Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाज'पुलिस पर हमला' का मामला दर्ज: 'प्रीति रेड्डी' मामले के चारों आरोपित एनकाउंटर के...

‘पुलिस पर हमला’ का मामला दर्ज: ‘प्रीति रेड्डी’ मामले के चारों आरोपित एनकाउंटर के बाद भी कानून के शिकंजे में

"दो आरोपियों ने पुलिस के हथियार छीनकर हम पर गोलियाँ चलाई, बाकी के 2 आरोपितों ने पत्थर और डंडों से हमला किया। इसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।"

हैदराबाद के बाहरी इलाके शादनगर में पशु चिकित्सक ‘प्रीति रेड्डी’ (बदला हुआ नाम) के साथ गैंगरेप कर निर्मम हत्या करने वाले चारों आरोपितों के ख़िलाफ़ ‘पुलिस पर हमला’ करने का मामला दर्ज कर लिया गया है। बता दें कि गुरुवार (दिसंबर 5, 2019) की देर रात इस मामले के चारो आरोपित पुलिस द्वारा एनकाउंटर में मारे गए थे। 

ख़बर के अनुसार, आरोपितो के ख़िलाफ़ भारतीय दंड संहिता की धारा-307 (हत्या का प्रयास), 176 (सूचना या इत्तिला देने के लिए क़ानूनी तौर पर आबद्ध व्यक्ति द्वारा लोक सेवक को सूचना या इत्तिला देने का लोप) और भारतीय शस्त्र अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस टीम के प्रभारी द्वारा चार आरोपितों के साथ दायर एक शिक़ायत के आधार पर, शुक्रवार (6 दिसंबर) को FIR दर्ज की गई थी। इसके अलावा, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की टीम शनिवार को उस जगह का दौरा करेगी जहाँ यह एनकाउंटर हुआ था।

26 वर्षीय महिला पशु चिकित्सक के बलात्कार और हत्या के सभी चारों आरोपी शुक्रवार तड़के यहाँ चट्टनपल्ली में उस समय पुलिस की ‘जवाबी’ गोलीबारी में मारे गए जब उन्हें पीड़िता का फोन और मामले से जुड़े अन्य सामान बरामद करने के लिए घटनास्थल पर ले जाया गया था। साइबराबाद पुलिस ने बताया था कि दो आरोपियों ने उनके हथियार छीनकर उन पर गोलियाँ चलाई और बाकी के आरोपितों ने पत्थर और डंडों से हमला किया जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।

साइबरबाद के आयुक्त वीसी सज्जनर ने कहा, “वे गोलीबारी करते रहे। हमारे द्वारा आत्मसमर्पण करने के लिए कहने के बावजूद उन्होंने गोलीबारी और हमला करना जारी रखा।” पुलिस के मुताबिक, इस घटना में अरविंद गौड़ और वेंकटेश्वरुलु नाम के दो पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गए, इस बीच उनके सिर पर भी गंभीर चोटें लगी।

चार आरोपितों का पोस्टमार्टम महबूबनगर ज़िले के सरकारी ज़िला अस्पताल में किया गया और इसकी वीडियो ग्राफी भी की गई। 20 और 26 साल की आयु के बीच के चारों आरोपितों को महिला का बलात्कार करने, उनकी गला घोंटकर हत्या और बाद में उनके शव को जलाने के आरोप में 29 नवंबर को गिरफ़्तार किया गया।

हैदराबाद एनकाउंटर: आरिफ ने पुलिस से छीने थे हथियार, कर्नाटक में भी अपराधों को अंजाम दे चुके थे प्रीति रेड्डी के गुनहगार

‘मेरी बेटी की आत्मा को अब शांति मिलेगी’ – ‘प्रीति रेड्डी’ के पिताजी ने कही ‘दिल की बात’

मारे गए सभी आरोपित: पुलिस ने वहीं किया एनकाउंटर, जहाँ ‘प्रीति रेड्डी’ के साथ किया था जघन्य अपराध

डॉ. प्रीति रेड्डी का आखिरी फोन कॉल… पहचान हुई उस लॉरी की जहाँ मौत के बाद भी दरिंदों ने उन्हें नोचा था

…वो पेट्रोल पम्प वर्कर, जिसकी मदद से ‘प्रीति रेड्डी’ के बलात्कारी-हत्यारे तक पहुँच पाई पुलिस

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ममता बनर्जी महान महिला’ – CPI(M) के दिवंगत नेता की बेटी ने लिखा लेख, ‘शर्मिंदा’ पार्टी करेगी कार्रवाई

माकपा नेताओं ने कहा ​कि ममता बनर्जी पर अजंता बिस्वास का लेख छपने के बाद से वे लोग बेहद शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं।

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe