Wednesday, September 29, 2021
Homeदेश-समाजकानपुर: पनकी मंदिर के पास मिली सिर कटी लाश, शरीर पर कोई कपड़ा भी...

कानपुर: पनकी मंदिर के पास मिली सिर कटी लाश, शरीर पर कोई कपड़ा भी नहीं

माना जा रहा है कि हत्यारों ने पहचान छिपाने के लिए सिर काटकर अलग फेंक दिया। लाश करीब चार से पाँच दिन पुरानी बताई जा रही है जो पानी में रहने के कारण ख़राब हो चुकी है।

उत्तर प्रदेश के कानपुर से एक मंदिर के पास सिर कटी लाश मिलने की खबर आई है। जानकारी मिलने तक शव की शिनाख्त नहीं हो पाई थी। आशंका जताई जा रही है कि हत्या कहीं और करने के बाद लाश यहाँ लाकर फेंका दिया गया।

घटना कानपुर के पनकी थाना क्षेत्र अंतर्गत पनकी मंदिर के पास की है। कल्याणपुर नहर के पास एक युवक की सिर कटी लाश मिली। मृतक के शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था। माना जा रहा है कि हत्यारों ने पहचान छिपाने के लिए सिर काटकर अलग फेंक दिया। लाश करीब चार से पाँच दिन पुरानी बताई जा रही है जो पानी में रहने के कारण ख़राब हो चुकी है।

पुलिस ने बताया है कि लाश की शिनाख्त करने की कोशिश की जा रही है और साथ ही पंचायतनामा भरने के पश्चात लाश को पोस्टमार्टम करने के लिए भेजा जा रहा है।

इसके अलावा कानपुर के ही चकेरी थाना क्षेत्र के अंतर्गत अलीलापुरवा में भी एक सिर कटी लाश मिली है जिसकी शिनाख्त नहीं हो पाई है। चकेरी पुलिस के अनुसार कानपुर समेत आसपास के जिलों में गुमशुदा लोगों की जानकारी हासिल की जा रही है जिससे लाश की शिनाख्त की जा सके। लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उमर खालिद को मिली मुस्लिम होने की सजा’: कन्हैया के कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने पर छलका जेल में बंद ‘दंगाई’ के लिए कट्टरपंथियों का दर्द

उमर खालिद को पिछले साल 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था, वो भी उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में। उसपे ट्रंप दौरे के दौरान साजिश रचने का आरोप है

कॉन्ग्रेस आलाकमान ने नहीं स्वीकारा सिद्धू का इस्तीफा- सुल्ताना, परगट और ढींगरा के मंत्री पदों से दिए इस्तीफे से बैकफुट पर पार्टी: रिपोर्ट्स

सुल्ताना ने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता दिखाते हुए’ इस्तीफा दे रही हूँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,039FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe