Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजदरगाह के पास से गुजर रहीं 2 गायों पर डाल दिया तेजाब, एक की...

दरगाह के पास से गुजर रहीं 2 गायों पर डाल दिया तेजाब, एक की हालत गंभीर: गुजरात पुलिस ने 5 मुस्लिम नाबालिगों को पकड़ा, फिर भेजा बाल सुधार गृह

गुजरात के वडोदरा में एक दरगाह के पास कुछ नाबालिग मुस्लिमों ने 2 गायों पर तेज़ाब डालकर उन्हें जला दिया। इस मामले में पाँच मुस्लिम नाबालिगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। कहा जा रहा है कि इन लड़कों ने यहाँ से गुजर रही गायों को पहले तो घेरकर परेशान किया और फिर उन पर तेजाब डाल दिया।

गुजरात के वडोदरा में एक दरगाह के पास कुछ नाबालिग मुस्लिमों ने 2 गायों पर तेज़ाब डालकर उन्हें जला दिया। इस मामले में पाँच मुस्लिम नाबालिगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। कहा जा रहा है कि इन लड़कों ने यहाँ से गुजर रही गायों को पहले तो घेरकर परेशान किया और फिर उन पर तेजाब डाल दिया।

जानकारी के अनुसार, यह घटना वडोदरा के गोरवा इलाके की है। यहाँ गोरवा बापू की दरगाह के पास मुस्लिम समुदाय के 5 नाबालिगों ने दो गाय को घेर लिया और उन पर हमला कर दिया। इसके बाद उन बेजुबान जानवरों पर तेजाब फेंक दिया। इनमें से एक गाय तो तेजाब के हमले से बच गई, लेकिन दूसरी गंभीर रूप से घायल हो गई है।

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि नाबालिग अपने साथ एसिड लेकर आए थे। जब पुलिस ने इनसे पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि यह तेज़ाब उन्होंने एक गाड़ी से निकाला और कुछ तेजाब जमीन में फेंकने के बाद गायों पर डाल दिया। यह घटना शुक्रवार (2 फरवरी 2024) की रात को लगभग 8:30 गोरव दरगाह इलाके में आईटीआई चौराहे के पास हुई।

जब गायों पर तेज़ाब फेंका गया तो वह डर कर इधर-उधर भागने लगीं। लोगों ने इन गायों को भागते हुए देखा तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। गायों पर हमले के बाद सुनील लिंबाचिया नाम के एक व्यक्ति ने पुलिस के पास इस मामले में शिकायत दर्ज करवाई है। उन्होंने पुलिस के पास जान से मारने और पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मामला दर्ज करवाया है।

उन्होंने हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुँचाने का मामला दर्ज कराया है। गोरवा पुलिस ने इस सम्बन्ध में जाँच शुरू कर दी है। पुलिस ने जानकारी इकट्ठा करके इन पाँच नाबालिगों को हिरासत में ले लिया और उनसे पूछताछ की। बाद में इन्हें बाल सुधार गृह भेज दिया गया। पुलिस इस बात की जाँच कर रही है कि इन नाबालिगों ने घटना को खुद ही अंजाम दिया या फिर उनके पीछे कोई और भी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -