Wednesday, September 28, 2022
Homeदेश-समाजतेजी से अलीबाग की तरफ बढ़ रहा चक्रवाती तूफान निसर्ग: रायगढ़, ठाणे, मुंबई, पालघर...

तेजी से अलीबाग की तरफ बढ़ रहा चक्रवाती तूफान निसर्ग: रायगढ़, ठाणे, मुंबई, पालघर में भारी बारिश की संभावनाएँ

IMD मुंबई की वैज्ञानिक शुभांगी भूटे ने इस संबंध में चेतावनी देते हुए बताया है कि निसर्ग तूफान इस समय चक्रवाती तूफान बन गया है। इसके कारण हवा की रफ्तार 100-120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी। उनके अनुसार पूरे रायगढ़, ठाणे, मुंबई, पालघर में भारी बारिश की संभावनाएँ हैं।

चक्रवाती तूफान निसर्ग (Cyclone Nisarga) अब मुंबई से केवल 200 किलोमीटर दूर है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार चक्रवात ‘निसर्ग’ आज दोपहर से शाम तक में मुंबई से करीब 94 किमी की दूरी पर स्थित अलीबाग के पास टकराएगा।

जिसके कारण भारी तबाही की आशंका को देखते हुए मुंबई और गुजरात में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। बताया जा रहा है इस तूफान से पालघर और रायगढ़ स्थिति केमिकल और परमाणु संयत्र पर भी मुसीबत आ सकती है।

IMD मुंबई की वैज्ञानिक शुभांगी भूटे ने इस संबंध में चेतावनी देते हुए बताया है कि निसर्ग तूफान इस समय चक्रवाती तूफान बन गया है। इसके कारण हवा की रफ्तार 100-120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी। उनके अनुसार पूरे रायगढ़, ठाणे, मुंबई, पालघर में भारी बारिश की संभावनाएँ हैं।

वहीं, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी इस मामले पर कहा, निसर्ग तूफान एक गंभीर चक्रवात में तब्दील हो गया है। सुबह 5:30 बजे यह अलीबाग से 165 और मुंबई से 215 किलोमीटर दूर है। लोग अपने घरों में ही रहें। उन्होंने कहा कि मछुआरे समुद्र की ओर न जाएँ। 

6 घंटे में 13 किमी प्रति घंटे के साथ आगे बढ़ रहा निसर्ग

मौसम विभाग के ताजा अनुमान के मुताबिक निसर्ग पिछले 6 घंटों के दौरान 13 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तरी महाराष्ट्र तट की ओर बढ़ा। यह अलीबाग से 155 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और मुंबई से 200 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रीत है।

NDRF की टीमें तैनात

साइक्लोन निसर्ग (Cyclone Nisarg) की वजह से महाराष्ट्र में एनडीआरएफ की 20 टीमों को तैनात किया गया। मुंबई में आठ टीमें, रायगढ़ में 5 टीमें, पालघर में 2, ठाणे में 2, रत्नागिरी में 2 और सिंधुदुर्ग में 1 टीम को तैनात किया गया है।

वहीं महाराष्ट्र-गुजरात में कुल मिलाकर 33 टीमें तैनात हुई हैं। इधर, नौसेना के मुंबई स्थित पश्चिम कमान ने भी अपनी सभी टीमों को अलर्ट जारी कर दिया है। दोनों राज्यों से अब तक 40 हजार लोगों को सुरक्षित स्थान पहुँचाया गया है और बाकी तटीय इलाकों से लोगों को निकालने का काम भी जारी है।

साभार: ANI

महाराष्ट्र समेत गुजरात, केंद्र शासित प्रदेश दमन व दीयू और दादर नगर हवेली में लोगों की सुरक्षा की चाक चौबंद व्यवस्था की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को आश्वासन दिया है कि वह महाराष्ट्र, गुजरात, दमन दीव, दादरा और नगर हवेली को सभी तरह से सहायता करेंगे। 

105 से 110 KM प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएँ- महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि चक्रवात निसर्ग के बुधवार को दक्षिण गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र के तट से होकर गुजरने का अनुमान है। उस समय 105 से 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएँ चल सकती हैं।

दक्षिण गुजरात और तटीय महाराष्ट्र में इस दौरान अत्यधिक भारी बारिश का भी पूर्वानुमान है। वहीं, तेज हवाओं से सैकड़ों पेड़, बिजली के खंभों और दूरसंचार टावर उखड़ने की आशंका है।

अम्फान से थोड़ा कमजोर है निसर्ग चक्रवात

गौरतलब है कि इससे पहले मौसम विज्ञान विभाग ने कहा था कि अरब सागर के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र और गहरा हो गया है। चक्रवात निसर्ग के बुधवार को देर शाम तक उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात तटों तक पहुँचने का अनुमान है।

हालाँकि, अम्फान के मुकाबले निसर्ग थोड़ा कमजोर है, लेकिन आपदा प्रबंधन दल फिर भी इसके लिए भी कमर कस चुके हैं। NDRF के दल दोनों राज्यों में तटीय इलाकों से लोगों को निकालने का काम कर रहे हैं। वे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाने और जागरूक करने का काम कर रहे हैं।

निसर्ग के कारण हो सकती है 24 घंटों में भारी बारिश के आसार

बता दें, समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार मौसम विभाग ने कहा है कि अगले कुछ घंटों में मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में भी बारिश के आसार हैं। विभाग के अनुसार तटीय कर्नाटक और मराठावाड़ा में भी बारिश के अनुमान हैं। इसके अलावा अगले 24 घंटों में मुंबई समेत महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में भारी बारिश के आसार हैं। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPA के समय ही IB ने किया था आगाह, फिर भी PFI को बढ़ने दिया गया’: पूर्व मेजर जनरल का बड़ा खुलासा, कहा –...

PFI पर बैन का स्वागत करते हुए मेजर जनरल SP सिन्हा (रिटायर्ड) ने ऑपइंडिया को बताया कि ये संगठन भारतीय सेना के समांतर अपनी फ़ौज खड़ी कर रहा था।

‘सारे मुस्लिम युवकों को जेल में डाल दिया जाएगा, UAPA है काला कानून’: PFI बैन पर भड़के ओवैसी, लालू यादव और कॉन्ग्रेस MP

असदुद्दीन ओवैसी के लिए UAPA 'काला कानून' है। लालू यादव ने RSS को 'PFI सभी बदतर' कह दिया। कॉन्ग्रेसी कोडिकुन्नील सुरेश ने RSS को बैन करने की माँग की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe