Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजजिस 'जन्नत की हूरों' के लिए मुर्तजा अब्बासी ने गोरखनाथ मंदिर पर किया हमला,...

जिस ‘जन्नत की हूरों’ के लिए मुर्तजा अब्बासी ने गोरखनाथ मंदिर पर किया हमला, वे होती कैसी हैं… मौलवी ने बताए थे बड़े-बड़े स्तन, शौच भी नहीं करती

केरल के एक मौलाना ने हूर की खूबसूरती को बयाँ करते हुए कहा था कि उनकी आँखें खूबसूरत और गुलाबी होंगी।

गोरखनाथ मंदिर पर हमला (Gorakhnath Temple Attack) करने वाले अहमद मुर्तजा अब्बासी ने पूछताछ के दौरान आतंकवाद-निरोधक दस्ते (ATS) को कई सवालों के ऐसे जवाब दिए, जिससे यह साफ लग रहा है कि वह मानसिक रूप से बीमार नहीं, बल्कि शातिर और कट्टरपंथी है। ATS ने जब मुर्तजा से शादी और तलाक के बारे में सवाल किया तो उसने कहा- “अल्लाह के घर में यानी कि जन्नत में बहुत सारी हूरें मिलेंगीं। वहाँ बीवी का क्या काम? अल्लाह के घर जाना है तो सबको छोड़ना होगा।”

कहा जाता है कि जन्नत में 72 हूरें मिलती हैं। कई मौलवी भी यह दवा कर चुके हैं। जन्नत में हूरें कैसी होती हैं इसकी भी मौलवी व्याख्या करते रहते हैं। केरल में मौलाना ईपी अबूबकर कासमी ने जन्नत में मिलने वाले फायदों को बताते हुए दावा किया था कि वहाँ ‘बड़े-बड़े स्तन वाली महिलाएँ’ मिलती हैं। वह पेशाब या शौच भी नहीं करती हैं। इसके अलावा उन्होंने यह भी दावा किया था कि जन्नत में शराब की नदियाँ बहती हैं, जिसे खुद अल्लाह ने ही बनाया है।

इसी तरह केरल के एक और मौलाना वायरल वीडियो में ‘मैली-कुचैली बीवियों’ के चक्कर में अल्लाह को भूल जाने और ‘सड़ी-गली लड़कियों’ के पीछे इश्क में पागल हो जाने की बातें कही थी। मौलाना ने हूर की खूबसूरती को बयाँ करते हुए कहा था कि उनकी आँखें खूबसूरत और गुलाबी होंगी। उसने कहा था कि मुस्लिम मर्द न सिर्फ हूर को चूम सकते हैं, बल्कि उनके साथ सो भी सकते हैं और एक-एक मर्द को 100-100 मर्दों की ताकत अल्लाह देंगे।

वहीं कुख्यात ‘ऑल इंडिया इमाम एसोसिएशन’ के अध्यक्ष मौलाना साजिद रशीदी ने एक इंटरव्यू के दौरान दावा किया कि मर्दों को 72 हूरें मिलना अय्याशी करना नहीं है। वहाँ कोई नापाक नहीं होता। हालाँकि जब उनसे महिलाओं को लेकर सवाल किया गया कि महिलाएँ भी इस्लाम के सारे नियम-कानून का पालन करती हैं, तो उन्हें वहाँ पर वही शौहर मिलता है, जबकि मर्दों को 72 हूरें, ऐसा क्यों? इसका जवाब मौलाना के पास नहीं था। उसने इससे कतराते हुए जवाब दिया कि जन्नत में मुस्लिमों के लिए चीजें रखने वाले अल्लाह से ये सवाल किया जाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि ज्यादातर नौजवानों को आतंकी बनाने के लिए जन्नत और 72 हूरों के सपने दिखाए जाते हैं। यह इस्लामिक कट्टरपंथियों का ब्रेनवॉश करने का बहुत पुराना तरीका है। मुर्तजा अब्बासी ने 3 अप्रैल 2022 को गोरखनाथ मंदिर पर हमला किया था। वह गमछे में धारदार हथियार छिपाकर लाया था। रोके जाने पर उसने पीएसी जवानों को घायल कर दिया था। वह अल्लाहु अकबर के नारे लगा रहा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम – कृष्णा मोहिनी, जगह – द्वारका, एजेंडा – प्राइड मार्च वाला: Colors के सीरियल में LGBTQIA+ प्रोपेगंडा के लिए बच्चे का इस्तेमाल, लड़का...

सीरियल में जब बच्चा पूछता है कि 'प्राइड मार्च' क्या होता है, तो एक शख्स समझाता है कि वो लड़की पैदा हुई थी लेकिन उसे लड़के जैसा रहना पसंद है तो उसने खुद को लड़का बना दिया।

पहले दोस्ती की, फिर फ्लैट में ले गई… MP अनवारुल अजीम की हत्या में शिलांती रहमान पकड़ी गई, कसाई से कटवाया फिर हल्दी लगाकर...

बांग्लादेशी सांसद की हत्या मामला में वो महिला हिरासत में ले ली गई है जिसने उन्हें हनीट्रैप में फँसाकर फ्लैट में बुलवाया था। महिला का नाम शिलांती रहमान है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -