Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजदुकानदार ने पॉलीथिन में नहीं दिया सामान तो फैजान ने मुँह पर ईंट मारकर...

दुकानदार ने पॉलीथिन में नहीं दिया सामान तो फैजान ने मुँह पर ईंट मारकर किया लहूलुहान, मौत

जब खलील ने बेकरी में पॉलीथिन न होने की बात कही तो इस पर फैजान गाली गलौच करने लगा। कासिम ने कहा कि जब उन्होंने फैजान को पैसे वापस करते हुए जाने को कहा तो उसने गाली-गलौज शुरू कर दी।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के दयालपुर में प्रतिबंधित पॉलीथिन की थैली नहीं देने पर ग्राहक फैजान ने दुकान के कर्मचारी खलील अहमद पर ईंट से हमला कर दिया। जख्मी हालत में कर्मचारी खलील अहमद को जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ इलाज के दौरान रविवार (अक्टूबर 20, 2019) को उन्होंने अस्पताल में दम तोड़ दिया। पुलिस आरोपित फैजान के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जाँच कर रही है।

डीसीपी वेद प्रकाश सूर्य ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि फैजान फरार है। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि मृतक खलील अहमद परिवार के साथ दयालपुर के नेहरू विहार गली नंबर-5 में रहते थे। परिवार में पत्नी, बेटा कासिम समेत अन्य सदस्य हैं। उसी गली में खलील के एक रिश्तेदार की बेकरी की दुकान है। खलील अहमद अपने बेटे कासिम के साथ उस बेकरी की दुकान पर काम करते थे।

जिस समय ये घटना घटी, खलील का बेटा कासिम अपने पिता के साथ दुकान पर ही मौजूद था। कासिम ने बताया, “15 अक्टूबर की सुबह लगभग 10 बजे फैजान दुकान पर क्रिस्पी रस्क लेने के लिए आया। उसने उसे पॉॉलीथिन में पैक करने के लिए कहा, मगर पॉलीथिन बैन होने की वजह से हमारे बेकरी में पॉलीथिन नहीं था।”

खलील के परिवार के एक अन्य सदस्य ने बताया कि खलील और कासिम ने पॉलीथिन बैग की जगह कागज के बैग में रस्क को पैक करके दिया। उन्होंने कहा कि जब खलील ने बेकरी में पॉलीथिन न होने की बात कही तो इस पर फैजान गाली गलौच करने लगा। कासिम ने कहा कि जब उन्होंने फैजान को पैसे वापस करते हुए जाने को कहा तो उसने गाली-गलौज शुरू कर दी।

कासिम का कहना है कि फैजान ने दुकान की काउंटर पर रखे सारे रस्क फेंक दिए। वह गाली गलौच करते हुए दुकान के नीचे आया। इस दौरान कासिम और उसके पिता भी दुकान के बाहर आ गए। तभी फैजान ने उनका रास्ता रोका और वहाँ नीचे पड़ी ईंट उठाकर जोर से खलील के मुँह पर दे मारी। खलील लहूलुहान होकर जमीन पर गिर गए। पुलिस ने कहा कि एक राहगीर ने पीसीआर कॉल की और खलील को अस्पताल पहुँचाया। जहाँ रविवार को पीड़ित की मौत हो गई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -