Thursday, May 23, 2024
Homeदेश-समाज5 हिंदुओं (एक नाबालिग भी) को पकड़ ले गई दिल्ली पुलिस, शोभा यात्रा का...

5 हिंदुओं (एक नाबालिग भी) को पकड़ ले गई दिल्ली पुलिस, शोभा यात्रा का किया था आयोजन: जहाँगीरपुरी में जमीयत के दौरे के बाद कार्रवाई

घटनास्थल पर पहुँचे जमीयत के उलेमाओं ने कहा कि ऐसे आरोपितों को संगठन कानूनी मदद पहुँचाती आई है और FIR देखने के बाद इस मामले में भी यही किया जाएगा।

दिल्ली के जहाँगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव की शोभा यात्रा निकाल रहे हिन्दुओं पर शनिवार (16 अप्रैल, 2022) को मुस्लिम भीड़ द्वारा न सिर्फ पत्थरबाजी और गोलीबारी की गई, बल्कि इलाके में जम कर आगजनी और हिंसा भी मचाई गई। अब सामने आया है कि इस मामले में दिल्ली पुलिस ने 5 हिन्दुओं को गिरफ्तार कर लिया है, जिनकी इस शोभा यात्रा के आयोजन में मुख्य भूमिका थी। ये सभी एक ही परिवार से ताल्लुक रखते हैं।

पीड़ित परिवार की महिला ने बताया कि पुलिस उनके घर आई थी। महिला ने बताया कि उनके तीनों बेटों को दिल्ली पुलिस पकड़ कर ले गई है। इसके अलावा उक्त महिला के पति को भी पुलिस ले गई है, ऐसी उन्होंने जानकारी दी। गिरफ्तार किए गए महिला के तीनों बेटों में से एक नाबालिग भी है। पीड़ित महिला ने बताया कि उनके देवर (पति के छोटे भाई) को भी दिल्ली पुलिस पकड़ कर ले गई है। शोभा यात्रा में जिस रथ का इस्तेमाल किया गया था, उसे इसी परिवार ने बनवाया था।

रथ की ओर इशारा कर के महिला ने बताया कि ये काफी टूटे-फूटे हालत में वापस आया था। स्थानीय युवकों ने भी बताया कि उन्होंने रथ के लिए जितनी भी सजावट की थी, दंगे के बाद वो सारा बिखरा पड़ा हुआ था। पीड़ित महिला ने बताया कि उनके पति और बेटों ने घर वापस आकर बताया था कि मुस्लिम पत्थरबाजों के कारण अफरा-तफरी मच गई और हिंसा हुई। महिला के पति जहाँ एक प्लांट में काम कर के परिवार का गुजारा-भत्ता चलाते हैं, देवर कबाड़ी का काम करते हैं।

पीड़ित महिला का नाम दुर्गा सरकार है, वहीं उन्होंने अपने पति का नाम सुकेन सरकार बताया। पहला बेटा सूरज जहाँ 20 वर्ष का है, वहीं दूसरा बेटा 17-18 साल का है। महिला का तीसरा बेटा नाबालिग है, लेकिन फिर भी पुलिस उसे ले गई है। महिला ने अपने देवर का नाम सुकेश सरकार बताया है। गिरफ़्तारी की सूचना के सामने आने के बाद लोग आक्रोशित हैं और पूछ रहे हैं कि जब पीड़ित हिन्दू हैं, तो उन्हें ही क्यों गिरफ्तार किया जा रहा है?

एक और बात ध्यान देने लायक है कि इस कार्रवाई के कुछ ही देर पहले जमीयत-ए-उलेमा के प्रतिनिधिगण भी घटनास्थल पर पहुँचे थे। उन्होंने पूछा था कि सोशल मीडिया के माध्यम से कोई ऐसा कैसे साबित कर सकता है कि पहला पत्थर मुस्लिमों की तरफ से चला? मस्जिद से पत्थरबाजी के मसले पर जमीयत का कहना है कि मीडिया और लोग क्या कहते हैं, ये पुलिस जाँच के बाद बताएगी। संगठन ने कहा कि पत्थर और भगवा झंडे बाहर से लाए गए।

जमीयत ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने उन्हें निष्पक्ष कार्रवाई का आश्वासन दिया है। घटनास्थल पर पहुँचे उलेमाओं ने कहा कि ऐसे आरोपितों को संगठन कानूनी मदद पहुँचाती आई है और FIR देखने के बाद इस मामले में भी यही किया जाएगा। खुद को गरीबों की मदद करने वाला बताते हुए जमीयत के उलेमाओं ने असलम की गिरफ़्तारी पर कहा कि दिल्ली पुलिस ने अभी कुछ स्पष्ट नहीं कहा है। यानी, जहाँगीरपुरी के दंगाइयों को संगठन कानूनी मदद देगा।

ताज़ा अपडेट ये भी है कि पथराव और गोलीबारी का एक नया वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में आरोपित गोली चलाते हुए दिख रहा है। वहीं, दिल्ली पुलिस ने स्पष्ट किया है कि गोली चलाने वाले शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके पास से हथियार भी बरामद किया गया है। सामने आए वीडियो में दिख रहा है कि शोभा यात्रा निकाल रहे लोगों पर कुछ लोग पथराव कर रहे हैं। पथराव करने वालों में 10-12 के बच्चे से लेकर प्रौढ़ तक शामिल हैं। इसी दौरान एक 40-42 का आदमी आता है और पिस्तौल की नाली सामने करके गोली चला देता और तुरंत भाग जाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

‘टेबल पर लगा सिर, पैर पकड़कर नीचे घसीटा’: विभव कुमार ने CM केजरीवाल के घर में कैसे पीटा, स्वाति मालीवाल ने अब कैमरे पर...

स्वाति मालीवाल ने बताया कि जब उन्होंने विभव कुमार को धक्का देने की कोशिश की तो उन्होंने उनका पैर पकड़ लिया और नीचे घसीट दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -