Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजनाबालिग लड़की को बहलाकर जीशान ले गया अपने साथ: पीड़ित पिता ने परेशान होकर...

नाबालिग लड़की को बहलाकर जीशान ले गया अपने साथ: पीड़ित पिता ने परेशान होकर किया आत्मदाह का प्रयास, बताया- मुस्लिम पक्ष बंदूक दिखाकर देता है धमकी

वीडियो में पीड़ित पिता को कहते सुना गया, "साहब मैं SSP और SHO को बार-बार मिल चुका हूँ। वो (विपक्षी) मुझे 10 लाख रुपए की धमकी देते हैं। उन्होंने 10 लाख रुपए में चौकी इंचार्ज को खरीद लिया है। वो कहते तुम्हारा कुछ नहीं हो सकता। तुम्हारी लड़की को नहीं बरामद कर सकते।"

अपडेट: नाबालिग के अपहरण और पिता द्वारा डीएम कार्यालय के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने के इस मामले में ताजा अपडेट के अनुसार मधुबन बापूधाम कोतवाल और सेक्टर 23 चौकी प्रभारी रंजीत कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है।

नाबालिग बेटी के मुस्लिम युवक द्वारा बहला फुसला कर ले जाने से आहत पिता ने गाजियाबाद DM ऑफिस पर 9 मई 2020 (सोमवार) को आत्मदाह करने का प्रयास किया। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसको पकड़ कर किसी अनहोनी को टाल दिया। पीड़ित पिता पुलिस पर भी संतोषजनक कार्रवाई न करने का आरोप लगाता सुनाई दिया। पुलिस पीड़ित पिता को पूछताछ के लिए थाने ले गई है। दर्ज FIR के मुताबिक पीड़ित की नाबालिग बेटी को ले जाने वाले आरोपित का नाम वहाब उर्फ़ जीशान है। पुलिस को शक है कि पीड़ित की बेटी घर से नाराज हो कर गई है और वहाब से पूछताछ में कोई ख़ास जानकारी हासिल नहीं हुई है। हालाँकि पुलिस ने अंतिम निष्कर्ष तक आने के लिए जाँच जारी होना बताया।

वीडियो में पीड़िता पिता को कहते सुना गया, “साहब मैं SSP और SHO को बार-बार मिल चुका हूँ। वो (विपक्षी) मुझे 10 लाख रुपए की धमकी देते हैं। उन्होंने 10 लाख रुपए में चौकी इंचार्ज को खरीद लिया है। वो कहते तुम्हारा कुछ नहीं हो सकता। तुम्हारी लड़की को नहीं बरामद कर सकते। मैंने अपने ऊपर पेट्रोल डाला है। मैं मरना चाहता हूँ। मेरी बहुत बेइज्जती हो चुकी है सर। मुस्लिम पक्ष के लोग आ कर धमकी दे कर जाते हैं। उन लोगों ने मेरे ऊपर पिस्टल भी तान दी थी।”

वही इस मामले में गाजियाबाद के एसएसपी IPS मुनिराज ने कहा, “मामला थाना बापूधाम का है। लगभग 20 दिन पहले लड़की अपने पापा से नाराज हो कर घर से निकली थी। उसके बाद पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस ने फ़ौरन ही FIR दर्ज करवा दिया। इसके बाद लड़की को बरामद करने के लिए SHO, DSP और चौकी प्रभारी की टीम गठित की गई। लड़की को बरामद करने के प्रयास जारी हैं। इस मामले में एक लड़के पर आरोप लगाया गया था जिस से पूछताछ के बाद उस से कोई ज्यादा इनपुट नहीं मिल पाए। लड़की के जाने के सभी संभावित स्थानों पर पुलिस तलाश कर रही है। सभी CCTV फुटेज भी तलाशे जा रहे हैं।”

IPS मुनिराज ने आगे बताया, “अभी हमने SP सिटी के नेतृत्व में फिर से टीम को निर्देश दिया है। वो अपनी पूरी टीम के साथ लगे हुए हैं। लड़की के पास मोबाईल नहीं है इसलिए हमें थोड़ी दिक्कत आ रही है। हम लड़की को जल्द से जल्द बरामद करने की दिशा में काम कर रहे हैं। लड़की के पिता जब भी आए तब हमने उनको समझाया और पुलिस टीम को निर्देश दिए। उन्होंने अपने ऊपर ज्वलशील पदार्थ क्यों डाला ये हम नहीं बता सकते।”

FIR Copy

नाबालिग बेटी को वहाब द्वारा बहला फुसला कर ले जाने की शिकायत पिता ने दर्ज करवाई है। पीड़ित पिता के मुताबिक, “मेरी बेटी 17 साल 4 माह की नाबालिग है। वो 18 अप्रैल 2022 से ही घर से लापता है। उस दिन वो स्कूल से घर नहीं आई। बेटी के इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर भेजे मैसेज और फोटो से मुझे पता चला है कि उसे वहाब उर्फ़ जीशान अपने साथ कहीं बहला फुसला कर ले गया है। मेरी बेटी को बरामद करते हुए वहाब पर कड़ी कार्रवाई करने की कृपा करें।” पुलिस ने यह मामला अपहरण की धाराओं 363 और 366 IPC में दर्ज किया है।

ऑपइंडिया से बात करते हुए पीड़ित पिता ने कहा, “अभी मुझे थाने के बाहर पूछताछ के लिए बिठाया गया है। मैं पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हूँ। मैं मजदूर हूँ और मजदूरी कर के ही अपने परिवार का पेट पालता हूँ। आज मेरे पेट्रोल छिड़कने के दौरान या उसके बाद पुलिस ने मेरे साथ कोई दुर्व्यहार नहीं किया है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -