Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाज'मेरठ से हूँ, हिन्दुस्तान किसी के बाप का नहीं.. पता दे फिर देखते हैं...

‘मेरठ से हूँ, हिन्दुस्तान किसी के बाप का नहीं.. पता दे फिर देखते हैं किसमें कितना दम है’: हम्जा ने धमकी के बाद अकाउंट किया डिलीट

"मेरे परिवार को पलायन के बाद सियालकोट से मेरठ प्रवास करने के लिए मजबूर किया गया था। मेरठ में संप्रदाय विशेष अपने पैतृक घरों में रहे। मेरे परिवार को पाकिस्तान में बहुसंख्यक संप्रदाय विशेष से कोई सुरक्षा या अलग निर्वाचन का विकल्प नहीं दिया गया।"

पूर्व एमनेस्टी इंडिया के प्रमुख आकार पटेल ने एक ट्वीट में संप्रदाय विशेष को आरक्षित सीट या पृथक निर्वाचन क्षेत्र की माँग की वकालत करते हुए एक ट्वीट किया, जिसमें हम्ज़ा नाम के एक युवक ने एक महिला को धमकी देते हुए उसका पता पूछकर कहा है कि हिन्दुस्तान किसी के बाप का नहीं है।

दरअसल, रविवार (अगस्त 09, 2020) को आकार पटेल ने एक ट्वीट में लिखा- “संप्रदाय विशेष को आरक्षित सीट या पृथक निर्वाचन क्षेत्र के लिए माँग करनी चाहिए। हिंदू राष्ट्र अधिकारों को स्वीकार नहीं करेगा।”

इस पर एक ट्विटर यूजर निधि बहुगुणा ने लिखा, “मेरे परिवार को पलायन के बाद सियालकोट से मेरठ प्रवास करने के लिए मजबूर किया गया था। मेरठ में संप्रदाय विशेष अपने पैतृक घरों में रहे। मेरे परिवार को पाकिस्तान में बहुसंख्यक संप्रदाय विशेष से कोई सुरक्षा या अलग निर्वाचन का विकल्प नहीं दिया गया।”

लेकिन निधि बहुगुणा के इस ट्वीट से हम्ज़ा (@hamza63714280) नाम के एक युवक को बेहद आपत्ति हुई और इसके विरोध के लिए उसने निधि बहुगुणा को धमकी दे डाली।

@hamza63714280 ने लिखा – “मैं भी मेरठ से हूँ, हापुड़ रोड मेरठ। कहाँ से है तू? और हम भी हिन्दुस्तानी हैं, हिन्दुस्तान किसी के बाप का नहीं है, समझा? एड्रेस (पता) दे अपना, देखते हैं किसमें कितना दम है।”

निधि बहुगुणा को @hamza63714280 द्वारा दी गई धमकी का स्क्रीनशॉट

निधि बहुगुणा को @hamza63714280 नाम के ट्विटर यूजर के इस यूजर द्वारा दी गई खुली धमकी पर एहतियात के तौर पर एक अन्य ट्विटर यूजर ने मेरठ पुलिस को टैग करते हुए लिखा कि ये आदमी एक महिला को खुली धमकी दे रहा है और वह मेरठ से ही है।

इस पर मेरठ पुलिस ने फ़ौरन जवाब देते हुए लिखा कि इस मामले में साइबर सेल को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए गए हैं।

लेकिन ख़ास बात यह रही कि मेरठ पुलिस के ट्वीट के फ़ौरन बाद @hamza63714280 नाम के ट्विटर यूजर ने अपना धमकी भरा ट्वीट डिलीट कर दिया और अपना अकाउंट भी डिलीट कर दिया है। यह अकाउंट अगस्त, 2020 में ही बनाया गया है, और सम्भव है कि यह हिन्दुओं को इसी प्रकार की धमकियाँ देने के लिए इस्तेमाल किया जाता हो।

गौरतलब है कि ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने वर्ष 2013 में भी हिन्दुओं को ठीक इसी तरह की धमकी देते हुए कहा था कि ‘हम (संप्रदाय विशेष) 25 करोड़ हैं और तुम (हिंदू) 100 करोड़ हो, 15 मिनट के लिए पुलिस हटा दो, देख लेंगे किसमें कितना दम है।’

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,573FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe