Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजजम्मू कश्मीर में पत्नी और बेटी सहित पूर्व SPO की हत्या: घर में घुस...

जम्मू कश्मीर में पत्नी और बेटी सहित पूर्व SPO की हत्या: घर में घुस आतंकियों ने मारी गोली, 15 दिन में तीसरी ऐसी घटना

जून 22, 2021 को परवेज अहमद डार नामक पुलिस इंस्पेक्टर की हत्या कर दी गई थी। जून 17, 2021 को राजधानी श्रीनगर में जावेद अहमद नामक पुलिसकर्मी को उनके घर में ही गोली मार दी गई थी।

जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने एक पूर्व ‘स्पेशल पुलिस अधिकारी (SPO)’ के घर पर हमला बोला और पत्नी और बेटी सहित उनकी हत्या कर दी। ये घटना पुलवामा जिले के अवंतीपोरा स्थित हरिपरिगाम गाँव में हुई है। आतंकी SPO फैयाज अहमद के घर में घुस गए और उनके व उनके परिजनों पर ताबड़तोड़ गोलियाँ चलाईं। इस हमले में उन्हें, उनकी पत्नी और बेटी गंभीर रूप से घायल हो गए। अस्पताल में इलाज के दौरान तीनों की मौत हो गई।

सुरक्षा एजेंसियों ने बताया है कि पूरे क्षेत्र को घेर कर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। ये घटना रविवार (जून 27, 2021) को हुई। ‘टाइम्स नाउ’ की खबर के अनुसार, उनकी बेटी की भी मौत हो चुकी है।

ये घटना तब सामने आई है, जब एक दिन पहले ही जम्मू के वायुसेना स्टेशन पर ड्रोन से दो विस्फोटक उपकरण गिराए गए। ये अपनी तरह का देश में पहला आतंकी हमला था। रविवार को रात 1:37 और फिर 1:42 में इन विस्फोटक उपकरणों को गिराया गया। पास में ही एक एयरक्राफ्ट हेंगर था, जो इस विस्फोट से बच गया लेकिन स्टेशन की छत को नुकसान पहुँचा। अभी ये भी साफ़ यहीं है कि इसे ड्रोन से गिराया गया या किसी अन्य एरियल प्लेटफॉर्म से।

ये वायुसेना स्टेशन पाकिस्तान की सीमा से मात्र 14-15 किलोमीटर की ही दूरी पर स्थित है। पाकिस्तान की तरफ से अब तक सबसे ज्यादा दूरी जिस ड्रोन ने तय की थी, वो 12 किलोमीटर भीतर तक पहुँचा था। आशंका है कि इस ड्रोन को भारतीय सरजमीं से ही नियंत्रित किया जा रहा था। धमाके की आवाज़ 1 किलोमीटर के रेडियस में सुनाई दी, जिससे लोग डर गए। IAF के एक वॉरंट ऑफिसर और एक लीडिंग एयरक्राफ्ट्समैन, दो अधिकारी घायल हुए

ये दोनों बम ब्लास्ट की आवाज़ सुन कर बाहर आए थे और उन्हें मामूली चोटें आईं। इससे कुछ घंटों पहले ही जम्मू कश्मीर पुलिस ने लश्कर-ए-तैय्यबा के एक आतंकी को जम्मू किलो IED के साथ गिरफ्तार किया। जम्मू के किसी भीड़भाड़ वाले इलाके में विस्फोट की साजिश थी। ये सब तब हो रहा है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ ही दिनों पहले जम्मू कश्मीर के कई नेताओं के साथ बैठक कर के उनकी बात सुनी।

हाल में जम्मू कश्मीर के पुलिस अधिकारियों पर हमले की ये पहली घटना नहीं है। जून 17, 2021 को राजधानी श्रीनगर में जावेद अहमद नामक पुलिसकर्मी को उनके घर में ही गोली मार दी गई थी। सैदपुरा में हुई इस घटना के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

वहीं जून 22, 2021 को परवेज अहमद डार नामक पुलिस इंस्पेक्टर की हत्या कर दी गई थी। वो श्रीनगर के मेनगांवजी नौगाम क्षेत्र में नमाज पढ़ने जा रहे थे, तभी उन्हें गोली मार दी गई। CCTV फुटेज से पता चला कि उनकी हत्या के लिए आतंकियों ने पिस्टल का इस्तेमाल किया था। वो अपने पीछे पत्नी के अलावा एक 13 साल की बेटी और 10 साल के बेटे को छोड़ गए। उस घटना के बाद भी क्षेत्र को घेर कर तलाशी अभियान चलाया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe