Tuesday, June 18, 2024
Homeराजनीतिगोरखनाथ मंदिर पर हमला करने वाले अहमद मुर्तजा अब्बासी के बचाव में उतरे सपा...

गोरखनाथ मंदिर पर हमला करने वाले अहमद मुर्तजा अब्बासी के बचाव में उतरे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, कहा – मानसिक समस्या है

मुर्तजा को उसके अब्बा भले ही मानसिक रूप से अस्थिर बता रहे हैं, लेकिन उसका इलाज करने वाले डॉक्टर ने उनके इस दावे को नकार दिया है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने गोरखनाथ मंदिर पर हमला (Gorakhnath Temple Attack) करने वाले अहमद मुर्तजा अब्बासी को मनोरोगी बताते हुए उसका बचाव किया है। उन्होंने बुधवार (6 अप्रैल, 2022) को कहा, “उसके पिता ने बताया था कि उसे एक मानसिक समस्या है, इस तरह के बाइपोलर मुद्दे से निपटने के लिए, मुझे लगता है कि हमें उस पर भी (जाँच के लिए) ध्यान देने की जरूरत है। बीजेपी एक ऐसी पार्टी है, जो चीजों को बढ़ाचढ़ा कर पेश करती है।”

हालाँकि, अब तक जो भी तथ्य मीडिया में सामने आए हैं, उससे साफ पता चलता है कि उसके जिहादी लिंक रहे हैं। उसे अब तक भले ही सिरफिरा और सनकी बता कर उसका बचाव किया जा रहा हो, लेकिन पुलिस जाँच में पता चला है कि वो बहुत बड़ा शातिर है, जो आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए तैयार था। इसके सबूत उसके लैपटॉप और मोबाइल में मिले वीडियोज हैं। इन्हें दिखा कर ही उसका ब्रेनवॉश हुआ था। वो जाकिर नाइक से प्रभावित था और उसके लोन वुल्फ अटैक के हमले के वीडियोज देखा करता था। उसके मुंबई और नेपाल कनेक्शंस की जाँच की जा रही है। इसके साथ ही यह भी पता चला है कि घरेलू हिंसा की वजह से उसका अपनी पहली बीवी से तलाक हुआ था।

मुर्तजा का निकाह 2019 में जौनपुर की सलमा उर्फ शादमा के साथ हुआ था, लेकिन कुछ ही महीनों में तलाक हो गया। सलमा के पिता मुजफ्फरुल हक ने बताया है कि मुर्तजा केमिकल इंजीनियर है और निकाह के वक्त पूरी तरह ठीक था। मंदिर पर हमले को लेकर टिप्पणी करने से इनकार करते हुए उन्होंने बताया कि तलाक के बाद उससे उन लोगों का संपर्क नहीं है।

वहीं, मुर्तजा को उसके अब्बा भले ही मानसिक रूप से अस्थिर बता रहे हैं, लेकिन उसका इलाज करने वाले डॉक्टर ने उनके इस दावे को नकार दिया है। गोरखपुर जिला अस्पताल के अधीक्षक डॉ. जेएसपी सिंह ने बताया कि गिरफ्तारी के तुरंत बाद जब आरोपित को मेडिकल जाँच के लिए लाया गया तो वह ठीक से बातें कर रहा था। वह आराम से डॉक्टरों और पुलिस के सवालों का जवाब दे रहा था और उसने कोई हिंसक व्यवहार नहीं किया, जो कि डॉक्टरों को विश्वास दिलाता है कि वह मानसिक रूप से अस्थिर नहीं है।

पूर्व बीवी सलमा का भी कहना है कि मुर्तजा के साथ कोई मानसिक समस्या नहीं थी। रिपोर्ट्स के अनुसार, सलमा ने बताया है कि निकाह के बाद दोनों कुछ महीने ही साथ रहे थे। इस दौरान मुर्तजा कम ही बोलता था। वह अपना लैपटॉप और मोबाइल उसे नहीं छूने देता था। उसकी वैवाहिक जीवन में कोई रूचि नहीं थी और उसकी अम्मी उसे काफी प्रताड़ना दिया करती थी। आज तक की रिपोर्ट के मुताबिक मुर्तजा के घर की छानबीन के दौरान एटीएस को एयरगन मिली है। बताया जा रहा है कि वह पिछले कुछ समय से एयरगन से निशाने लगाने का अभ्यास कर रहा था। यह अभ्यास वह अपने घर की छत या खाली जगह पर करता था।

गौरतलब है कि मुर्तजा ने रविवार (3 अप्रैल 2022) को गोरखनाथ मंदिर पर हमला किया था। वह गमछे में धारदार हथियार छिपाकर लाया था। रोके जाने पर उसने पीएसी जवानों को घायल कर दिया था। वह अल्लाहु अकबर के नारे लगा रहा था। मिली जानकारी के अनुसार, मुर्तजा अब्बासी पहले से ही एटीएस के रडार पर था। बताया जा रहा है कि 2 अप्रैल को एटीएस के अधिकारी सादी वर्दी में उसके घर भी पहुँचे थे। जिसकी भनक लगते ही दूसरे दिन मुर्तजा ने लोन वुल्फ स्ट्रेटेजी के तहत अटैक कर दिया

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान से ज्यादा हुए भारत के एटम बम, अब चीन को भेद देने वाली मिसाइल पर फोकस: SIPRI की रिपोर्ट में खुलासा, ड्रैगन के...

वर्तमान में परमाणु शक्ति संपन्न देशों में भारत, चीन, पाकिस्तान के अलावा अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, उत्तर कोरिया और इजरायल भी आते हैं।

BJP की एक महिला नेता की हार के बाद 4 लोगों ने की आत्महत्या, पीड़ित परिवार से मिल खुद भी फूट-फूटकर रोईं: देखिए Video,...

बीजेपी नेता पंकजा मुंडे की लोकसभा चुनाव 2024 में नजदीकी हार से परेशान कम से कम 4 कार्यकर्ता अपनी जान दे चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -