Thursday, September 23, 2021
Homeदेश-समाज32 साल की बेटी के अब्बू अख्तर ने मुकेश बनकर 22 वर्षीय हिंदू लड़की...

32 साल की बेटी के अब्बू अख्तर ने मुकेश बनकर 22 वर्षीय हिंदू लड़की को फँसाया: शादी के बाद अब इस्लाम कबूलने का बना रहा दबाव

मामले का खुलासा होने के बाद युवती ने उसका विरोध किया। इसके बाद से ही अख्तर ने उस पर धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपनाने, बुर्का पहनने और नमाज पढ़ने के लिए प्रताड़ित करने लगा। अख्तर उसके बेटे का भी धर्मान्तरण कराना चाहता था।

गुजरात के सूरत जिले में लव जिहाद का मामला सामने आया है, जिसमें 51 साल के शेख मोहम्मद अख्तर ने 22 साल की एक हिंदू लड़की से नाम बदलकर पहले दोस्ती की और फिर उससे शादी कर ली। बाद में उसे इस्लामिक रीति-रिवाजों के अनुसार बुर्का पहनने और नमाज पढ़ने के लिए दबाव बनाने लगा। जब लड़की ने ऐसा नहीं किया तो उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपित अख्तर युवती से एक कंपनी में मिला था। उसने हिंदू युवती को अपने जाल में फंसाने के लिए उसे मुकेश के नाम से अपना परिचय दिया था और युवती से झूठ बोला कि वह रेलवे में काम करता है। धीरे-धीरे दोनों करीब आते चले गए और वर्ष 2019 में दोनों ने हिंदू रीति-रिवाज से शादी कर ली। समय बीतने के साथ युवती को एक बच्चा भी हुआ। एक दिन अख्तर की हरकतों पर लड़की को शक हुआ तो उसने आरोपित की आईडी चेक की। इसके बाद उसकी असलियत का खुलासा हुआ।

मामले का खुलासा होने के बाद युवती ने उसका विरोध किया। इसके बाद से ही अख्तर ने उस पर धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपनाने, बुर्का पहनने और नमाज पढ़ने के लिए प्रताड़ित करने लगा। पीड़िता ने अपनी आपबीती में पुलिस को बताया है कि अख्तर उसके बेटे का भी धर्मान्तरण कराना चाहता है। पुलिस ने बताया कि आरोपित ने पीड़िता की रेलवे में नौकरी लगवाने के नाम पर उससे और उसके मायके वालों से 14 लाख रुपए भी ऐंठ लिए।

इस मामले में पीड़िता ने डिंडोली पुलिस थाने में संपर्क किया और अपनी आपबीती पुलिस को बताई। पुलिस ने पहले तो रिपोर्ट लिखने में आनाकानी की, लेकिन बाद में दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज करने के लिए तैयार हो गई। पीड़िता मामले को हाल ही में बने लव जिहाद कानून के तहत दर्ज करवाना चाहती थी, लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं किया।

इसके बाद पीड़िता ने हिंदू जागरण मंच से संपर्क किया। हिंदू जागरण मंच ने इस मामले में पुलिस के खिलाफ 28 घंटों तक प्रदर्शन किया। उसके बाद पुलिस ने मामले को लव जिहाद विरोधी कानून के तहत पंजीकृत किया।

पहले से है शादीशुदा आरोपित

रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपित अख्तर (51) का पहले ही निकाह हो चुका था और उसकी एक 32 साल की एक बेटी भी है। इतना ही नहीं उसकी बेटी की संतान भी है। वहीं, शहर के पुलिस कमिश्नर अजय तोमर इस केस की जाँच कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि मामले में पुलिस की भूमिका की भी जाँचने की जरूरत है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

गले पर V का निशान, चलता पंखा… महंत नरेंद्र गिरि के ‘सुसाइड’ पर कई सवाल, CBI जाँच को योगी सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की CBI जाँच कराने की सिफारिश की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe