Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजAMU का फरहान जुबैरी गिरफ्तार, CAA विरोधी हिंसा में था शामिल: पथराव, जानलेवा हमले...

AMU का फरहान जुबैरी गिरफ्तार, CAA विरोधी हिंसा में था शामिल: पथराव, जानलेवा हमले सहित कई मामलों में वांछित

जुबैरी को अलीगढ़ पुलिस ने गुरुवार दोपहर को कठपुला के पास से गिरफ्तार किया। वह AMU के ही साथी छात्र के साथ कार में सवार होकर शहर से बाहर जा रहा था। दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। इसके बाद जुबैरी के साथी को पुलिस ने छोड़ दिया।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के छात्र और पूर्व कैबिनेट सदस्य फरहान जुबैरी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। AMU में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध के नाम पर हुए बवाल में वह शामिल था। उस पर कुल 11 मुकदमे दर्ज हैं। एसपी सिटी की गाड़ी पर पथराव, पुलिस पर हमले सहित सात मुकदमों में वह वांछित चल रहा था।

अमर उजाला की खबर के मुताबिक जुबैरी को अलीगढ़ पुलिस ने गुरुवार दोपहर को कठपुला के पास से गिरफ्तार किया। वह एएमयू के ही साथी छात्र के साथ कार में सवार होकर शहर से बाहर जा रहा था। दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। इसके बाद जुबैरी के साथी को पुलिस ने छोड़ दिया। देर शाम जुबैरी को रिमांड मजिस्ट्रेट के सामने पेश कर उसे जेल भेज दिया।

एसपी सिटी अभिषेक ने बताया कि थाना सिविल लाइन के कई मुकदमों में वांछित अभियुक्त फरहान जुबैरी को कठपुला पुल से गिरफ्तार किया गया। जुबैरी बदायूँ जिले के इस्लामनगर का रहने वाला है। फिलहाल वह अलीगढ़ शहर की जकरिया मार्केट में रहता है। वह एएमयू कला संकाय से डीएसडब्ल्यू का छात्र है।

एसपी सिटी के मुताबिक पिछले वर्ष 15 दिसंबर को सीएए-एनआरसी के विरोध में एएमयू छात्रों द्वारा पुलिस पर किए गए पथराव, सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुँचाने, सरकारी कार्य में बाधा डालने व एसपी सिटी की गाड़ी पर पथराव सहित अन्य कई मुकदमों में वह वांछित था।

जुबैरी पर सीएए-एनआरसी विरोध-प्रदर्शनों के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले भाषण देने का भी आरोप है। वह बीजेपी विधायक दलवीर सिंह के पौत्र अजय और निशित पर हमले सहित कुल 11 मुकदमों में आरोपी भी है।

आपको बता दें कि पिछले वर्ष लागू किए गए सीएए को लेकर एएमयू में छात्रों ने अपनी माँगो को लेकर लंबे समय तक धरना-प्रदर्शन किया था। 15 दिसंबर की रात को जामिया यूनिवर्सिटी में हुए बवाल और लाठीचार्ज के बाद फैली एक अफवाह से एएमयू में सीएए के विरोध के नाम पर हिंसा भड़क उठी थी।

इस दौरान एएमयू छात्रों द्वारा पुलिस के ऊपर हमला और एसपी सिटी की गाड़ी में तोड़फोड़ जैसी घटनाओं को अंजाम दिया गया था। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने करीब 1100 छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -