Monday, April 15, 2024
Homeदेश-समाजमध्य प्रदेश: गुना में दलित किसान दंपति के मामले पर NCW ने जताई नाराजगी,...

मध्य प्रदेश: गुना में दलित किसान दंपति के मामले पर NCW ने जताई नाराजगी, की निष्पक्ष और शीघ्र जाँच की माँग

NCW की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने इस मामले से जुड़े वीडियो को देखते हुए मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी को एक पत्र लिखा है। उन्होंने पुलिस की तरफ से किए गए अमानवीय व्यवहार पर चिंता ज़ाहिर करते हुए घटना की पूर्ण जानकारी का ब्यौरा माँगा है।

मध्य प्रदेश के गुना में दलित किसान दंपति के साथ प्रशासन के अधिकारियों ने जिस तरह से मारपीट की, इस मामले पर विवाद बढ़ता जा रहा है। वहीं अब इस मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी नाराज़गी व्यक्त की है। इसके साथ ही मामले की रिपोर्ट तलब करते हुए मध्यप्रदेश पुलिस से निष्पक्ष और जल्दी जाँच को सुनिश्चित करने के लिए कहा है। आयोग ने इस मामले की एक प्रारंभिक रिपोर्ट की भी माँग की है।

NCW की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने इस मामले से जुड़े वीडियो को देखते हुए मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी को एक पत्र लिखा है। उन्होंने पुलिस की तरफ से किए गए अमानवीय व्यवहार पर चिंता ज़ाहिर करते हुए घटना की पूर्ण जानकारी का ब्यौरा माँगा है। इसके साथ ही शर्मा ने पुलिस से इस मामले में बिना किसी दबाव के निष्‍पक्ष जाँच जल्‍द से जल्‍द करने को कहा है।

गौतलब है कि मध्यप्रदेश के गुना में मंगलवार को अतिक्रमण हटाने के लिए पहुँची पुलिस ने किसान दंपति की लाठियों से जमकर पिटाई की। इसके साथ ही किराए की जमीन पर खेती कर रहे किसान पति-पत्नी ने आत्महत्या करने का भी प्रयास किया। इससे जुड़ा एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। जिसपर गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुना के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्पष्ट किया है कि किसी भी प्रकार की बर्बरता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुना मामले में उच्च स्तरीय जाँच के आदेश भी दिए हैं, जो भी इस घटना में दोषी है उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इस मामले के सामने आने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी ट्वीट किया। जिसमें लिखा कि, “गुना की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। इस संबंध में मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से चर्चा करके ऐसे असंवेदनशील व दोषी अधिकारियों पर कड़ी कार्यवाही का अनुरोध किया है।”

उल्लेखनीय है कि गुना शहर के जगनपुर क्षेत्र में एक सरकारी मॉडल कॉलेज के निर्माण के लिए निर्धारित सरकारी जमीन के अतिक्रमण से जबरन निकाले गए एक दलित दंपति ने मंगलवार (जुलाई 14, 2020) को इस मुहिम के विरोध में कीटनाशक पी लिया था।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अतिक्रमणकारी दंपति और उनके परिवार के लोगों द्वारा अतिक्रमण हटाने की मुहिम का विरोध करने पर पुलिस को लाठीचार्ज करने के लिए मजबूर होना पड़ा। कीटनाशक पी लेने के बाद पुलिस द्वारा दंपति को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ फिलहाल उनकी हालत में सुधार है।

जगह छोड़ने का विरोध कर रहे दंपति को पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इसमें पुलिस लाठी से एक आदमी को कथित तौर पर पीट रही है और उसकी पत्नी और अन्य लोग उसे बचाने का प्रयास कर रहे हैं। इसमें महिला भी अपने पति के ऊपर लेट जाती है और महिला पुलिसकर्मी उसे मौके से हटाते हुए नजर आ रही हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वित्त मंत्री रहते RBI पर दबाव बनाते थे P चिदंबरम, सरकार के लिए माहौल बनाने को कहते थे’: बैंक के पूर्व गवर्नर ने खोली...

आरबीआई के पूर्व गवर्नर पी सुब्बाराव का दावा है कि यूपीए सरकारों में वित्त मंत्री रहे प्रणब मुखर्जी और पी चिदंबरम रिजर्व बैंक पर दबाव डालते थे कि वो सरकार के पक्ष में माहौल बनाने वाले आँकड़ें जारी करे।

‘इलेक्टोरल बॉन्ड्स सफलता की कहानी, पता चलता है पैसे का हिसाब’: PM मोदी ने ANI को इंटरव्यू में कहा – हार का बहाना ढूँढने...

'एक राष्ट्र एक चुनाव' के प्रतिबद्धता जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने संसद में भी बोला है, हमने कमिटी भी बनाई हुई है, उसकी रिपोर्ट भी आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe