Thursday, September 29, 2022
Homeदेश-समाजआगरा: लॉकडाउन के बीच दुकान पर लगी भीड़ को हटाने गए दरोगा पर ईंट-पत्थरों...

आगरा: लॉकडाउन के बीच दुकान पर लगी भीड़ को हटाने गए दरोगा पर ईंट-पत्थरों से हमला, घायल

पुलिस पर पथराव की सूचना पर तत्काल पहुँची पुलिस फोर्स ने मौका पाकर भाग रहे दो युवकों को पकड़ लिया। इसके बाद घायल दरोगा को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ दरोगा के सिर में गंभीर चोट के चलते सिर में छ: टाँके आए हैं, जहाँ गंभीर रूप से घायल दरोगा का अभी इलाज जारी है।

देश में जारी लॉकडाउन के बीच सरकार की लाख कोशिशों के बाद भी कोरोना योद्धाओं पर हमले जारी हैं। इस बार पुलिस पर हमले का नया मामला उत्तर प्रदेश के
शहर आगरा से आया है, जहाँ लॉकडाउन के बीच एक दुकान पर लगी भीड़ को हटाने पहुँचे दरोगा पर पथराव हो गया, जिसमें दरोगा गंभीर रूप से घायल हो गए। हालाँकि, पुलिस ने मौके से तत्काल दो लोगों को हिरासत में ले लिया।

जानकारी के मुताबिक आगरा के एत्माद्दौला क्षेत्र के शाहदरा स्थित बघेल बस्ती में अजब सिंह के किराना स्टोर के बाहर लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन कर दर्जनभर लोगों की भीड़ लगी हुई थी। इस बीच इलाके में सिपाही रविंद्र के साथ गश्त कर रहे दरोगा विकास राणा ने हाथ में लिए डंडे का सहारा लेते हुए भीड़ को हटाने का प्रयास किया तो दुकानदार और उसके चार-पाँच भाई वहाँ मौजूद अन्य लोगों के साथ मिलकर पुलिसकर्मियों से उलझने लगे।

इसी बीच घरों से पथराव कर दिया गया, जिसमें एक पत्थर दरोगा विकास राणा की आँख के पास आकर लगा, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। इस दौरान और साथी सिपाहियों को वहाँ से भागकर अपनी जान बचानी पड़ी।

वहीं पुलिस पर पथराव की सूचना पर तत्काल पहुँची पुलिस फोर्स ने मौका पाकर भाग रहे दो युवकों को पकड़ लिया। इसके बाद घायल दरोगा को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ दरोगा के सिर में गंभीर चोट के चलते सिर में छ: टाँके आए हैं, जहाँ गंभीर रूप से घायल दरोगा का अभी इलाज जारी है।

सूचना पर पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुँचे इंस्पेक्टर यूबी मलिक ने बताया कि दरोगा पर हमला करने के आरोप में दो युवकों को हिरासत में लिया गया है। दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। कार्रवाई पूरी होते ही आरोपितों को जेल भेज दिया जाएगा। वहीं उन्होंने बताया कि पुलिस पर हमला करने का यह गंभीर मामला है। इस तरह की घटना फिर से न हो इसके लिए अब ऐसे इलाकों में पुलिस कर्मी टुकड़ी में गश्त करेंगे, जिससे कि कोई पुलिस पर हमला करने की हिम्मत न जुटा सके।

आपको बता दें कि एक सप्ताह पहले आगरा के भगवान टाकीज पर भी एक सिपाही पर हमला बोला गया था। सिपाही ने एक युवक को चेकिंग के दौरान रोका था। इस पर युवक ने चाकू से सिपाही पर हमला बोला था। इस पर पुलिस ने तत्काल युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। गौरतलब हो कि उत्तर प्रदेश में पुलिस पर हमला करने का यह कोई पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी अलीगढ़, मुरादाबाद आदि जगहों से भी पुलिस टीम पर हमला करने की खबरें आ चुकी हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कैसा है वह ‘साहेब कोना’ जहाँ पहली बार हिंदू बने ईसाई: 1906 में जहाँ से भागे थे पादरी, 2022 में हमें भागना पड़ा

छत्तीसगढ़ के खड़कोना में 1906 में पहली बार हिंदुओं का धर्मांतरण हुआ। उसके बाद जो सिलसिला शुरू हुआ, उसने जशपुर को ईसाई धर्मांतरण के बड़े केंद्र में बदल दिया।

‘गौमूत्र पियो, गोबर खाओ हरा@*$’: बर्मिंघम में ‘अल्लाह-हू-अकबर’ बोल हिंदू मंदिर पर टूटी कट्टरपंथियों की भीड़, PM मोदी को दी माँ की गाली; Videos...

ब्रिटेन के बर्मिंघम में हिंदू मंदिर पर इस्लामी भीड़ ने हमला किया। वहाँ हिंदुओं को तो गंदी गालियाँ दी ही गईं। साथ में पीएम मोदी की माँ को भी गाली बकते कट्टरपंथी सुनाई पड़े।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,129FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe