Sunday, May 19, 2024
Homeदेश-समाजPM मोदी को गालियाँ, तिरंगे को गिराने की बातें और AK-47 की धमकी: लाल...

PM मोदी को गालियाँ, तिरंगे को गिराने की बातें और AK-47 की धमकी: लाल किले के दंगाइयों का वीडियो

वीडियो में उक्त व्यक्ति 'जो बोले, सो निहाल' के नारे लगवाते हुए युवकों को सलाह देता है कि वो लाल किला परिसर के गेट के पार चले जाएँ और उसे तोड़ डालें। दरवाजा खुलते ही सभी अंदर घुस जाते हैं। इस दौरान पीएम मोदी को अपशब्द कहते हुए 'हाय-हाय' के नारे लगाए जाते हैं।

गणतंत्र दिवस (जनवरी 26, 2021) के दिन को जिस तरह से ‘किसान आंदोलन’ और ट्रैक्टर रैली के नाम पर उपद्रवियों ने दिल्ली में हिंसा की और लाल किला पर राष्ट्रीय ध्वज का अपमान किया, उसके बाद आंदोलन पर कई सवाल खड़े हो गए। अब फेसबुक पेज ‘द सैफरन सोर्ड’ ने एक वीडियो पोस्ट किया है। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी को अपशब्द कहते हुए भारतीय तिरंगे को गिराने की बातें की जा रही हैं।

उक्त वीडियो किसी प्रदर्शनकारी द्वारा शूट किया गया प्रतीत होता है, जो आंदोलन के दौरान लाल किला पर चले रहे घटनाक्रम की कमेंट्री भी कर रहा है। वीडियो की शुरुआत में उक्त सिख व्यक्ति ‘वाहेगुरु-वाहेगुरु’ के नारे लगा रहा होता है और साथ में कह रहा होता है कि वो तिरंगे को हटा कर खालसा के निशान को लगा देगा। आसपास सभी लोग सेल्फी लेते हुए इस घटना को कैमरे में कैद कर रहे हैं। लाल किला मामले में अब तक 44 गिरफ्तार हुए हैं।

उक्त व्यक्ति ‘शांति के बाद क्रांति’ और ‘प्यार के बाद हथियार’ की बातें भी कर रहा है। लाल किला का दरवाजा खोलने के लिए गाली-गलौज भी चल रहा होता है और वो व्यक्ति कहता है कि लातों के भूत बातों से नहीं मानते हैं। वो लोगों को डंडे तैयार रखने को कहता है और ‘चक दे फट्टे’ और ‘नप दे गिल्ली’ के नारे लगा रहा होता है। इस वीडियो में वो लाल किले में पेशाब करने और टट्टी करने की बातें भी करता है। वीडियो में उक्त बातें की जाती हैं:

  • 0:00 से 0:18 तक: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गालियाँ देते हुए भारतीय तिरंगे को गिरा देने की बातें।
  • 0:19 से 0:36 तक: पुलिस को धमकी दी जा रही है कि अगर उन्होंने दरवाजे नहीं खोले तो हथियारों का इस्तेमाल किया जाएगा।
  • 1:37 से 1:48 तक: वो लोगों को डंडे तैयार रखने की सलाह देता है, अगर लाल किले का दरवाजा नहीं खोला गया तो।
  • 1:49 से 2:23 तक: वो पीएम मोदी को अपशब्द बकते हुए कहता है कि ‘इनको’ एके-47 से ठोक कर मारेंगे, समझाओ इनको।
  • 2:24 से 4:01 तक: सारे लोग मिल कर लाल किला परिसर के दरवाजे को तोड़ डालते हैं और भीतर घुसने में कामयाब होते हैं।
  • 4:02 से 4:12 तक: पीएम मोदी को गालियाँ।
  • 4:13 से 8:10 तक: लाल किले की प्राचीर पर चढ़ कर किसानों के, खालिस्तान के और खालसा के झंडे फहराए जाते हैं। सुरक्षा बलों को नीचे जाने के लिए धमकी दी जाती है। ये वही जगह है, जहाँ से प्रधानमंत्री प्रतिवर्ष स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ध्वजारोहण करते हैं।
  • 6:30 से 6:40 तक: खालिस्तानी झंडे लहराए जाते हैं।

वीडियो में उक्त व्यक्ति ‘जो बोले, सो निहाल’ के नारे लगवाते हुए युवकों को सलाह देता है कि वो लाल किला परिसर के गेट के पार चले जाएँ और उसे तोड़ डालें। दरवाजा खुलते ही सभी अंदर घुस जाते हैं। इस दौरान पीएम मोदी को अपशब्द कहते हुए ‘हाय-हाय’ के नारे लगाए जाते हैं और साथ ही पुलिस को कहा जा रहा है, “तुमलोग शांति रखो। हमलोग नहीं जाएँगे, तुम जाओ। देखों सिखों की महान कुर्बानी।”

इस वीडियो को किसी खालिस्तानी पेज ने अपलोड किया था, जिसे बाद में डिलीट कर दिया गया। लेकिन, इसी बीच 'द सैफरन सोर्ड' नामक फेसबुक पेज ने इस वीडियो को पोस्ट कर खालिस्तानी एजेंडे का खुलासा किया। 

बता दें कि गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले में हुई हिंसा और बर्बरता की घटना की जाँच के लिए एनकाउंटर स्पेशलिस्ट एसीपी ललित मोहन नेगी को नया इन्वेस्टिगेटिंग ऑफिसर नियुक्त किया गया है। इस घटना के कई वीडियो वायरल हुए, जिनमें सभी प्रदर्शनकारियों के हाथों में डंडे देखे जा सकते हैं। वहीं कई लोग घोड़े पर सवार देखे जा सकते हैं। इन वीडियोज में कहीं दंगाई पुलिस की गाड़ियों को तोड़फोड़ रहे हैं तो कहीं आक्रामक तरीके से ट्रैक्टर चलाते हुए दिखाई दे रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -