Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजजनाजा उठने से पहले लगे 'मुख्तार अंसारी जिंदाबाद' के नारे, सिवान के गैंगस्टर शहाबुद्दीन...

जनाजा उठने से पहले लगे ‘मुख्तार अंसारी जिंदाबाद’ के नारे, सिवान के गैंगस्टर शहाबुद्दीन का बेटा ओसामा भी पहुँचा: इलाके में हाई अलर्ट, कब्रिस्तान में सिर्फ परिजनों को ही अनुमति

मुख्तार के शव को दफनाने से पहले वाराणसी रेंज के डीआईजी ओमप्रकाश सिंह, जिलाधिकारी आर्यका अखौरी और एसपी ओमवीर सिंह ने पुलिस बल के साथ कब्रिस्तान का मुआयना किया। मुख्तार अंसारी की कब्र उसके पिता सुभान उल्लाह अंसारी और अम्मी राबिया बेगम के कब्र के बगल में खोदी गई है, जहाँ उसे दफनाया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल का गैंगस्टर मुख्तार अंसारी की बांदा जेल में 28 मार्च 2024 को हार्ट अटैक से मौत हो गई। पोस्टमॉर्टम की प्रक्रिया पूरी होने के बाद मुख्तार के शव को उसके बेटे उमर अंसारी को सौंप दी गई है। आज शनिवार (30 मार्च 2024) को उसके अंतिम संस्कार की तैयारी हो रही है। उसके जनाजे में शामिल होने के लिए सैकड़ों लोग उसके आवास पर पहुँचे हैं। इसको देखते हुए प्रदेश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

गाजीपुर में मोहम्मदाबाद स्थित मुख्तार अंसारी के घर के बाहर बड़ी संख्या में लोग एकत्र हुए हैं। इस दौरान कुछ लोगों ने ‘मुख्तार अंसारी जिंदाबाद’ के नारे भी लगाए। भीड़ को देखते हुए प्रशासन चौकन्ना है। गाजीपुर और मऊ इलाके में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मुख्तार के घर के पास बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

मुख्तार के शव को दफनाने से पहले वाराणसी रेंज के डीआईजी ओमप्रकाश सिंह, जिलाधिकारी आर्यका अखौरी और एसपी ओमवीर सिंह ने पुलिस बल के साथ कालीबाग कब्रिस्तान का मुआयना किया। मुख्तार अंसारी की कब्र उसके पिता सुभान उल्लाह अंसारी और अम्मी राबिया बेगम के कब्र के बगल में खोदी गई है, जहाँ उसे दफनाया जाएगा।

बिहार स्थित सिवान के कुख्यात गैंगस्टर मोहम्मद शहाबुद्दीन का बेटा ओसामा भी मुख्तार अंसारी के जनाजे में शामिल होने के लिए मोहम्मदाबाद पहुँचा हुआ है। बता दें कि शहाबुद्दीन बिहार के राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से जुड़ा था और दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद था। कोविड संक्रमण के कारण साल 2021 में उसकी अस्पताल में मौत हो गई थी।

लगभग 17 साल तक जेल में बंद रहे मुख्तार अंसारी के जनाजे के दौरान कब्रिस्तान में परिवार के अलावा बाहरी लोगों के जाने पर रोक लगाई गई है। पुलिस प्रशासन ने निर्देश दिया है कि परिवार के अलावा कोई भी व्यक्ति कब्रिस्तान में नहीं जा सकेगा। इसको देखते हुए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

भीड़ के देखते हुए गाजीपुर में जगह-जगह बैरिकेडिंग की गई है। कई रास्तों को बंद कर दिया गया है और रूट को डायवर्ट कर दिया गया है। मोहम्मदाबाद में मुख्तार के घर के बाहर भी बैरिकेडिंग की गई है। कई रास्तों को बंद कर दिया गया है। बता दें कि जेल में बंद मुख्तार के बेटे अब्बास अंसारी को कोर्ट की छुट्टी होने के कारण जनाजे में आने की अनुमति नहीं मिल पाई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -