Tuesday, September 28, 2021
Homeदेश-समाजजैन शिकंजी के नाम पर बिक रही थी चिकन बिरयानी, विरोध करने पर श्रद्धालुओं...

जैन शिकंजी के नाम पर बिक रही थी चिकन बिरयानी, विरोध करने पर श्रद्धालुओं पर हमला: शराफत, शहजाद, अरशद सहित 6 पर FIR

जैन श्रद्धालुओं ने मंदिर के बाहर ठेला लगाकर चिकन बिरयानी बेचे जाने का विरोध किया। विरोध किए जाने पर ठेले वाले ने अपने दर्जन भर साथियों को बुला लिया और तीर्थ यात्रियों की बस पर पथराव कर दिया। आरोपितों के हाथ में लाठी और डंडे थे, साथ ही उन्होंने बस को आग लगाने की कोशिश भी की।

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में जैन मंदिर के बाहर ‘जैन शिकंजी’ का बैनर लगाकर चिकन बिरयानी बेचे जाने का मामला सामने आया है। इसे लेकर जैन तीर्थ यात्रियों द्वारा जब विरोध किया गया तो उनके साथ मारपीट की गई और उनकी बस को भी आग लगाने का प्रयास किया गया।

घटना बागपत जिले के खेकडा थाने के अंतर्गत बड़ागाँव की है। बड़ौत से कुछ जैन तीर्थयात्री बड़ागाँव स्थित जैन मंदिर आए हुए थे। रात में जब ये तीर्थ यात्री वापस जाने लगे तो उन्होंने मंदिर के बाहर ठेला लगाकर चिकन बिरयानी बेचे जाने का विरोध किया। रिपोर्ट्स में बताया गया कि जैन समुदाय के सदस्यों द्वारा विरोध किए जाने पर ठेले वाले ने अपने दर्जन भर साथियों को बुला लिया और तीर्थ यात्रियों की बस पर पथराव कर दिया। आरोपितों के हाथ में लाठी और डंडे थे, साथ ही उन्होंने बस को आग लगाने की कोशिश भी की।

इंस्पेक्टर एनएस सिरोही ने जानकारी दी कि मामले की जाँच की जा रही है और अभी तक 4 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक 6 आरोपितों शराफत, सोनू, शहजाद, अरशद, नदीम और नौशाद के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इन सभी आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 295-A, 323, 336, 307, 427, 436 और 511 के तहत केस दर्ज किया गया है।

ज्ञात हो कि रविवार (15 अगस्त 2021) को पार्श्वनाथ मंदिर में एक समारोह का आयोजन किया गया था जहाँ कई श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया। रात लगभग 8 बजे एक व्यक्ति को मंदिर के सामने जैन शिकंजी का बैनर लगाकर चिकन बिरयानी बेचते हुए पकड़ा गया। इसके बाद जब जैन श्रद्धालुओं ने विरोध किया तो बिरयानी बेचने वाले ने अपने साथियों के साथ जैन श्रद्धालुओं पर हमला कर दिया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe