Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजपहली को जलाया, दूसरी को पीट कर भगाया, तीसरी की जीभ ही काट डाली:...

पहली को जलाया, दूसरी को पीट कर भगाया, तीसरी की जीभ ही काट डाली: मिलिए अयूब मंसूरी से

मंसूरी ने पुलिस को बताया कि जब उसे अपनी पत्नी की जीभ कटने का एहसास हुआ, तब वह काफ़ी घबरा गया और ख़ून बहते देख उसे भागने में भलाई दिखी। उसने बीवी को कमरे में बंद किया और फरार हो गया।

कुछ दिनों पहले चौंकाने वाली ख़बर आई थी कि गुजरात के अहमदाबाद में अयूब नाम के शख्स ने झगड़े के बाद अपनी पत्नी तसलीम से फ्रेंच किस माँगा। महिला को लगा कि सारे झगड़े भूल उसका शौहर समझौते के लिए तैयार है। लेकिन जैसे ही तसलीम ने अपनी जीभ बाहर निकाली, अयूब ने उसकी जीभ चाकू से काट दी। अब इस मामले में नया खुलासा हुआ है। पुलिस ने आरोपित अयूब को गिरफ़्तार कर लिया है। पूछताछ के दौरान उसने अजीबोगरीब बातें कही है।

अयूब ने पुलिस को बताया है कि 9 अक्टूबर को फ्रेंच किस करते समय बीवी और उसकी जीभ एक-दूसरे से चिपक गई थी और इसी वजह से उसे मजबूरन जीभ काटनी पड़ी। पुलिस को आशंका है कि वो बरगलाने के लिए ऐसा बोल रहा है। उसने बताया है कि वह बीवी से किस करने के दौरान काफ़ी उत्तेजित हो गया था और उत्तेजना के दौरान दोनों की जीभ एक-दूसरे से चिपक गई थी। बकौल आरोपित, जीभ अलग करने की कोशिश में उसकी पत्नी की जीभ कट गई।

अयूब मंसूरी ने पुलिस को बताया कि जब उसे अपनी पत्नी की जीभ कटने का एहसास हुआ, तब वह काफ़ी घबरा गया और ख़ून बहते देख उसे भागने में भलाई दिखी। उसने बीवी को कमरे में बंद किया और फरार हो गया। उधर पीड़िता तसलीम अभी तक कुछ बोल नहीं पा रही है। वह खाना भी नहीं खा पा रही है। वह अभी भी अस्पताल में भर्ती है। बता दें कि तसलीम आरोपित की तीसरी पत्नी है और अयूब उसका दूसरा पति है।

यह भी पता चला है कि अयूब ने अपनी पहली पत्नी को जला कर मार डाला था। वह अपनी तीसरी पत्नी तसलीम की भी आए दिन पिटाई करता था। उसने मुंबई की एक महिला से दूसरी शादी की थी। वह अपनी दूसरी पत्नी की अक्सर पिटाई करता था, जिसके कारण वह भाग निकली। अयूब को फ़िलहाल साबरमती जेल में रखा गया है। तसलीम का कहना है कि उसने किस के लिए जैसे ही अपनी जीभ बाहर निकाली, अयूब उसे काट कर फरार हो गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -