Thursday, February 25, 2021
Home देश-समाज जब दुनिया उलझी हुई थी... तो भारत की तैयारी थी ऐसी: PM मोदी को...

जब दुनिया उलझी हुई थी… तो भारत की तैयारी थी ऐसी: PM मोदी को वर्ल्ड लीडर इसलिए कह रहे Thank You

जब भारत को अपने पहले 2 संक्रमित व्यक्ति के बारे में पता चला था, तभी केंद्र सरकार ने इसको लेकर आपातकाल की स्थिति घोषित कर दी थी। और जब 4 मार्च को 10 और लोगों के संक्रमित होने की बात पता चली तब तक भारत के पास एक बड़ा टास्कफोर्स इससे निपटने को तैयार हो चुका था।

चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस (Corona Virus – COVID-19) 122 देशों में पहुँच गया है। इसके संक्रमण से मरने वाले लोगों की संख्या 5000 को पार कर गई है और अब विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे महामारी घोषित कर दिया है।

चीन ने पूरे विश्व को यह संक्रमण दिया है या यूँ कहें कि चीन से पूरे विश्व में यह महामारी फैली। जहाँ अन्य देश इस संक्रमण से बहुत तेजी से बड़े स्तर पर प्रभावित हुए, वहीं भारत की कोरोना को लेकर तैयारियाँ अन्य देशों की तुलना में कहीं ज्यादा प्रभावी और कारगर रही हैं।

इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट बताती है कि करीब दो महीने पहले, जनवरी के महीने से ही जब पूरा विश्व कोरोना को लेकर इतना सक्रिय नहीं था, भारत सरकार ने उसी समय से आने वाले और भारत से चीन जाने वालों पर सख्त निगरानी रखनी शुरू कर दी थी। यह तब की बात है, जब चीन के आधिकारिक आँकड़ों के अनुसार करीब 41 लोग संक्रमित पाए गए थे और एक की मौत हो चुकी थी।

4 फरवरी को, जब भारत को अपने पहले 2 संक्रमित व्यक्ति के बारे में पता चला था, तभी केंद्र सरकार ने इसको लेकर आपातकाल की स्थिति घोषित कर दी थी। ये दोनों संक्रमित व्यक्ति वो थे, जिन्हें वुहान से लाया गया था। और जब 4 मार्च को 10 और लोगों के संक्रमित होने की बात पता चली तब तक भारत के पास एक बड़ा टास्कफोर्स इससे निपटने को तैयार हो चुका था – इससे संबंधित लैब की संख्या तीन गुना बढ़ा दी गई थी, आवश्यक दवाओं के निर्यात पर रोक लगा दी गई थी।

इसके अलावा भारत सरकार ने दिल्ली, मुंबई और कोलकाता एयरपोर्ट पास विशेष तौर पर थर्मल स्कैनर के द्वारा यात्रियों की जाँच की। ख़ास बात यह है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर सबसे ज्यादा उदासीनता यूरोप के देशों ने दिखाई और वर्तमान में इटली और ब्रिटेन जैसे देश इसकी चपेट में सबसे ज्यादा हैं। यहाँ तक कि ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री नदीन डॉरिस ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण के उनके टेस्ट का नतीजा पॉज़िटिव आया है।

इसके बाद पता चला है कि अब तक ब्रिटेन में कोरोना वायरस के कारण छह लोगों की मौत हो चुकी है और 373 मामलों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। कोरोना वायरस को लेकर लापरवाही का नतीजा ही है कि अभी तक कई दिग्गज नेता और अभिनेता भी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें हॉलीवुड अभिनेता टॉम हैंक्स और उनकी पत्नी भी शामिल हैं।

यही नहीं, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की पत्नी सोफी वायरस से संक्रमित पाई गई हैं। इसके अलावा स्पेन की मंत्री इरीन मोंटेरो, ईरान के उप स्वास्थ्य मंत्री इराज हरीर्शी, ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री नडाइन डोरिस और ऑस्ट्रेलिया के गृह मंत्री पीटर डटन भी संक्रमित हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से एक हफ्ते मिला ब्राजीलियन अधिकारी भी संक्रमित पाया गया है।

वहीं भारत सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर किसी भी प्रकार की ढील नहीं बरती और शुरुआत से ही निरंतर ट्रेवल एडवाइजरी से लेकर अभी तक संक्रमित पाए गए लोगों पर त्वरित चिकित्सीय देखरेख की। कोरोना वायरस प्रभावित देशों से आने वाले भारतीय नागरिकों की एयरपोर्ट और बंदरगाहों पर यूनिवर्सल स्क्रीनिंंग की जा रही है और उन्हें निगरानी में रखा जा रहा है। इसके अलावा सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पर्याप्त मात्रा में सामुदायिक निगरानी, आइशोलेशन, वार्ड, पर्याप्त पीपीई वगैरह की व्यवस्था की गई है। 

मालदीव, म्यांमार, बांग्लादेश, चीन, अमेरिका, मेडागास्कर, श्रीलंका, नेपाल, दक्षिण अफ्रीका और पेरू के 1031 व्यक्तियों को देश से निकाला गया है। भारत ने कोरोना वायरस से प्रभावित देशों से अपने नागरिकों को वापस लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। ईरान में फँसे भारतीयों को लाने के लिए वायुसेना की कई उड़ानें भरी गई। वहाँ पर वैज्ञानिकों को लैब इक्विपमेंट के साथ भेजा गया। वो वहाँ से टेस्टिंग के लिए 1199 सैंपल लेकर भारत आए। इसके साथ ही डॉक्टरों की एक टीम को पर्याप्त मेटेरियल के साथ रोम भेजा गया, ताकि वो वहाँ के भारतीयों का सैंपल ले सकें और फिर उसकी जाँच कर सकें।

बता दें कि अभी तक 30 एयरपोर्ट के 10,876 उड़ानों से 11,71,061 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई है। इसके अलावा सामुदायिक निगरानी के तहत 42,296 यात्रियों को भारत लाया गया है। 2,559 संक्रमित यात्रियों को आइशोलेशन वार्ड में रखा गया, जबकि 522 यात्रियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसमें 17 विदेशी नागरिक भी थे। लैंड पोर्ट पर 14 लाख से ज्यादा लोगों की स्क्रीनिंग की गई है।

इसके अलावा केंद्र सरकार ने बुधवार (मार्च 11, 2020) को कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के उपायों के तहत 15 अप्रैल तक सभी वीजा रद करने की घोषणा की। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, विदेशी राजनियकों, आधिकारिक, संयुक्त राष्ट्र, अंतरराष्ट्रीय संगठन और रोजगार परियोजनाओं को छोड़कर अन्य सभी वीजा 15 अप्रैल तक निलंबित रहेंगे।

कोरोना वायरस की चुनौती से निपटने के लिए हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। सरकारी स्तर पर जहाँ संदिग्धों की पहचान कर उन्हें आइसोलेशन में रखा जा रहा है वहीं बाहर से आने वाले लोगों पर भी कड़ी निगरानी रखी जा रही है। इसके लिए कई राज्यों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की पूरी टीम लगाई गई है। इसके लिए कोरेनटाइन बेड आरक्षित किए गए हैं।

दुनिया में अब तक 1,27,700 से ज़्यादा लोगों में COVID-19 के संक्रमण की पुष्टि हुई है। इटली में अब तक कोरोना वायरस के 10,149 मामले सामने आ चुके हैं और इस कारण 631 मौतें हो चुकी हैं। यदि अन्य देशों की तुलना में भारत के आँकड़ों को देखें तो भारत में अब तक कोरोना वायरस के 82 मामले सामने आए हैं। जिनमें से एक 76 साल के व्यक्ति और एक 68 साल की महिला की मौत हो चुकी है और 4 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। नए मामले केरल, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के हैं।

इसके साथ ही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (मार्च 13, 2020) को कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए एक अहम प्रस्‍ताव दिया। उन्‍होंने दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC) देशों से इस वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की अपील की। प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रस्‍ताव का SAARC के सदस्‍य देशों ने प्रशंसा किया और उन्‍हें धन्‍यवाद कहा।

भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदम अन्य विकसित देशों की तुलना में कहीं बेहतर नजर आ रहे हैं। हालाँकि कम से कम कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ऐसा नहीं मानते हैं। लेकिन उन्होंने साथ ही यह भी स्पष्ट किया था कि उन्हें इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है लेकिन वो इसे लेकर भारत सरकार का विरोध करना चाहते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

3 महीनों के भीतर लागू होगी सोशल, डिजिटल मीडिया और OTT की नियमावली: मोदी सरकार ने जारी की गाइडलाइन्स

आपत्तिजनक विषयवस्तु की शिकायत मिलने पर न्यायालय या सरकार जानकारी माँगती है तो वह भी अनिवार्य रूप से प्रदान करनी होगी। मिलने वाली शिकायत को 24 घंटे के भीतर दर्ज करना होगा और 15 दिन के अंदर निराकरण करना होगा।

भगोड़े नीरव मोदी भारत लाया जाएगा: लंदन कोर्ट ने दी प्रत्यर्पण को मंजूरी, जताया भारतीय न्यायपालिका पर विश्वास

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने नीरव की मानसिक सेहत को लेकर लगाई गई याचिका को ठुकरा दिया। साथ ही ये मानने से इंकार किया कि नीरव मोदी की मानसिक स्थिति और स्वास्थ्य प्रत्यर्पण के लिए फिट नहीं है।

LoC पर युद्धविराम समझौते के लिए भारत-पाक तैयार, दोनों देशों ने जारी किया संयुक्त बयान

दोनों देशों ने तय किया कि आज, यानी 24-45 फरवरी की रात से ही उन सभी पुराने समझौतों को फिर से अमल में लाया जाएगा, जो समय-समय पर दोनों देशों के बीच हुए हैं।

यहाँ के CM कॉन्ग्रेस आलाकमान के चप्पल उठा कर चलते थे.. पूरे भारत में लोग उन्हें नकार रहे हैं: पुडुचेरी में PM मोदी

PM मोदी ने कहा कि पहले एक महिला जब मुख्यमंत्री के बारे में शिकायत कर रही थी, पूरी दुनिया ने महिला की आवाज में उसका दर्द सुना लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री ने सच बताने की बजाए अपने ही नेता को गलत अनुवाद बताया।

‘लोकतंत्र सेनानी’ आज़म खान की पेंशन पर योगी सरकार ने लगाई रोक, 16 सालों से सरकारी पैसों पर कर रहे थे मौज

2005 में उत्तर प्रदेश की मुलायम सिंह यादव की सपा सरकार ने आजम खान को 'लोकतंत्र सेनानी' घोषित करते हुए उनके लिए पेंशन की व्यवस्था की थी।

RSS कार्यकर्ता नंदू की हत्या के लिए SDPI ने हिन्दूवादी संगठन को ही बताया जिम्मेदार: 8 गुंडे पुलिस हिरासत में, BJP ने किया बंद...

BJP ने RSS कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में अलप्पुझा जिले में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक ‘हड़ताल’ का आह्वान किया है। 8 SDPI कार्यकर्ता हिरासत में हैं।

प्रचलित ख़बरें

उन्नाव मर्डर केस: तीसरी लड़की को अस्पताल में आया होश, बताई वारदात से पहले की हकीकत

विनय ने लड़कियों को कीटनाशक पिलाकर बेहोश किया और बाद में वहाँ से चला गया। बेहोशी की हालत में लड़कियों के साथ किसी तरह के सेक्सुअल असॉल्ट की बात सामने नहीं आई है।

ई-कॉमर्स कंपनी के डिलीवरी बॉय ने 66 महिलाओं को बनाया शिकार: फीडबैक के नाम पर वीडियो कॉल, फिर ब्लैकमेल और रेप

उसने ज्यादातर गृहणियों को अपना शिकार बनाया। वो हथियार दिखा कर रुपए और गहने भी छीन लेता था। उसने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

कला में दक्ष, युद्ध में महान, वीर और वीरांगनाएँ भी: कौन थे सिनौली के वो लोग, वेदों पर आधारित था जिनका साम्राज्य

वो कौन से योद्धा थे तो आज से 5000 वर्ष पूर्व भी उन्नत किस्म के रथों से चलते थे। कला में दक्ष, युद्ध में महान। वीरांगनाएँ पुरुषों से कम नहीं। रीति-रिवाज वैदिक। आइए, रहस्य में गोते लगाएँ।

महिला ने ब्राह्मण व्यक्ति पर लगाया था रेप का झूठा आरोप: SC/ST एक्ट में 20 साल की सज़ा के बाद हाईकोर्ट ने बताया निर्दोष

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा, "पाँच महीने की गर्भवती महिला के साथ किसी भी तरह की ज़बरदस्ती की जाती है तो उसे चोट लगना स्वाभाविक है। लेकिन पीड़िता के शरीर पर इस तरह की कोई चोट मौजूद नहीं थी।”

UP: भीम सेना प्रमुख ने CM आदित्यनाथ, उन्नाव पुलिस के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत दर्ज की FIR

भीम सेना प्रमुख ने CM योगी आदित्यनाथ और उन्नाव पुलिस अधिकारियों पर गुरुग्राम में SC/ST एक्ट के तहत शिकायत दर्ज करवाई है।

लोगों को पिछले 10-15 सालों से थूक वाली रोटियाँ खिला रहा था नौशाद: पूरे गिरोह के सक्रीय होने का संदेह, जाँच में जुटी पुलिस

नौशाद के साथ शादी समारोह में लगे ठेकेदारों की जानकारी भी जुटाई जा रही है। वो शहर की कई मंडपों और शादियों में खाना बना चुका है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

291,994FansLike
81,859FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe