Friday, March 5, 2021
Home देश-समाज 'हमारे बच्चे एससी महिला द्वारा तैयार भोजन कभी नहीं खाएँगे', दलित आंगनवाड़ी कर्मी का...

‘हमारे बच्चे एससी महिला द्वारा तैयार भोजन कभी नहीं खाएँगे’, दलित आंगनवाड़ी कर्मी का तबादला

इस मामले की जाँच पेरियार डीएसपी टी मथियालगन कर रहे हैं। अब तक 11 आरोपितों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है। पुलिस ने SC/ ST (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989, और IPC के तहत मामले दर्ज किए हैं।

तमिलनाडु से आई इस ख़बर से आज के समाज की विकृत मानसिकता का पता चलता है कि माँ-बाप अपने बच्चों को आख़िर क्या शिक्षा देंगे जब उन्हें किसी महिला द्वारा भोजन बनाना तो छोड़िए, उस जगह पर खड़े होने पर भी आपत्ति है। ज्योतिलक्ष्मी और अन्नलक्ष्मी नामक दो महिलाओं को उनके दलित समाज से आने के कारण, ग्रामीणों के विरोध के बाद उनका ट्रांसफर कर दिया गया।

द हिन्दू की एक ख़बर के अनुसार, 3 जून को, एम अन्नालक्ष्मी को मदुरै कलेक्टर के कार्यालय से एक आदेश (अप्वाइंटमेंट लेटर) मिला, जो उनके गाँव वालयापट्टी में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के रूप में उनकी नियुक्ति से संबंधित था। दरअसल, अन्नलक्ष्मी, एक अनुसूचित जाति (एससी) की महिला हैं, जिनकी नियुक्ति आंगनवाड़ी केंद्र में एक सहायक और रसोइया के रूप में हुई थी। अगले ही दिन ज़िला प्रशासन द्वारा अन्नलक्ष्मी का तबादला पास के गाँव किलवनरी में कर दिया गया। वहीं एक अन्य दलित महिला ज्योतिलक्ष्मी का तबादला मादीपनुर में कर दिया गया।

अन्नलक्ष्मी ने बताया, “गाँव के हिन्दू तिरुमंगलम तालुक के आईसीडीएस कार्यालय गए थे जहाँ उन्होंने कहा कि उनके बच्चे एससी महिला द्वारा तैयार भोजन कभी नहीं खाएँगे।” आज हम जिस युग में रह रहे हैं, वहाँ इस प्रकार का भेदभावपूर्ण व्यवहार गले नहीं उतरता। हद तो तब पार हो जाती है जब कोई मामला इतना संगीन हो जाए कि बात जान पर बन पड़े।

ख़बर के अनुसार, 8 जून को, दलित कॉलोनी में मानों कोई तूफ़ान आ गया हो। उनके इलाक़े में हिंसात्मक गतिविधियों को अंजाम दिया गया। जब दलित शिकायत दर्ज करने के लिए नागायापुरम थाने गए, तो कुछ हमलावरों ने उनके घरों में घुसकर बिजली मीटर के बक्से, दरवाज़े और वाहन तोड़ दिए। यहाँ तक कि उनके पशुओं पर हमला भी किया। इस झड़प में कुछ लोग गंभीर रूप से घायल भी हो गए।

इस घटना पर ज्योतिलक्ष्मी ने कहा, “कितने दु:ख की बात है कि मैं अपने ही गाँव में काम करने में असमर्थ हूँ।” ऐसे हिंसक माहौल को देखना किसी के लिए भी आसान नहीं होगा। ख़ासतौर पर तब, जब सज़ा किसी ऐसी ग़लती की मिले जो की ही न गई हो। फ़िलहाल स्थिति यह है कि दोनों महिलाएँ अब अकेले घर जाने तक से डरती हैं।

ज्योतिलक्ष्मी ने बताया कि उन्हें 4 जून को अपने गाँव की आंगनवाड़ी में न जाने के लिए कहा गया था। उन्होंने कहा, “मैं एक मेडिकल परीक्षा के बाद एक प्रमाण-पत्र जमा करने के लिए गई थी, जो काम शुरू करने के लिए तैयार किया गया था। लेकिन वहाँ के अधिकारी ने मुझे बताया कि मेरे गाँव के कई पुरुष और महिलाएँ हमारी नियुक्ति के विरोध में आए थे। उन्होंने स्पष्ट रूप से अधिकारी से कहा था कि वे दलितों द्वारा तैयार भोजन को कभी नहीं छूएँगे।”

दोनों महिलाओं के अनुसार, यह भेदभावपूर्ण रवैया उस वक़्त खुलकर सामने आया जब अप्रैल में दलितों को स्थानीय मुथलम्मन मंदिर उत्सव में पूजा करने की अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने कहा, “पुरुषों ने हमें मंदिर के बाहर तक नारियल तोड़ने की अनुमति नहीं दी।”

ज्योतिलक्ष्मी ने अपनी कड़ी मेहनत पर रोशनी डालते हुए बताया कि उन्होंने इस नौकरी के लिए 18 साल की उम्र से कोशिश की थी क्योंकि वो हमेशा से ही बच्चों को पढ़ाना चाहती थीं। वहीं, अन्नलक्ष्मी का कहना है कि इस तनाव के चलते उनका तबादला होना अत्यंत पीड़ादायक है।

इस मामले की जाँच पेरियार डीएसपी टी मथियालगन कर रहे हैं। अब तक 11 आरोपितों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा चुका है। पुलिस ने SC/ ST (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989, और IPC के तहत मामले दर्ज किए हैं।

इस मामले पर कलेक्टर (प्रभारी) एस शांता कुमार ने बताया कि उन्होंने अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ 11 जून को गाँव का दौरा किया। उन्होंने कहा, “कोई भी शख़्स अब अपने काम पर वापस जा सकता है और जहाँ तक ​​ज़िला प्रशासन का सवाल है, उसकी कार्रवाई अब बंद है।” फ़िलहाल, दोनों महिलाओं को अभी तक अपने उच्च अधिकारियों से वालयापट्टी में बहाली के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कल्याणकारी योजनाओं में आबादी के हिसाब से मुस्लिमों की हिस्सेदारी ज्यादा: CM योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश में आबादी के अनुपात में मुसलमानों की कल्याणकारी योजनाओं में अधिक हिस्सेदारी है। यह बात सीएम योगी आदित्यनाथ ने कही है।

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

‘हिंदू भगाओ, रोहिंग्या-बांग्लादेशी बसाओ पैटर्न का हिस्सा है मालवणी’: 5 साल पहले थे 108 हिंदू परिवार, आज बचे हैं 7

मुंबई बीजेपी के अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा ने महाराष्ट्र विधानसभा में मालवणी में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार का मसला उठाया है।

तापसी की चिंता में डूबे बॉयफ्रेंड भी आए IT जाँच के दायरे में, असली वजह फेर सकती है ‘गैंग’ के सपनों पर पानी

तापसी पन्नू के बॉयफ्रेंड बो के अनुराग कश्यप सहित कई बॉलीवुड हस्तियों के खिलाफ चल रही आयकर विभाग की कार्रवाई से बहुत गहरा संबंध है। एक और मामले से बो का जुड़ाव पता चला है जो उसके परेशानी का वास्तविक कारण है।

केरल गोल्ड तस्करी में CM विजयन और 3 कैबिनेट मंत्री डायरेक्ट शामिल: मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश ने किया खुलासा

केरल के सोना और डॉलर तस्करी मामले में मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश ने बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन खुद ही...

तापसी के बॉयफ्रेंड को PM मोदी के मंत्री ने समझाया देश का कानून, टैक्स मामले में ट्वीट कर बता रहा था परेशानी

“भूमि का कानून सर्वोच्च है और हमें उसका पालन करना चाहिए। यह विषय आपके और मेरे डोमेन से परे है। हमें भारतीय खेलों के सर्वोत्तम हित में अपने पेशेवर कर्तव्यों पर कायम रहना चाहिए।"

प्रचलित ख़बरें

तिरंगे पर थूका, कहा- पेशाब पीओ; PM मोदी के लिए भी आपत्तिजनक बात: भारतीयों पर हमले के Video आए सामने

तिरंगे के अपमान और भारतीयों को प्रताड़ित करने की इस घटना का मास्टरमाइंड खालिस्तानी MP जगमीत सिंह का साढू जोधवीर धालीवाल है।

16 महीने तक मौलवी ‘रोशन’ ने चेलों के साथ किया गैंगरेप: बेटे की कुर्बानी और 3 करोड़ के सोने से महिला का टूटा भ्रम

मौलवी पर आरोप है कि 16 माह तक इसने और इसके चेले ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया। उससे 45 लाख रुपए लूटे और उसके 10 साल के बेटे को...

‘मैं 25 की हूँ पर कभी सेक्स नहीं किया’: योग शिक्षिका से रेप की आरोपित LGBT एक्टिविस्ट ने खुद को बताया था असमर्थ

LGBT एक्टिविस्ट दिव्या दुरेजा पर हाल ही में एक योग शिक्षिका ने बलात्कार का आरोप लगाया है। दिव्या ने एक टेड टॉक के पेनिट्रेटिव सेक्स में असमर्थ बताया था।

अंदर शाहिद-बाहर असलम, दिल्ली दंगों के आरोपित हिंदुओं को तिहाड़ में ही मारने की थी साजिश

हिंदू आरोपितों को मर्करी (पारा) देकर मारने की साजिश रची गई थी। दिल्ली पुलिस ने साजिश का पर्दाफाश करते हुए दो को गिरफ्तार किया है।

‘जाकर मर, मौत की वीडियो भेज दियो’ – 70 मिनट की रिकॉर्डिंग, आत्महत्या से ठीक पहले आरिफ ने आयशा को ऐसे किया था मजबूर

अहमदाबाद पुलिस ने आयशा और आरिफ के बीच हुई बातचीत की कॉल रिकॉर्ड्स को एक्सेस किया। नदी में कूदने से पहले आरिफ से...

BBC के शो में PM नरेंद्र मोदी को माँ की गंदी गाली, अश्लील भाषा का प्रयोग: किसान आंदोलन पर हो रहा था ‘Big Debate’

दिल्ली में चल रहे 'किसान आंदोलन' को लेकर 'BBC एशियन नेटवर्क' के शो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी (माँ की गाली) की गई।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,951FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe