Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाज'फर्जी आधार कार्ड से होटल में रुका सचिन वाजे, उसके पास थे जिलेटिन स्टिक...

‘फर्जी आधार कार्ड से होटल में रुका सचिन वाजे, उसके पास थे जिलेटिन स्टिक वाले ब्लू बैग’: NIA को मिस्ट्री वुमन की तलाश

इस फर्जी आधार कार्ड में सचिन वाजे की फोटो दिख रही है मगर नाम लिखा है- सुधाकर सदाशिव खामकर। साथ ही जन्म की तारीख भी गलत लिखी हुई है। खुलासा ये भी हुआ है कि जिस समय वाजे होटल में था वहाँ उससे एक मिस्ट्री वुमन मिलने आई थी। महिला के पास पैसे गिनने की मशीन भी थी।

एंटीलिया केस और वसूली कांड में आरोपित सचिन वाजे को लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ है। सचिन वाजे ने होटल बुक करने के लिए फर्जी आधार कार्ड का इस्तेमाल किया था। जिन फर्जी आईडी कार्ड का इस्तेमाल वाजे करता था उसकी कॉपी ‘रिपब्लिक भारत’ के हाथ लगी है। वाजे मुंबई के एक 5 स्टार होटल में 16 से 20 फरवरी तक रुका था। जहाँ रूम बुक करने के लिए फर्जी आधार कार्ड का इस्तेमाल किया था। उसके पास दो ब्लू बैग थे, जिसमें जिलेटिन स्टिक थी।

इस फर्जी आधार कार्ड में सचिन वाजे की फोटो दिख रही है मगर नाम लिखा है- सुधाकर सदाशिव खामकर। साथ ही जन्म की तारीख भी गलत लिखी हुई है। खुलासा ये भी हुआ है कि जिस समय वाजे होटल में था वहाँ उससे गुजरात से मिलने के लिए एक महिला आई थी। महिला के पास पैसे गिनने की मशीन भी थी। इस महिला का सचिन वाजे से कोई रिश्ता है या नहीं? यह महिला सचिन वाजे को पहचानती या नहीं? इन सारे सवालों के जवाब एनआईए (NIA) तलाश रही है।

इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने दावा किया ट्रांसफर-पोस्टिंग का रैकेट चल रहा है। इसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पास होने के बावजूद उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। फडणवीस ने इस संबंध में सबूत होने की बात कहते हुए कहा कि वे केंद्रीय गृह सचिव को 6.3 जीबी डाटा सौंपेंगे। उन्होंने कहा कि वे आईपीएस और गैर-आईपीएस अधिकारियों के कथित ट्रांसफर पोस्टिंग रैकेट से संबंधित कॉल रिकॉर्डिंग और कुछ दस्तावेज व डेटा सौंपेंगे।

फडणवीस का कहना था कि इंटेलिजेंस कमिश्नर ने ट्रांसफर का रैकेट पकड़ा। इसमें शामिल संदिग्ध इंटरसेप्टेड कॉल्स की रिपोर्ट अगस्त 2020 में महाराष्ट्र के डीजी को भेजी। इस पर चिंता जताते हुए रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भेजी गई, लेकिन कोई कार्रवााई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि उनके पास 6.3 जीबी डाटा है जिसमें सारी जानकारी है।

ATS ने दमन से एक कार बरामद की

महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी दल (ATS) ने मनसुख हिरेन हत्याकांड के संबंध में दमन से एक कार बरामद की है। एक अधिकारी ने मंगलवार (मार्च 23, 2021) को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के नंबर वाली एक वॉल्वो कार सोमवार को बरामद की गई जिसके मालिक का अभी पता नहीं चला पाया है। उन्होंने कहा कि बरामद की गई कार को ठाणे स्थित एटीएस कार्यालय में रखा गया है।

इससे पहले, इस हत्याकांड के संबंध में शनिवार रात को दो व्यक्तियों को गिरफ्तारी के बाद एटीएस ने गुजरात से एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया था जिसने कथित तौर पर आरोपितों को सिम कार्ड उपलब्ध कराए थे। अधिकारियों ने बताया था कि उन्हें उक्त व्यक्ति के पास से कई सिम कार्ड मिले थे। एटीएस ने मामले के संबंध में, निलंबित पुलिसकर्मी विनायक शिंदे और सटोरिये नरेश गौड़ को पिछले सप्ताह गिरफ्तार किया था। हालाँकि, मनसुख हत्याकांड की जाँच 22 मार्च को एनआईए को सौंप दी गई थी लेकिन एटीएस अब भी जाँच कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,101FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe