Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाज'इस्लामी आक्रांताओं के डर से मुस्लिम बने थे हमारे पूर्वज': बरेली में खुशबू बानो...

‘इस्लामी आक्रांताओं के डर से मुस्लिम बने थे हमारे पूर्वज’: बरेली में खुशबू बानो ने अपनाया हिन्दू धर्म… अगत्स्य मुनि आश्रम में विकास के साथ लिए 7 फेरे

ऑपइंडिया से बात करते हुए हिन्दू शेर सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास हिन्दू ने कहा कि अपनी मर्जी से घर वापसी करने वालों के लिए वो और उनका संगठन हमेशा तैयार रहेगा। साथ ही उन्होंने नए दम्पति को सुरक्षा दिलाने के लिए DGP उत्तर प्रदेश को पत्र लिखने का भी आश्वासन दिया है।

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में एक मुस्लिम महिला ने घर वापसी कर हिन्दू धर्म अपना लिया है। महिला का नाम खुशबू बानो था, जो अब खुशबू के नाम से जानी जाएगी। खुशबू ने विशाल नाम के युवक से शादी भी कर ली है। बुधवार (11 सितंबर 2023) को यह विवाह अगत्स्य मुनि आश्रम में वैदिक मंत्रोच्चार के बीच सम्पन्न हुआ। खुशबू के मुताबिक, उसके पूर्वज इस्लामी आक्रांताओं के अत्याचार से मुस्लिम बने थे। नए दम्पति ने अपनी ऑनर किलिंग की आशंका जताते हुए पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

अगत्स्य मुनि आश्रम के पुजारी केके शंखधर ने बताया कि 24 वर्षीया खुशबू बानो मूल रूप से उत्तर प्रदेश के भदोही जिले की रहने वाली है। उसके अब्बा का नाम मंसूर अली है। 6 अक्टूबर 2023 को खुशबू ने बरेली के जिलाधिकारी (DM) को घर वापसी का प्रार्थना पत्र दिया था। प्रार्थना पत्र में खुशबू ने खुद को बचपन से हिन्दू धर्म की अनुयायी बताया है। खुशबू के अनुसार इतिहास में उनके पूर्वज मुगलों के अत्याचारों की वजह से मुस्लिम बने थे। खुद को बालिग और भला-बुरा सोचने में सक्षम बताते हुए उसने कहा कि यह फैसला उसने बिना किसी दबाव के लिया है।

घर वापसी और शादी के बाद खुशबू ने 6 अक्टूबर को ही बरेली के भोजीपुरा थाने में अपनी और अपने पति विशाल की सुरक्षा की गुहार लगाई है। खुशबू ने बताया कि उसने अपने परिवार की मर्जी के खिलाफ विशाल से शादी की है। खुशबू ने अपने परिजनों से अपनी व अपने पति के ऑनर किलिंग की आशंका जताई है। इस प्रार्थना पत्र में खुशबू ने खुद के वैदिक धर्म में घर वापसी का भी जिक्र किया है। उसने कहा कि मुस्लिम धर्म में महिलाओं की इज्जत नहीं है।

खुशबू और विशाल लगभग 4 साल पहले सोशल मीडिया से एक दूसरे के सम्पर्क में आए थे। थोड़े समय की बातचीत के बाद दोनों में प्यार हो गया। दोनों छिपकर मिलने लगे। खुशबू के घर वालों को ये रिश्ता नागवार गुजरा तो उन्होंने उस पर तमाम बंदिशें लगानी शुरू कर दीं। इस बीच विशाल ने हिन्दू शेर सेना नाम के संगठन को सम्पर्क किया। हिन्दू शेर सेना ने इस प्रेमी जोड़ी का परिचय अगत्स्य मुनि आश्रम से करवाया। आखिरकार दोनों का विवाह बुधवार (11 सितंबर) को वेदमंत्रों के बीच वैदिक विधि-विधान से सम्पन्न हुआ।

ऑपइंडिया से बात करते हुए हिन्दू शेर सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास हिन्दू ने कहा कि अपनी मर्जी से घर वापसी करने वालों के लिए वो और उनका संगठन हमेशा तैयार रहेगा। साथ ही उन्होंने नए दम्पति को सुरक्षा दिलाने के लिए DGP उत्तर प्रदेश को पत्र लिखने का भी आश्वासन दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तेजस्वी यादव के बगल में खड़े इस राजा को देखिए, वहीं के व्यवसायी को सुपारी देकर मरवाया जहाँ से माँ थी RJD उम्मीदवार: हत्या...

बिहार के पूर्णिया में 2 जून, 2024 को हुई एक व्यवसायी गोपाल यादुका की हत्या की सुपारी राजद नेता बीमा भारती के बेटे राजा ने दी थी।

चुनाव ब्रिटेन का और वोट ‘कश्मीर की आजादी’ के नाम पर माँग रहा सत्ताधारी दल का सांसद, हिंदू-भारत घृणा से भरा है चुनावी अभियान

कंजर्वेटिव पार्टी के नेता मार्को लोंगी ने पहले तो बकरीद की शुभकामनाएँ दी, उसके बाद भारत विरोधी आग उगलना शुरू किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -