Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजकंटेनर में हो रही थी गोतस्करी, रोकने पहुँचे बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर धारदार हथियारों...

कंटेनर में हो रही थी गोतस्करी, रोकने पहुँचे बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर धारदार हथियारों से हमला: 2 दर्जन हमलावरों की तलाश में MP पुलिस की ताबड़तोड़ दबिश

मामला दमोह जिले के जबलपुर नाका क्षेत्र का है। 19 फरवरी को बजरंग दल कार्यकर्ताओं को सूचना मिली थी कि न्यू दमोह कॉलोनी में गोवंश की तस्करी की जा रही है।

मध्य प्रदेश के दमोह में गोतस्करों द्वारा बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर हमले की खबर है। आरोप है कि यह हमला तब हुआ जब बजरंग दल के कार्यकर्ता उस कंटेनर को बरामद करने गए थे जिसमें उन्हें तस्करी की आशंका थी। हमले में हिन्दू संगठन के 3 कार्यकर्ता घायल हो गए। इस मामले की जानकारी होने पर हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं ने थाने पर हंगामा किया। 20 से 25 आरोपितों पर केस दर्ज हुआ है जिनकी तलाश में पुलिस टीमें दबिश दे रहीं हैं। पुलिस मामले की जाँच कर रही है। घटना मंगलवार (19 फरवरी, 2024) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला दमोह जिले के जबलपुर नाका क्षेत्र का है। 19 फरवरी को बजरंग दल कार्यकर्ताओं को सूचना मिली थी कि न्यू दमोह कॉलोनी में गोवंश की तस्करी की जा रही है। यह तस्करी कंटेनरों में होने की सूचना थी जिसे सुन कर बजरंग दल के कार्यकर्ता वहाँ पहुँचे थे। बताया जा रहा है कि अचानक ही मुस्लिम समुदाय के लगभग 2 दर्जन लोग वहाँ पहुँच गए। उन्होंने बजरंग दल के 3 सदस्यों को बुरी तरह से मारा-पीटा। आरोप है कि हमलावरों के पास लाठी-डंडों के अलावा धारदार हथियार भी थे। हिन्दू संगठन के घायल कार्यकर्ताओं को अस्पताल ले जाया गया।

इस बीच साथियों पर हमले की सूचना मिलते ही अन्य हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ता भड़क उठे। कुछ ही देर में जबलपुर नाका पुलिस चौकी के आगे सैकड़ों लोगों का जमावड़ा लग गया। इस दौरान नारेबाजी हुई और पुलिस पर कार्रवाई में सुस्ती दिखाने का आरोप लगा। कुछ सदस्यों ने सड़क भी जाम कर दी। मौके पर पुलिस के सीनियर अधिकारी पहुँचे। उन्होंने लोगों को समझाने का प्रयास किया। प्रदर्शनकारी हमलावरों पर कड़ी कार्रवाई की माँग को ले कर अड़े रहे। काफी देर बाद हंगामा जैसे-तैसे शाँत हुआ।

दमोह के एडिशनल एसपी ने बताया कि घायलों से तहरीर ले कर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। लगभग 20 से 25 आरोपितों को नामजद कर के कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। उन्होंने कहा कि मामले की बारीकी से जाँच करवाई जा रही है। इस बीच केस दर्ज होने की सूचना मिलते ही हमलावर फरार हो गए हैं। पुलिस टीमों का गठन कर के उनकी तलाश की जा रही है। मौके से कंटेनर भी बरामद कर लिया गया है। हिन्दू संगठनों से जुड़े सदस्यों का आरोप है कि आरोपित पहले भी गौतस्करी और अन्य गैरकानूनी कामों में संलिप्त रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -