Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाजयाद है न 22 मार्च का जनता कर्फ्यू : हम सबके पास अपनी जिम्मेदारी...

याद है न 22 मार्च का जनता कर्फ्यू : हम सबके पास अपनी जिम्मेदारी निभाने का अवसर है, हम इसे नहीं गँवाएंगे

विश्व के अधिकांश (अब तक 185) देशों में फैल चुके कोरोना वायरस से अब तक 11,949 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 288,044 लोग इससे संक्रमित हुए हैं।

याद है न रविवार का जनता कर्फ्यू, आइए हम सब मिलकर कोरोना को ना कहे

रविवार (मार्च 22, 2020) यानी कल सुबह 7 बजे से लेकर रात 9 बजे तक देशभर में जमीन से आसमान तक ‘जनता-कर्फ्यू’ रहेगा। पीएम मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए इस कर्फ्यू का आह्वान किया था। इसका मकसद न केवल विश्वभर में दहशत का कारण बने काेरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार रोकना है बल्कि उन लोगों के प्रति आभार जताना भी है जो संकट की इस घड़ी में महामारी से हमारी जिंदगी बचाने के लिए लड़ रहे हैं। उन डॉक्टर, नर्स, स्वास्थ्य कर्मचारियों का जिन्होंने ह​मारी सुरक्षा के लिए अपना जीवन दॉंव पर लगा रखा है, उनका समर्थन और हौसला भी बढ़ाना है।

पीएम मोदी ने रविवार की शाम 5 बजे, वैश्विक महामारी के दौरान भी इस बीमारी से लड़ रहे डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की कर्त्तव्यनिष्ठा के प्रति आभार प्रकट करने के लिए अपनी बालकनी में खड़े होकर ताली, थाली या घंटी बजाने की भी अपील की है।

दरअसल इस कोरोना वायरस के लिए पूरे विश्व में वैज्ञानिक निरंतर वैक्सीन तैयार करने का प्रयास कर रहे हैं और वर्तमान में इसके संक्रमण को रोकने का मात्र एक ही उपाय है कि जितनी ज्यादा से ज्यादा दूरी सम्भव हो, बनाए रखी जा सके ताकि इसका संक्रमण दूसरे लोगों तक न पहुँचे। जनता-कर्फ्यू के दौरान आम नागरिकों को भी अपने कर्तव्य का पालन करना होगा। कल होने वाले सभी सार्वजनिक समारोह और प्रतियोगी परीक्षाएँ टाली गई हैं। देश के अन्य हिस्सों में इस अवधि में मेट्रो रेल सेवाएँ बंद रहेंगी और सार्वजनिक परिवहन सेवा सीमित रहेगी।

वायरस के भय से अपने गाँव लौटने की जल्दबाजी कर रहे लोगों के लिए भी प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट के माध्यम से निर्देश देते हुए कहा कि ऐसा कर आप अपने गाँव के लोगों के लिए भी संकट पैदा कर सकते हैं। ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा – “मेरी सबसे प्रार्थना है कि आप जिस शहर में हैं, कृप्या कुछ दिन वहीं रहिए। इससे हम सब इस बीमारी को फैलने से रोक सकते हैं। रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों पर भीड़ लगाकर हम अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। कृप्या अपनी और अपने परिवार की चिंता करिए, आवश्यक न हो तो अपने घर से बाहर न निकलिए।”

ऑपइंडिया निवेदन करता है कि जनता-कर्फ्यू के दौरान कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। जैसे, अफवाहों के संक्रमण पर अंकुश लगाना, क्योंकि इस वायरस की क्षमता और उपायों के बारे में अभी तक यदि दुनियाभर के श्रेष्ठ डॉक्टर और खोजकर्ता ही पूरी तरह से आश्वस्त नहीं हैं तो हम और आप आखिर कैसे इसका कोई सटीक आँकलन कर सकते हैं? खासकर, किसी भी जानकारी को ‘सबसे पहले’ आगे बढ़ाने की व्याकुलता का व्हाट्सएप जैसे मैसेंजर एप्प्लिकेशंस पर त्याग करना होगा।

इसके साथ ही, राशन से लेकर अन्य रोजमर्रा के उत्पादों का भंडारण ना कर के किसी भी प्रकार की भगदड़ और अफरा-तफरी को अंजाम ना दें। सबसे बड़ी बात जो एक है वो ये कि कोरोना वायरस के संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित गरीब वर्ग हो रहा है, जो रोजाना के खर्चों के लिए किसी के घर पर या फिर प्रोजेक्ट आधारित काम करते हैं।

पीएम मोदी ने भी जनता-कर्फ्यू के आह्वान के साथ इस गरीब वर्ग के आर्थिक हितों का ध्यान रखने की विशेष अपील की है। यह एक ऐसी महामारी है, जिसने हर वर्ग- चाहे गरीब, अमीर या फिर मध्यम वर्ग हो, सबको अपनी व्यक्तिगत जिम्मेदारी साबित करने का मौका दिया है। हमें इसे जाया नहीं होने देना चाहिए। हम और आप इस वक्त सबसे बेहतर यही कर सकते हैं कि कम से कम अपनी जिम्मेदारियाँ ईमानदारी से निभाएँ।

Covid-19 : अब तक के आँकड़े

विश्व के अधिकांश (अब तक 185) देशों में फैल चुके कोरोना वायरस से अब तक 11,949* लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 288,044 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। भारत में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 256 हो चुकी है जिनमें से 4* की मृत्यु हो गई है और 23 को सफलतापूर्वक रिकवर भी कर लिया जा चुका है। शुक्रवार के बाद देश में कुल 47 नए मामले सामने आए हैं।

चीन के वुहान प्रांत से शुरू हुए इस चीनी वायरस को लेकर तैयार की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन में हुई मौत के 80% मामले 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के थे। चीन में 81,008 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है और करीब 3,255 लोगों की इस वायरस के चपेट में आने के बाद मौत हो चुकी है। चीन के बाद सबसे ज्याद प्रभावित इस वायरस ने इटली को किया है, जहाँ संक्रमण से होने वाली मौतों (अब तक 4,032) ने चीन को भी पीछे छोड़ दिया है।

भारत सरकार द्वारा जारी कोरोना वायरस से आधारित हर प्रकार की जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsजनता कर्फ्यू 22 मार्च, china coronavirus, wuhan covid 19, china wuhan, जगन्नाथ मंदिर, पुरी जगन्नाथ मंदिर, ओडिशा कोरोना, delhi corona, kejriwal corona, delhi lock down, kejriwal lock down, कोरोना से मौत, कोरोना मरीजों की संख्या, ऑल इंडिया सूफी उलेमा काउंसिल, ऑल इंडिया सूफी उलेमा काउंसिल जनता कर्फ्यू, west bengal, west bengal janta curfew, mamata banerjee janta curfew, west bengal corona virus, mamata banerjee corona virus, ममता बनर्जी जनता कर्फ्यू, बंगाल जनता कर्फ्यू, ममता बनर्जी कोरोना, बंगाल कोरोना, रमाकांत यादव सपा, रमाकांत यादव एफआईआर, रमाकांत यादव कोरोना, कोरोना इटली, इटली में फंसे भारतीय, जनता कर्फ्यू, janta curfew, नवरात्रि पर मोदी के नौ आग्रह, कोरोना बांग्लादेश, कोरोना ईरान, कोरोना भारतीय, कोरोना कर्नाटक, Covid-19, Coronavirus, coronavirus india, coronavirus news, coronavirus symptoms, coronavirus update, कोरोना वायरस, कोरोना वायरस इंडिया, इंडिया ट्रैवल बैन, इंडिया वीजा, कोरोना से मौत, कोरोना से भारत में पहली मौत, corona disater,Covid 19 disater, corona update, कोरोना वायरस अपडेट, कोरोना सार्क, कोरोना मोदी, Coronavirus SAARC, Corona कांग्रेस, कोरोना कांग्रेस, Corona राहुल गांधी, Corona आनंद शर्मा, कोरोना राहुल गांधी, कोरोना आनंद शर्मा, कोरोना से मौत, कोरोना के मरीज, कोरोना दवा, कोरोना टीका, कोरोना इलाज, कोरोना ट्रंप, कोरोना अमेरिका
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सागर धनखड़ मर्डर केस में सुशील कुमार मुख्य आरोपित: दिल्ली पुलिस ने 20 लोगों के खिलाफ फाइल की 170 पेज की चार्जशीट

दिल्ली पुलिस ने छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल की है। सुशील कुमार को मुख्य आरोपित बनाया गया है।

यूपी में मुहर्रम सर्कुलर की भाषा पर घमासान: भड़के शिया मौलाना कल्बे जव्वाद ने बहिष्कार का जारी किया फरमान

मौलाना कल्बे जव्वाद ने आरोप लगाया है कि सर्कुलर में गौहत्या, यौन संबंधी कई घटनाओं का भी जिक्र किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,651FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe