Thursday, January 20, 2022
Homeदेश-समाज'धर्म के खिलाफ नफरत नहीं करेंगे बर्दाश्त': स्वरा भास्कर पर असम में FIR, तालिबानी...

‘धर्म के खिलाफ नफरत नहीं करेंगे बर्दाश्त’: स्वरा भास्कर पर असम में FIR, तालिबानी ‘प्रेम’ में ‘हिंदुत्व’ के लिए उगला था जहर

ये एफआईआर असम के हाथीगाँव थाने में हुई है। इस मामले पर हिंदू आईटी सेल के रिक्रूटमेंट हेड सांतनु साकिया द्वारा तहरीर दी गई थी। पुलिस ने केस को धारा 67 ए और 295 ए के तहत दर्ज किया है।

तालिबानियों के आतंक की तुलना ‘हिंदुत्व’ से किए जाने पर बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर के ख़िलाफ़ अब हिंदू आईटी सेल ने एफआईआर दर्ज करवाई है। ये एफआईआर असम के हाथीगाँव (Hatigaon) थाने में हुई है। इस मामले पर समूह के रिक्रूटमेंट हेड सांतनु साकिया (Santanu Sakia) द्वारा तहरीर दी गई थी।

असम में हुई एफआईआर की कॉपी

इस मामले में शिकायत मिलने के कुछ घंटे के बाद पुलिस ने एफआईआर कर ली। जानकारी के मुताबिक, स्वरा भास्कर के ख़िलाफ़ धारा 67 ए और 295 ए के तहत केस दर्ज हुआ है। असम के अलावा हिंदू आईटी सेल की ओर से इस मामले पर एक एफआईआर गुजरात में भी दर्ज हुई है।

गुजरात से हुई शिकायत

हिंदू आईटी सेल के सोशल मीडिया कॉर्डिनेटर अक्षित सिंह बताते हैं कि समूह कानूनी तरीके से धर्म के लिए काम करता है। अभी तक इस समूह ने तकरीबन 500 शिकायतें करवाई हैं और इनमें 24 में एफआईआर भी हुई है। इस प्लेटफॉर्म के फाउंडर विकास पांडे और रमेश सोलंकी हैं। स्वरा भास्कर मामले में हिंदू आईटी सेल का पक्ष साफ है कि वो अपने धर्म के विरुद्ध किसी भी प्रकार की नफरत को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबानियों के कब्जे के बाद स्वरा भास्कर ने अपने ट्वीट में लिखा था, “हम तालिबान के आतंक पर हैरानी और दुःख जताते हुए ‘हिंदुत्व आतंकवाद’ की तारीफ नहीं कर सकते। ऐसा भी नहीं हो सकता कि हम तालिबान के आतंक पर चुप बैठें और ‘हिंदुत्व आतंकवाद’ पर आक्रोश जताएँ। हमारे मानवीय व नैतिक मूल्य इस पर आधारित नहीं होने चाहिए कि अत्याचारी कौन है और पीड़ित कौन है।”

उल्लेखनीय है कि इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट में प्रैक्टिस करने वाले वकील आशुतोष दुबे ने भी स्वरा भास्कर के खिलाफ मुंबई पुलिस और पालघर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा था कि वह जल्द ही स्थानीय पुलिस स्टेशन में भी अभिनेत्री के खिलाफ शिकायत दर्ज कराएँगे। उनके ट्वीट पर पालघर पुलिस ने जवाब देते हुए मामले की जाँच करने और उचित कार्रवाई करने की बात कही थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

‘एक्सप्रेस प्रदेश’ बन रहा है यूपी, ग्रामीण इलाकों में भी 15000 Km सड़कें: CM योगी कुछ यूँ बदल रहे रोड इंफ्रास्ट्रक्चर

योगी सरकार ने ग्रामीण इलाकों में 5 वर्षों में 15,246 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया। उत्तर प्रदेश में जल्द ही अब 6 एक्सप्रेसवे हो जाएँगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,276FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe