Friday, August 12, 2022
Homeदेश-समाजदिल्ली की मस्जिद में तोड़-फोड़, भगवा झंडा लहराया: स्वघोषित पत्रकार राणा अयूब ने शेयर...

दिल्ली की मस्जिद में तोड़-फोड़, भगवा झंडा लहराया: स्वघोषित पत्रकार राणा अयूब ने शेयर किया वीडियो

सोशल मीडिया के जरिए सामने आ रहे ये वीडियो दिल्ली के अशोक नगर के बताए जा रहे हैं। वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ लोग मस्जिद के ऊपर चढ़कर मस्जिद के स्पीकर नीचे फेंक रहे हैं और उस पर कोई झंडा फहरा रहे हैं।

दिल्ली में नागरिकता कानून के विरोध में चल रही हिंसा और दंगों के बीच सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे वीडियो सामने आ रहे हैं, जिनमें मस्जिदों को जलाते हुए देखा जा सकता है। हालाँकि, यह वीडियो अभी मात्र सोशल मीडिया पर ही तेजी से शेयर किया जा रहा है। इस बात की कोई प्रमाणिकता नहीं है कि यहाँ घटना कहाँ की है और ऐसा करने वाले कौन लोग हैं? ट्विटर पर हिन्दू विरोधी अजेंडा चलाने के लिए मशहूर तथाकथित जर्नलिस्ट राणा अयूब द्वारा भी एक ऐसा ही वीडियो शेयर किया गया है।

अपने ट्वीट में प्रोपेगैंडा पत्रकार राणा ने लिखा है- “एक मस्जिद तोड़ दी गई है। लोग भगवा झंडे इस पर लहरा रहे हैं।” राणा अयूब के ही ट्वीट पर एक ट्विटर यूजर ने सवाल किया है कि क्या झंडा लहराने का मतलब ‘तोड़ना’ होता है?

सोशल मीडिया के जरिए सामने आ रहे ये वीडियो दिल्ली के अशोक नगर के बताए जा रहे हैं। वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ लोग मस्जिद के ऊपर चढ़कर मस्जिद के स्पीकर नीचे फेंक रहे हैं और उस पर कोई झंडा फहरा रहे हैं।

गौरतलब है कि CAA विरोध के नाम पर दिल्ली में रविवार शाम से ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे से ठीक पहले ही देश की राजधानी दिल्ली सहित ही गुजरात और अलीगढ में भी दंगे भड़काने की कोशिशें की गई हैं। इन दंगों में दिल्ली पुलिस के एक हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल को अपनी जान गँवानी पड़ी है और कई अन्य गोलीबारी और पत्थरबाजी में घायल हो गए हैं।

इससे कुछ समय पहले, चाँदनी चौक में मंदिर तोड़ा गया था। बंगाल में मस्जिद से एक भीड़ निकलती है और रेलवे स्टेशन से लेकर जो कुछ सामने आता है आग लगा देती है। सीलमपुर में पुलिस को मजहबी भीड़ ने दिसंबर में हमला बोल कर भागने पर मजबूर किया था। जामिया नगर में बसों को फूँका गया।

शाहीन बाग़ से हो रही परेशानी का कोई अंत नहीं। पटना के फुलवारी शरीफ में मंदिर पर पत्थरबाज़ी की घटना भी CAA की आड़ में हुई थी। ये सब होता रहा और मीडिया नैरेटिव से लगातार गायब किया गया। अलीगढ़ में ही परसों मुस्लिमों की एक भीड़ द्वारा पत्थरबाजी भी की गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मानसखण्ड मंदिर माला मिशन’ के जरिए प्राचीन मंदिरों को आपस में जोड़ेंगे CM धामी, माँ वाराही देवी मंदिर में पूजा-अर्चना कर बगवाल में हुए...

सीएम धामी ने कुमाऊँ के प्राचीन मंदिरों को भव्य बनाने और उन्हें आपस में जोड़ने के लिये मानसखण्ड मंदिर माला मिशन की शुरुआत की।

जैश के संदिग्ध आतंकी मोहम्मद नदीम को यूपी ATS ने किया गिरफ्तार, नूपुर शर्मा की हत्या का था प्लान, पाकिस्तान से जुड़े तार

यूपी के सहारनपुर से एटीएस ने जैश-ए-मोहम्मद और पाकिस्तान के संगठन तहरीक-ए-तालिबान से जुड़े संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,239FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe