Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाज'लाठीचार्ज में नहीं हुई भाजपा कार्यकर्ता की मौत, हमने सिर्फ हल्का बल प्रयोग किया...

‘लाठीचार्ज में नहीं हुई भाजपा कार्यकर्ता की मौत, हमने सिर्फ हल्का बल प्रयोग किया था’ : बिहार पुलिस का पक्ष, BJP ने कहा- ये हत्या

पुलिस का बयान आया कि बीजेपी लीडर की मौत लाठीचार्ज होने से नहीं हुई। पुलिस ने केवल हल्का बल प्रयोग किया था क्योंकि सामने से पत्थरबाजी होने लगी थी, पुलिस पर लाल मिर्ची फेंकी जाने लगी थी।

बिहार की राजधानी पटना में गाँधी मैदान से विधानसभा तक विरोध मार्च निकालने के दौरान कल राज्य पुलिस ने भाजपा नेताओं पर लाठीचार्ज किया था। इसके बाद खबर आई कि एक भाजपा नेता विजय कुमार सिंह की लाठी लगने से घायल होने के बाद मौत हो गई है।

खबर फैलते ही जगह-जगह इस मामले पर रिपोर्टिंग हुई और कुछ देर बाद पुलिस का बयान आया कि बीजेपी लीडर की मौत लाठीचार्ज होने से नहीं हुई। पुलिस ने केवल हल्का बल प्रयोग किया था क्योंकि सामने से पत्थरबाजी होने लगी थी, पुलिस पर लाल मिर्ची फेंकी जाने लगी थी।

इस बाबत एक सीसीटीवी फुटेज से निकालकर कुछ फोटोज को भी जारी किया गया है। वहीं भाजपा का अब भी आरोप है कि ये मृत्यु लाठीचार्ज के बाद हुई। भाजपा मंत्री ने इसे हत्या बताया है।

पटना के एएसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि उन्होंने इस मामले की जाँच के दौरान मृतक विजय सिंह के साथी भरत प्रसाद चंद्रवंशी के बयान के आधार पर इलाके के सीसीटीवी फुटेज की जाँच की। इससे यह सामने आया कि विजय सिंह दोपहर में 1: 22 पर गाँधी मैदान के जेपी गोलंबर से निबंधन कार्यालय छज्जूबाग की तरफ जा रहे हैं जो डाकबंगला रोड से अलग है। 1: 27 पर उसी रास्ते में उन्हें दुर्गा अपार्टमेंट के सामने खाली रिक्शा दिखता है और यहाँ से रिक्शा लेकर वो 5 मिनट दूरी पर स्थित तारा अस्पताल पहुँचते हैं।

एसएसपी के अनुसार, विजय सिंह के साथ जो भी हुआ वो इन्हीं 5 मिनटों में छज्जूबाग क्षेत्र में हुआ। वे डाकबंगला के पास नहीं थे। जहाँ दोपहर के लगभग एक बजे भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्के बल का प्रयोग हुआ। वहीं छज्जूबाग क्षेत्र में कोई पुलिस बल नहीं था। एसएसपी राजीव मिश्रा के अनुसार, स्पष्ट होता है कि विजय सिंह की मृत्यु लाठीचार्ज से नहीं हुई। उनके शरीर पर चोट के निशान भी नहीं थे। मौत का असली कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद आएगा।

बिहार में लाठी चार्ज, भाजपा का बयान

उल्लेखनीय है कि बिहार के पटना में शिक्षा अभ्यार्थियों का समर्थन करने लिए सरकार का विरोध करने उतरे भाजपाई नेताओं पर गुरुवार को लाठीचार्ज हुआ था। कई वीडियोज सामने आई थी जिसमें बीजेपी के एमपी तक पर डंडे बरसाते दिखाई दिए थे। सुशील मोदी ने ट्वीट करके बताया था कि बीजेपी लीडर की लाठीचार्ज में मौत हो गई। यही खबर मीडिया में भी चली। हालाँकि अब पुलिस का अलग बयान आया। उन्होंने कुछ सीसीटीवी तस्वीरें साझा की है और कहा है कि मौत का वास्तविक कारण पोस्टमार्टम के बाद में स्पष्ट होगा।

वहीं भारतीय जनता पार्टी से मंत्री नित्यानंद राय ने कहा, “कल बहुत ही दुखद घटना घटी है, ​जिसकी जितनी निंदा की जाए कम है। बिहार की राजधानी पटना की सड़कों पर प्रदेश के शिक्षक अभ्यर्थियों और किसानों के हक में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा शांति मार्च किया गया। भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज किया, जिसमें जहानाबाद जिले के भाजपा महामंत्री विजय कुमार सिंह की हत्या कर दी। भाजपा ने बिहार के किसानों, शिक्षकों, मजदूरों और महिलाओं के हक के लिए बड़ी आहूति दी है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -