Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजनाबालिग लड़की को भारत लाकर बेंगलुरू में वेश्यावृत्ति में धकेला: मो. मदीसा, किसलुमुल्ला, इमरान...

नाबालिग लड़की को भारत लाकर बेंगलुरू में वेश्यावृत्ति में धकेला: मो. मदीसा, किसलुमुल्ला, इमरान सहित 5 बांग्लादेशी घुसपैठिए गिरफ्तार

नाबालिग लड़की द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर सिद्धपुरा पुलिस ने बेंगलुरु में रहने वाले 5 बांग्लादेशी घुसपैठियों को गिरफ्तार किया है। उनके नाम मोहम्मद मदीसा, किसलुमुल्ला, इमरान मुल्ला, उनकी पत्नी सती और बाजिदा हैं।

बेंगलुरु के एक रिहायसी इलाके से एक 17 वर्षीय बांग्लादेशी लड़की को बचाया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक एक एनजीओ के सदस्यों को एक लड़की फुटपात पर सोती हुई मिली, जिसके पूरे शरीर पर चोट के निशान थे। एनजीओं के सदस्यों ने पहले तो लड़की को इलाके से सुरक्षित बाहर निकाला और चिल्ड्रन होम में भेज दिया। इसके बाद इसकी जानकारी पुलिस प्रशासन को दी गई।

बेंगलुरु मिरर की एक रिपोर्ट के अनुसार, नाबालिग लड़की ने बाद में खुलासा किया कि वह बांग्लादेश से है और उसे रोजगार देने के बहाने कुछ लोगों द्वारा भारत लाया गया था। इसके बाद पहले तो उसे कथित रूप से प्रताड़ित किया गया और उसे वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया गया। नाबालिग लड़की द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर सिद्धपुरा पुलिस ने बेंगलुरु में रहने वाले 5 बांग्लादेशी घुसपैठियों को गिरफ्तार किया है। उनके नाम मोहम्मद मदीसा, किसलुमुल्ला, इमरान मुल्ला, उनकी पत्नी सती और बाजिदा हैं।

दरअसल लड़की को बचाने वाले एनजीओ के सदस्यों ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि आरोपित पीड़ित नाबालिग लड़की को कुछ महीने पहले नौकरी दिलाने के बहाने बहला फुसला कर बेंगलुरू लाए थे। इसके बाद उसे कडुगोड़ी के एक घर में रखा गया, जहाँ पीड़िता को कथित रूप से प्रताड़ित किया गया और उसे वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया गया। एनजीओ के सदस्यों के मुताबिक पीड़िता ने बताया कि जब भी वह इसका विरोध करती थी तभी बांग्लादेशी नागरिकों द्वारा उसके साथ मारपीट की जाती थी।

इसके बाद नाबालिग लड़की किसी तरह से कडुगोड़ी स्थित घर से भागने में सफल रही और रिहायसी इलाके में पहुँच गई थी। एनजीओ द्वारा की गई शिकायत के बाद पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए पाँच बांग्लादेशियों को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही पुलिस ने आरोपितों के ख़िलाफ पॉक्सो, अपहरण, तस्करी और बलात्कार की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इसके साथ ही पुलिस ने पाँचों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -