Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज'बाकी लोगों की गर्दन काटी... योगी को बम से उड़ाएँगे': UP के मुख्यमंत्री की...

‘बाकी लोगों की गर्दन काटी… योगी को बम से उड़ाएँगे’: UP के मुख्यमंत्री की हत्या करने की धमकी, कहा- 15 दिन में रिजल्ट दिखेगा

"तुझे कितनी बार समझाया पर तू नहीं मान रहा। तेरी जनहित याचिका से मुस्लिमों के पेट पर लात पड़ रही है। तेरे चलते तमाम बूचड़खाने बंद हो गए हैं। अब तू देख कि मैं तेरा क्या हाल करता हूँ। तू चालाकी से देवबंद से तो निकल गया। बाकी लोगों की तो गर्दन काटी है, लेकिन तुझे और योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाएँगे।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हत्या करने की धमकी दी गई है। इस संबंध में हिंदूवादी नेता देवेंद्र तिवारी को धमकी भरा पत्र मिला है। पत्र में तिवारी और योगी आदित्यनाथ को ‘औकात याद दिलाने’ और ‘बम से उड़ाने’ की बात की गई है। देवेंद्र तिवारी के मुताबिक धमकी भेजने वाले ने खुद को सलमान सिद्दीकी बताया है। 12 अगस्त 2022 (शुक्रवार) को यह पत्र उन्हें मिला। अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस मामले की जाँच कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक धमकी देने वाला अवैध बूचड़खानों के खिलाफ देवेंद्र तिवारी की PIL से नाराज है। उसने धमकी वाले पत्र में लिखा है, “तुझे कितनी बार समझाया पर तू नहीं मान रहा। तेरी जनहित याचिका से मुस्लिमों के पेट पर लात पड़ रही है। तेरे चलते तमाम बूचड़खाने बंद हो गए हैं। अब तू देख कि मैं तेरा क्या हाल करता हूँ। तू चालाकी से देवबंद से तो निकल गया। बाकी लोगों की तो गर्दन काटी है, लेकिन तुझे और योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाएँगे। अगले 15 दिनों में तुझे इसका रिजल्ट दिखेगा।”

भारतीय किसान मंच के अध्यक्ष देवेंद्र तिवारी ने आज तक को बताया, “मेरे घर के नीचे मेरे सुरक्षाकर्मी को एक बैग मिला। इसकी सूचना देने पर पुलिस मौके पर पहुँची। बैग को खोला गया तो एक चिट्ठी मिली। उस चिट्ठी में मुझे जल्द से जल्द गौ संरक्षण और जनहित याचिका का काम बंद कर देने की धमकी दी गई है। ऐसा न करने पर मुझे और योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की बात कही गई है।” तिवारी ने अवैध बूचडखानों के साल 2019 में PIL दायर की थी।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस महीने दी गई यह दूसरी धमकी है। इससे पहले 2 अगस्त 2022 को UP 112 मुख्यालय में व्हाट्सएप के जरिए उन्हें 3 दिन में बम से उड़ाने का मैसेज भेजा गया था। मैसेज भेजने वाले का नाम शाहिद खान बताया गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नारी शक्ति को मोदी सरकार ने समर्पित किए ₹3 लाख करोड़: नौकरी कर रहीं महिलाओं और उनके बच्चों के लिए भी रहने की सुविधा,...

बजट में महिलाओं की हिस्सेदारी कार्यबल में बढ़ाने पर काम किया गया है। इसके अलावा कामकाजी महिलाओं के लिए छात्रावास स्थापित करने का भी ऐलान हुआ।

25000 ग्रामीण बसावटों के लिए सड़क, कोसी-मेची के जुड़ने से किसानों को फायदा: बजट 2024 में इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए ₹1111111 करोड़, राज्यों को भी...

बजट 2024-25 में इंफ्रास्ट्रक्चर पर जोर है। इसके साथ ही पहाड़ी राज्यों में बादल फटने और लैंड स्लाइड से हुई हानि के लिए भी प्रावधान है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -