Wednesday, June 26, 2024
Homeदेश-समाजबुरा फँसा 'टुकड़े-टुकड़े' गैंग का नया सरगना: AP क्राइम ब्रांच ने दर्ज किया केस,...

बुरा फँसा ‘टुकड़े-टुकड़े’ गैंग का नया सरगना: AP क्राइम ब्रांच ने दर्ज किया केस, खुद CM ने बताया

उत्तर-पूर्वी भारत को शेष भारत से अलग करने के ख्वाब देखने वाला शरजील अपने ही बयानों के कारण बुरा फँस गया है। असम, अलीगढ़ के बाद अब इटानगर की पुलिस...

शाहीन बाग़ में सीएए विरोध प्रदर्शन के नाम पर चले रहे उपद्रव के मुख्य साज़िशकर्ता शरजील इमाम के ख़िलाफ़ अरुणाचल प्रदेश पुलिस ने मामला दर्ज किया है। उत्तर-पूर्वी भारत को शेष भारत से अलग करने के ख्वाब देखने वाला शरजील अपने ही बयानों के कारण बुरा फँस गया है। उसने न सिर्फ़ सिलीगुड़ी कॉरिडोर (चिकेन्स नेक) को ठप्प करने के लिए लोगों को भड़काया था बल्कि पूरे देश में अराजकता का माहौल पैदा करने के लिए लोगों को उकसाया था। इसी क्रम में उसने जामिया, जेएनयू और शाहीन बाग़ से लेकर कोलकाता तक भड़काऊ बयान दिए थे।

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेमा खांडू ने बयान जारी कर बताया कि क्राइम ब्रांच ईटानगर ने शरजील के ख़िलाफ़ मामल दर्ज किया है। खांडू ने कहा कि इस तरह के भड़काऊ बयान देकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता और सम्प्रभुता को खंडित करने का कोई भी प्रयास बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इससे पहले असम के मंत्री हेमंत विश्व शर्मा ने बताया कि वहाँ भी शरजील के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है। साथ ही अलीगढ़ पुलिस में भी उसके ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई गई है।

उधर सोशल मीडिया पर कई इस्लामी कट्टरवादी शरजील के समर्थन में उतर आए हैं। वहीं शाहीन बाग़ का एक धड़ा उसे विरोध प्रदर्शन से अलग दिखाने में लगा है क्योंकि पूरे उपद्रव की पोल खुल गई है। शाहीन बाग़ में गणतंत्र दिवस के दिन जोर-शोर से तिरंगा झंडा फहराया गया और संविधान का पाठ किया गया। दाग धोने के लिए संविधान और राष्ट्रीय प्रतीकों का इस्तेमाल किया जा रहा है ताकि ऐसा लगे कि ये एक ‘आंदोलन’ है और ये देश के लिए किया जा रहा है।

शरजील इमाम ने महात्मा गाँधी को सबसे बड़ा फासिस्ट नेता बताया था क्योंकि वो ‘राम राज्य’ की बात करते थे। इमाम ने अपने बयानों में ‘अल्लाहु अकबर’ सहित अन्य इस्लामिक नारे की वकालत की थी और कहा था कि गैर-मुस्लिमों को ऐसे नारे लगा कर सबूत देना होगा कि वो मुस्लिमों के साथ हैं, तभी उन्हें अपने साथ खड़ा माना जाएगा।

मास्टरमाइंड शरजील के नंगे हो जाने के बाद शाहीन बाग वाले जोर-शोर से अपनी देशभक्ति जताने में जुटे

हज़ारों मुस्लिम युवा सड़क पर उतरेंगे: शरजील इमाम के समर्थन में कूदे इस्लामी कट्टरवादी

पुराना Pak परस्त है संविधान और ‘भारत’ से घृणा करने वाला शरजील इमाम, हिन्दुओं को निकालना चाहता है

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -