Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजअलीगढ़: लॉकडाउन का पालन कराने पहुँची पुलिस टीम पर हमला, भीड़ ने फेंके ईंट-पत्थर

अलीगढ़: लॉकडाउन का पालन कराने पहुँची पुलिस टीम पर हमला, भीड़ ने फेंके ईंट-पत्थर

इससे पहले दो अप्रैल को अलीगढ़ के रघुवीरपुरी इलाके की एक मस्जिद में लॉकडाउन के बीच सामूहिक नमाज की सूचना पर पहुँची पुलिस टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया था। छतों से की गई पत्थरबाजी में पुलिस को जान बचाकर भागना पड़ा था।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक बार फिर पुलिस पर हमला किया गया है। हमला तब हुआ जब पुलिस लॉकडाउन का पालन कराने सब्जी मंडी भुजपुरा पहुॅंची थी।

यह इलाका मुस्लिम बहुल है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार सब्जी मंडी के दुकानदारों ने पुलिस पर हमला बोल दिया। एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। घटना के बाद इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक भुजपुरा क्षेत्र में मौजूद सब्जी मंडी में बुधवार को लॉकडाउन के दौरान समय अवधि पूरी होने पर पुलिस की एक छोटी टीम दुकानें बंद कराने पहुँची थी। इसी बीच अचानक से दुकानदारों ने भीड़ के साथ मिलकर पुलिस टीम पर ईंट-पत्थरों से हमला कर दिया।

घटना की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ सीओ प्रथम तत्काल मौके पर पहुँचे। इसके बाद हालात पर काबू पाया गया। सीओ प्रथम विशाल पाण्डेय ने बताया कि अवधि पूर्ण होने के बाद सब्जी विक्रेता अपने घरों को जा रहे थे। इसी दौरान विक्रेताओं में आपस में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया।

जब लेपर्ड कर्मियों ने सब्जी विक्रेताओं के झगड़े में हस्तक्षेप किया तो मौके का फायदा उठाकर भीड़ ने हमला कर दिया। हालाँकि अब पुलिस आरोपितों की पहचान के साथ मामले की जाँच में जुट गई है। सीओ के मुताबिक जल्द ही सभी आरोपितों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

इससे पहले दो अप्रैल को अलीगढ़ के रघुवीरपुरी पुलिस चौकी इलाके की एक मस्जिद में लॉकडाउन के बीच सामूहिक नमाज की सूचना पर पहुँची पुलिस टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया था। छतों से की गई पत्थरबाजी में पुलिस को जान बचाकर भागना पड़ा था। बाद में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

दरअसल तीन दिन पहले पूरे अलीगढ़ जिले में कोरोना का एक भी मामला नहीं था, लेकिन सोमवार को जिले में कोरोना पॉजिटिव घोषित हुए उस्मानपाड़ा के 55 वर्षीय मरीज ने अचानक से दम तोड़ दिया। वहीं, मंगलवार को उसकी बेटी और बहनोई को रैपिड टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके बाद से ही जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जिले में एक बार फिर से सख्ती बढ़ा दी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद बिकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,696FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe