Monday, May 20, 2024
Homeदेश-समाजजवाहरलाल नेहरू पोर्ट पर पकड़ाई ₹125 करोड़ की हेरोइन, मूँगफली के तेल में छिपा...

जवाहरलाल नेहरू पोर्ट पर पकड़ाई ₹125 करोड़ की हेरोइन, मूँगफली के तेल में छिपा कर हो रही थी तस्करी

DRI टीम को जवाहरलाल नेहरू पोर्ट पर हेरोइन की बड़ी खेप आने की गुप्त सूचना थी जिसके आधार पर टीम को पोर्ट पर पूरी सतर्कता और सावधानी से तैनात किया गया था।

मूँगफली के तेल की खेप में छिपा कर मुंबई लाई गई हेरोइन की बड़ी खेप को राजस्व ख़ुफ़िया निदेशालय (DRI) ने नवी मुंबई के जवाहरलाल नेहरू पोर्ट (JNPT) से बरामद किया है। इस सिलसिले में DRI ने नवी मुंबई से 62 वर्षीय व्यापारी जयेश संघवी को गिरफ्तार किया है। यह घटना 4 अक्टूबर 2021 (मंगलवार) की बताई जा रही है।

पकड़ी गई हेरोइन हेरोइन मुंबई के न्हावा शेवा पोर्ट पर एक कंटेनर में छिपा कर रखी गई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पकड़ी गई हेरोइन की अंतराष्ट्रीय बाज़ार में लगभग 125 करोड़ कीमत आँकी गई है। आरोपित जयेश यह तस्करी किसी और के व्यापारिक कोड पर कर रहा था।

मिली जानकारी के अनुसार DRI टीम को जवाहरलाल नेहरू पोर्ट पर हेरोइन की बड़ी खेप आने की गुप्त सूचना थी जिसके आधार पर टीम को पोर्ट पर पूरी सतर्कता और सावधानी से तैनात किया गया था। शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान की क्रूज़ यात्रा के दौरान ड्रग्स पार्टी पर हुई कार्रवाई बीच नशे के अवैध कारोबार पर यह एक बड़ा प्रहार माना जा रहा है।

इस मामले में आरोपित व्यापारी जयेश संघवी को स्वापक ओषधि और मनःप्रभावी पदार्थ अधिनियम, 1985 (NDPS Act 1985) की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत गिरफ्तार कर लिया गया था, जिसे विस्तृत पूछताछ के लिए न्यायालय ने 11 अक्टूबर तक DRI की हिरासत में भेज दिया है।

प्रकरण से संबंधित कंटेनर संदीप ठक्कर और वैभव द्वारा आयातित (Import) बताया जा रहा है जिनका कार्यालय मुंबई के मस्जिद बंदर इलाके में बताया जा रहा है। ठक्कर के अनुसार वह आरोपी जयेश के साथ लगभग 15 वर्ष से काम कर रहा था और जयेश ने ईरान से 10000 रुपए प्रति कंसाइनमेंट सामान लाने की बात कही थी। संदीप ठक्कर के अनुसार जयेश का कार्य उनके विश्वास को तोड़ने जैसा है।

इससे पहले जुलाई – 2021 में इसी जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह से राजस्व ख़ुफ़िया विभाग द्वारा ही दो हजार करोड़ रुपए की हेरोइन की खेप पकड़ी गई थी जो ईरान से ही लाई गई थी। हेरोइन की इस खेप को सड़क मार्ग से पंजाब भेजने की तैयारी थी जिसकी जाँच में DRI ने पंजाब के तरण तारण निवासी सप्लायर प्रभजीत सिंह को गिरफ्तार किया था। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -