गया और अंगवस्त्र पहना कर सम्मानित किया गया। इसके बाद वो फिर लखनऊ के लिए रवाना हो गए।

सुपरस्टार रजनीकांत ने रविवार (20 जुलाई, 2023) को अयोध्या पहुँच कर रामलला के दर्शन किए और निर्माणाधीन राम मंदिर के कार्य को भी देखा-जाना। इस दौरान बड़ी संख्या में हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया। रामलला विराजमान के दर्शन के साथ-साथ उन्होंने भव्य राम मंदिर के निर्माण कार्य का अवलोकन किया। इससे पहले ‘संकटमोचन सेना’ के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष वरिष्ठ पुजारी हेमंत दास ने उन्हें हनुमानगढ़ी मंदिर में ले जाकर दर्शन कराया। वहाँ बड़ी संख्या में लोग उनके स्वागत में जुटे थे।

राम मंदिर में ‘श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण ट्रस्ट समिति’ के सदस्य विमलेंद्र मोहन मिश्र, डॉ अनिल मिश्र, कमिश्नर गौरव दयाल, IG प्रवीण कुमार, ‘विश्व हिन्दू परिषद’ के प्रवक्ता शरद शर्मा, नगर आयुक्त विशाल सिंह, पुलिस अधीक्षक (सुरक्षा) पंकज पांडेय, राम मंदिर के निर्माण की जिम्मेदारी संभाल रही टाटा कंसल्टेंसी के मैनेजर विनोद शुक्ला और रामशंकर ने उनका स्वागत किया। रजनीकांत ने कहा कि वर्षों से उनका अयोध्या आने का मन था और आज रामलला के दर्शन की उनकी मनोकामना पूरी हुई है।

उन्होंने कहा कि ईश्वर की इच्छा हुई तो राम मंदिर के निर्माण के बाद उन्हें यहाँ फिर से आने का मौका मिलेगा। इस दौरान उन्होंने राम मंदिर का प्रारूप भेंट किया गया और अंगवस्त्र पहना कर सम्मानित किया गया। इसके बाद वो फिर लखनऊ के लिए रवाना हो गए। बता दें कि लखनऊ में उन्होंने उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ अपनी फिल्म ‘जेलर’ की स्पेशल स्क्रीनिंग में भी हिस्सा लिया था। फिल्म 10 दिनों में बॉक्स ऑफिस पर 514 करोड़ रुपए की कमाई कर चुकी है। सिर्फ तमिलनाडु में इसने 180 करोड़ रुपए बटोर लिए हैं।

सुपरस्टार रजनीकांत के अयोध्या में दर्शन-पूजन को भारत के उत्तरी और दक्षिणी हिस्सों के मेल के रूप में भी देखा जा सकता है, इससे ये साफ़ होता है कि सनातन धर्म इस भूमि को जोड़ता है। रामलला भारत के अलग-अलग हिस्सों के बीच एकता का एक सेतु बन रहे हैं, ये बड़ी अच्छी बात है। 48 वर्षों से तमिल फिल्म इंडस्ट्री पर राज कर रहे रजनीकांत तेलुगू, कन्नड़ और मलयालम दर्शकों में भी लोकप्रिय हैं। श्रीराम ने रामेश्वरम में ही शिव की पूजा की थी और वहाँ मंदिर भी है। तमिल में ‘कम्बन रामायण’ खासा लोकप्रिय है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -