Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजमुलायम सिंह पर गीत, डिंपल यादव के लिए प्रचार, अखिलेश-शिवपाल के साथ तस्वीर: भोजपुरी...

मुलायम सिंह पर गीत, डिंपल यादव के लिए प्रचार, अखिलेश-शिवपाल के साथ तस्वीर: भोजपुरी हिरोइन सुसाइड केस में गिरफ्तार समर सिंह यादव का सपा से क्या है कनेक्शन

समर सिंह यादव ने साल 2022 में आजमगढ़ सीट पर हुए लोकसभा उपचुनाव में अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के पक्ष में जमकर प्रचार भी किया था। भाजपा ने इस सीट पर भोजपुरी फिल्मों को गायक और अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ (Dinesh lal yadav Nirahua) को उतारा था। डिंपल यादव को फेवर में समर ने बैनर पोस्टर भी लगवाए थे।

वाराणसी के एक होटल से भोजपुरी एक्ट्रेस आकांक्षा दुबे का शव मिलने के मामले में मृतका के बॉयफ्रेंड समर सिंह यादव को पुलिस ने गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है। समर पर आकांक्षा का अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का आरोप है। अब तक यही माना जाता था कि अभिनेत्री ने आत्महत्या की है, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने आत्महत्या की थ्योरी पर सवाल खड़े किए हैं।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने गुरुवार की रात को गाजियाबाद के नंदग्राम थाना के राजनगर एक्सटेंशन स्थित चार्म्स क्रिस्टल सोसायटी में छिपा था। वह पुलिस से बचने के लिए उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में लगातार अपने ठिकाने से बदल रहा था। उत्तर पुलिस पिछले 10 दिनों से उसकी तलाश कर रही थी।

अश्लील वीडियो द्वारा ब्लैकमेल का आरोप

बता दें कि आकांक्षा की माँ मधु दुबे ने कहा था कि उनकी बेटी आत्महत्या नहीं कर सकती है। आकांक्षा की हत्या की गई है। इसके लिए उन्होंने समर और उसके भाई संजय को आरोपित किया था। बता दें कि 26 मार्च को वाराणसी के एक होटल में आकांक्षा का शव फाँसी पर लटका हुआ मिला था।

आकांक्षा का सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी मिला है, जिसमें वह अचानक फुट-फुटकर रोने लगती हैं। आकांक्षा की माँ की ने कहा था कि समर सिंह यादव उनकी बेटी को ब्लैकमेल करता था। दूसरे ऐक्टर के साथ काम नहीं करने देता था। इतना ही नहीं, वह आकांक्षा की कमाई के पैसे भी हड़प लेता था।

मधु दुबे ने कहा था कि समर ने उनकी बेटी आकांक्षा को झाँसे में ले लिया था। इसके बाद वह शादी के नाम पर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। इस दौरान उसने आपत्तिजनक वीडियो भी बना लिए थे। इस वीडियो के आधार पर वह उनकी बेटी को ब्लैकमेल करता था। उन्होंने समर पर आकांक्षा के साथ मारपीट का भी आरोप लगाया था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा

अब तक यही कहा जा रहा था कि होटल में लौटने से पहले आकांक्षा में बहुत अधिक शराब पी रखी थी और कमरे में पहुँचकर आत्महत्या कर लिया था। अब जो पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई है, उसमें कहा गया है कि आकांक्षा के शरीर में अल्कोहल की मात्रा नहीं थी। यानी उन्होंने शराब नहीं पी थी।

रिपोर्ट में सबसे महत्वपूर्ण बात यह सामने आई है कि आकांक्षा के पेट से संदिग्ध भूरा पदार्थ मिला है। उनकी कलाई पर भी चोट के निशान मिले हैं। इतना ही नहीं, पेट की श्लेष्मा झिल्ली भी क्षतिग्रस्त मिली है। इससे आत्महत्या की थ्योरी पर सवाल उठ रहे हैं।

मधु दुबे ने यह भी आरोप लगाया था कि समर यादव का समाजवादी पार्टी के नेताओं से संबंध हैं और सपा के नेता उसे संरक्षण दे रहे हैं। बता दें कि आकांक्षा दुबे भोजपुरी गायक समर सिंह यादव के साथ वाराणसी के टकटकपुर क्षेत्र में लिव-इन रिलेशन में रहती थीं। मौत से कुछ दिन पहले ही दोनों अलग हुए थे। समर का नाम आने के बाद से वह लापता हो गया था।

अखिलेश यादव के करीबी समर सिंह यादव

आजमगढ़ के मेहनगर इलाके के रहने वाले समर सिंह भोजपुरी गायक और अभिनेता है। उसे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का करीबी माना जाता है। अखिलेश यादव ने अगस्त 2021 में समर सिंह यादव को समाजवादी पार्टी में शामिल किया था। तब समर ने कहा था कि वह 2022 के यूपी विधानसभा में सपा को बहुमत में लाने का संकल्प लिया था।

समर यादव का सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ कई तस्वीरें हैं। इतना ही नहीं अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव के साथ भी समर की कई तस्वीरें हैं। समर ने चुनावों के दौरान सपा के लिए कई गाने भी लिखे और गाए थे। इनमें एक ‘सपा आई रे…’ खूब वायरल हुआ था।

पिछले साल अक्टूबर में उसने सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ‘श्रद्धांजलि श्रद्धेय नेता जी को’ नाम से एक श्रद्धांजलि गीत भी गाया था। इसमें उसने मुलायम सिंह यादव की जमकर तारीफ की थी।

समर सिंह यादव ने साल 2022 में आजमगढ़ सीट पर हुए लोकसभा उपचुनाव में अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के पक्ष में जमकर प्रचार भी किया था। भाजपा ने इस सीट पर भोजपुरी फिल्मों को गायक और अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ (Dinesh lal yadav Nirahua) को उतारा था। डिंपल यादव को फेवर में समर ने बैनर पोस्टर भी लगवाए थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -