Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजबकाया मजदूरी माँगने पर भड़क गया ठेकेदार मोहम्मद रफीक, एक दर्जन मजदूरों के घर...

बकाया मजदूरी माँगने पर भड़क गया ठेकेदार मोहम्मद रफीक, एक दर्जन मजदूरों के घर में लगा दी आग: जलने से बचे गंगाराम यादव की शिकायत पर गिरफ्तार

काफी समय बीत जाने पर मजदूरों ने रफीक से अपना तगादा शुरू किया। जब रफीक ने उनके पैसे नहीं दिए तो शनिवार (16 मार्च, 2024) को मजदूरों ने आगे से उसके साथ आगे काम न करने का सीधा जवाब दे दिया।

गुजरात के कच्छ जिले में दिहाड़ी मजदूरों की झोपड़ियों में आगजनी का मामला सामने आया है। प्रभावित 12 झोपड़ियों में हुई इस आगजनी का आरोप ठेकेदार मोहम्मद रफीक पर लगा है। आरोप है कि अपनी बकाया मजदूरी माँग रहे मजदूरों को रफीक उनके परिवार सहित जिन्दा जलाना चाहता था। पुलिस ने FIR दर्ज कर के रफीक को गिरफ्तार कर लिया है। घटना रविवार (17 मार्च 2024) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना कच्छ जिले के अंजार इलाके की है। यहाँ के खत्री चौक के पास मोची बाजार है जहाँ कई दिहाड़ी मजदूर झुग्गियों में अपने परिवार के साथ रहते हैं। इन सभी का ठेकेदार मोहम्मद रफीक है। रफीक पर आरोप है कि वो यहाँ से मजदूरों को ऊँचे दामों पर मजदूरी करवाने ले जाता था। हालाँकि वह मजदूरों को महज 100 रुपए प्रतिदिन का दिया करता था और बाकी पैसे अपने पास रख लेता था। इसके अलावा रफीक ने तमाम मजदूरों की लम्बे समय से मजदूरी भी बकाया कर दी थी।

काफी समय बीत जाने पर मजदूरों ने रफीक से अपना तगादा शुरू किया। जब रफीक ने उनके पैसे नहीं दिए तो शनिवार (16 मार्च, 2024) को मजदूरों ने आगे से उसके साथ आगे काम न करने का सीधा जवाब दे दिया। आरोप है कि मजदूरों की न सुन कर रफीक को बेहद गुस्सा आया था। उसने तब ही लेबरों को जिन्दा जलाने की धमकी दी थी। रविवार की सुबह अचानक मजदूरों की झुग्गियों में आग लग गई। कुछ ही देर में 12 झुग्गियाँ इस आग की चपेट में आ गई। घटना के समय अधिकतर मजदूर झोपड़ियों में सो रहे थे।

आग लगने से मोची बाजार में अफरातफरी मच गई। पुलिस के साथ फायर ब्रिगेड भी मौके पर पहुँची। काफी प्रयासों के बाद आग पर काबू पाया गया। गनीमत की बात यह रही कि इस अगिनकांड में किसी की जान नहीं गई। हालाँकि मजदूरों की गृहस्थी जल कर राख हो गई। आग बुझने के बाद गंगाराम यादव सहित कुछ अन्य पीड़ितों ने ठेकेदार रफीक के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी। शिकायत में बताया गया है कि मोहम्मद रफीक ने पहले मजदूरों की झोपड़ियों पर ज्वलनशील पदार्थ फेंका और बाद में आग लगा कर भाग गया।

इस आगजनी की वजह से आसपास से गुजर रहे बिजली के तारों में भी स्पार्किंग हो रही थी। आखिरकार पुलिस ने पीड़ित मजदूरों की शिकायत पर ठेकेदार रफीक पर FIR दर्ज कर ली है। यह FIR हत्या के प्रयास और आगजनी सहित अन्य धाराओं में हुई घटना के बाद रफीक फरार हो गया था। पुलिस ने दबिश दे कर उसे रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया। अंजार के पुलिस इंस्पेक्टर एसडी सिसौदिया ने मीडिया से बात करते हुए इस कार्रवाई की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि मामले में आगे की जाँच जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -