Thursday, August 18, 2022
Homeदेश-समाजसीवान से JDU सांसद और उनके पति को कत्ल की धमकी: अखलाक नाम के...

सीवान से JDU सांसद और उनके पति को कत्ल की धमकी: अखलाक नाम के व्यक्ति ने फोन कर कहा- ‘कमलेश तिवारी’ जैसा हाल करूँगा

अजय सिंह ने कहा, "हमारा जीवन जनता का जीवन है। विधाता ने जितना दिन लिखा है उतना दिन जीना है। विधाता की मर्जी के बिना मेरा कोई कुछ बिगाड़ नहीं सकता। हम डरने वाले नहीं हैं। इन धमकियों से हम अपने रास्ते को बदलने वाले नहीं है।"

बिहार के सीवान से जनता दल यूनाईटेड (JDU) की लोकसभा सांसद कविता सिंह को कमलेश तिवारी जैसा हाल करने की धमकी दी गई है। धमकी देने वाले ने उनके साथ उनके पति अजय सिंह की भी हत्या करने की भी बात कही है।

यह धमकी फोन पर दी गई है, जिसमें कॉल करने वाले ने अपना नाम अखलाक बताया है। बुधवार (20 जुलाई 2022) को मिली इस धमकी की शिकायत पुलिस में दर्ज करा दी गई है। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुतबिक, धमकी देने वाले ने इंटरनेट नंबर का प्रयोग किया था। JDU सांसद कविता सिंह फ़िलहाल दिल्ली में चल रहे संसद के मानसून सत्र में हिस्सा ले रही हैं। कविता सिंह के पति का अजय सिंह बिहार के बाहुबली नेताओं में गिने जाते हैं, जो युवा हिन्दू वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं।

अजय सिंह ने सीवान के पुलिस अधीक्षक को इस धमकी के बारे में जानकारी दी है। पुलिस की साइबर टीम उस अनजान नंबर को ट्रैस करने का प्रयास कर रही है और उसके सहारे आरोपित तक पहुँचने की कोशिश कर रही है।

अजय सिंह ने कहा, “सांसद जी (पत्नी) ने मुझे सतर्क रहने के लिया कहा है। मैं हमेशा ही सतर्क रहता हूँ। हमारा जीवन जनता का जीवन है। विधाता ने जितना दिन लिखा है उतना दिन जीना है। विधाता की मर्जी के बिना मेरा कोई कुछ बिगाड़ नहीं सकता। हम डरने वाले नहीं हैं। इन धमकियों से हम अपने रास्ते को बदलने वाले नहीं है।”

कविता सिंह के पति अजय सिंह ने वीडियो जारी कर के इस धमकी की जानकारी दी है। उन्होंने बताया, “शाम 5:04 बजे सांसद जी के फोन पर एक कॉल आया। कॉल करने वाले ने खुद को अख़लाक़ बताया और मेरा पता पूछा। उसने कहा कि वह सीवान से बोल रहा है। उसने कहा कि मेरा हाल कमलेश तिवारी जैसा होगा। फोन ।”

गौरतलब है कि अक्टूबर 2019 में भगवा वस्त्र में आए 2 हमलावरों ने कमलेश तिवारी की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी थी। कमलेश तिवारी के खिलाफ देश और दुनिया के कई हिस्सों में गुस्ताख़-ए-रसूल का ठप्पा लगा कर कत्ल के फतवे जारी किए गए थे।

विगत कुछ दिनों में नूपुर शर्मा का समर्थन करने के आरोप में देश के कई हिस्सों में लोगों को हत्या की जा चुकी है। वहीं, कई लोगों की हत्या की कोशिश हुई, जबकि कई लोगों को धमकियाँ मिल चुकी हैं। राजस्थान में उदयपुर के कन्हैयालाल की निर्मम हत्या ने देश को झकझोर कर दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बीएस येदियुरप्पा समेत 6 नए सदस्यों के साथ भाजपा संसदीय बोर्ड का गठन, गडकरी- शिवराज बाहर: 2024 की स्पष्ट रणनीति

बीजेपी के नए संसदीय बोर्ड का ऐलान हो चुका है। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बुधवार, 17 अगस्त 2022 की शाम को नए संसदीय बोर्ड का ऐलान किया।

1 नाव-3 AK 47, कारतूस और विस्फोटक भी: जैसे 26/11 के लिए समंदर से आए पाकिस्तानी आतंकी, वैसे ही इस बार महाराष्ट्र के तट...

डिप्टी सीएम ने जानकारी दी कि अभी तक किसी आतंकी एंगल की पुष्टि नहीं हुई है। केंद्रीय जाँच एजेंसियों को सूचित कर दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,081FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe