Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाजसुशांत मामला: उद्धव सरकार के वकील बने कॉन्ग्रेसी नेता अभिषेक मनु सिंघवी, रिया चक्रवर्ती...

सुशांत मामला: उद्धव सरकार के वकील बने कॉन्ग्रेसी नेता अभिषेक मनु सिंघवी, रिया चक्रवर्ती के भाई से 18 घंटे पूछताछ

सुशांत सिंह राजपूत मामले में महाराष्ट्र सरकार सुप्रीम कोर्ट में CBI जाँच का विरोध कर रही है। सीनियर कॉन्ग्रेसी नेता और वकील अभिषेक मनु सिंघवी इस मामले में उद्धव ठाकरे की सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखेंगे।

रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती से प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूछताछ की है। शनिवार (अगस्त 8, 2020) को सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में आरोपित शौविक ED के समक्ष पेश हुए। इस मामले में सभी आरोपितों के बयान ‘Prevention Of Money Laundering Act’ के तहत दर्ज किए जा रहे हैं। इस मामले में रिया की पूर्व मैनेजर श्रुति मोदी से भी पूछताछ हुई है।

सोमवार को भी ED ने इस मामले में कई आरोपितों को समन किया है। सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने आरोप लगाया है कि कुछ ही समय में उनके बेटे के एकाउंट से 15 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए। CBI ने भी जाँच को अपने हाथ में ले लिया है और एजेंसी जल्द ही घटनास्थल का दौरा करेगी। सीबीआई इस मामले में आपराधिक षड्यंत्र, धोखाधड़ी और आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर जाँच कर रही है।

सीबीआई इस मामले में पटना पुलिस की एफआईआर के आधार पर जाँच कर रही है। केके सिंह का आरोप है कि आरोपित सुशांत के करीब आ गए और उन्हें झाँसे में लेकर उनकी ज़िंदगी में हस्तक्षेप करने लगे। साथ ही उन पर विश्वस्त कर्मचारियों को हटाने, घर बदलने और मानसिक रूप से बीमार होने का एहसास दिलाया गया। आरोप है कि उन्हें डेंगू होने की बात कह के ड्रग्स का ओवरडोज दे दिया। इसके अलावा भी कई आरोप हैं।

बताया गया है कि शौविक चक्रवर्ती से कुल 18 घण्टे तक ED की गहन पूछताछ चली। शुक्रवार को उनसे 2 घण्टे तक पूछताछ चली थी। उस दिन रिया से भी 9 घंटे पूछताछ हुई थी। बिहार पुलिस ने भी इससे जुड़े सारे दस्तावेज सीबीआई को सौंप दिए हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी पीड़ित परिवार से मुलाकात कर न्याय का आश्वासन दिया।

महाराष्ट्र सरकार सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई जाँच का विरोध कर रही है। सीनियर कॉन्ग्रेसी नेता और वकील अभिषेक मनु सिंघवी इस मामले में उद्धव ठाकरे की सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखेंगे।

उधर दिशा सलियान की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार, उसका शव निर्वस्त्र पाया गया था। जिसका मुंबई पुलिस ने अब तक खुलासा नहीं किया था। रिपब्लिक टीवी द्वारा एक्सेस की गई रिपोर्ट से पता चलता है कि दिशा सालियान के शरीर पर कपड़े नहीं थे, जब वह एक बिल्डिंग की 14 वीं मंजिल से गिरने के बाद मृत पाई गई थी।

पोस्टमॉर्टम रिपार्ट में सेक्स, स्पष्ट आयु, जाति या कास्ट के हेडिंग के तहत शरीर पर कपड़ों और गहनों का विवरण दिया जाता है। जहाँ दिशा की रिपोर्ट में कहा गया है, “महिला, 28 साल, नग्न शरीर।”

वहीं रिपोर्ट में कपड़ों की स्थिति का उल्लेख किया जाता है जैसे – शव पानी से गीला हो, खून से सना हो या उल्टी और मादक पदार्थ से सना हुआ हो। दिशा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के इस सेक्शन में ‘न्यूड (नग्न) शरीर कहा गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

‘दविंदर सिंह के विरुद्ध जाँच की जरूरत नहीं…मोदी सरकार क्या छिपा रही’: सोशल मीडिया में किए जा रहे दावों में कितनी सच्चाई

केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ कई कॉन्ग्रेसियों, पत्रकारों, बुद्धिजीवियों ने सोशल मीडिया पर दावा किया। लेकिन इनमें से किसी ने एक बार भी नहीं सोचा कि अनुच्छेद 311 क्या है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,620FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe