Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजपढ़ाई हो गई पूरी, फिर भी हॉस्टल में कब्जा जमाकर बैठे थे: गुजरात यूनिवर्सिटी...

पढ़ाई हो गई पूरी, फिर भी हॉस्टल में कब्जा जमाकर बैठे थे: गुजरात यूनिवर्सिटी ने 7 अफगान छात्रों को निकाला, यहीं हुआ था नमाज पर विवाद

गुजरात के अहमदाबाद में स्थित गुजरात यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उन 7 पूर्व छात्रों को हॉस्टल से जाने के लिए कहा है, जो हॉस्टल में अवैध तरीके से जमे हुए थे। इनकी पढ़ाई पूरी हो चुकी है, लेकिन किसी न किसी बहाने से ये हॉस्टल में जमे थे। अब उन्हें हॉस्टल खाली करने के लिए कहा गया है।

गुजरात के अहमदाबाद में स्थित गुजरात यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उन 7 पूर्व छात्रों को हॉस्टल से जाने के लिए कहा है, जो हॉस्टल में अवैध तरीके से जमे हुए थे। इनकी पढ़ाई पूरी हो चुकी है, लेकिन किसी न किसी बहाने से ये हॉस्टल में जमे थे। अब उन्हें हॉस्टल खाली करने के लिए कहा गया है। ये वही यूनिवर्सिटी है, जहाँ नमाज को लेकर भारतीय और विदेशी छात्रों में लड़ाई हो गई है, इसके बाद सभी विदेशी छात्रों को दूसरे हॉस्टल में शिफ्ट कर दिया गया था।

गुजरात यूनिवर्सिटी ने एनआरआई हॉस्टल में हुए नमाज विवाद के बाद सख्त कदम उठाया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यूनिवर्सिटी ने 7 अफगानी छात्रों को निष्कासित कर दिया है। ये छात्र यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में अवैध रूप से रह रहे थे। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बावजूद वो बहाने से हॉस्टल में रह रहे थे। गुजरात यूनिवर्सिटी ने पूर्व छात्रों के लिए नोटिस जारी किया, उसमें से 5 ने हॉस्टल छोड़ भी दिया है।

इस समय गुजरात यूनिवर्सिटी में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में लगभग 100 से अधिक विदेशी छात्र पढ़ाई कर रहे हैं। इसमें अफगानिस्तान के 7 पूर्व छात्र हॉस्टल में पढ़ाई पूरी होने के बाद भी रुके थे। ऐसा करना नियमों के खिलाफ था, जिसके बाद यूनिवर्सिटी ने ये कदम उठाया। इसकी सूचना अफगानिस्तान के वाणिज्य दूतावास को भी दी गई थी।

गुजरात विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. निरजा गुप्ता के मुताबिक , अफगानिस्तान के 7 छात्र पूर्व छात्रों की श्रेणी में आए। वे किसी न किसी कारण से हॉस्टल में रह रहे थे। अब इन छात्रों को हॉस्टल में छात्र बनकर न रहकर अपने देश लौटने की व्यवस्था की गई है। कुलपति ने यह भी कहा है कि इन सात छात्रों में से 5 पहले ही कैंपस छोड़ चुके हैं, जबकि बाकी दो से भी नियमों का पालन करने की उम्मीद की जाती है।

परिसर में नमाज पढ़ने को लेकर हुआ था विवाद

बता दें कि 16 मार्च को यूनिवर्सिटी हॉस्टल के ए ब्लॉक में सार्वजनिक तौर पर नमाज पढ़ने को लेकर विदेशी छात्रों और स्थानीय छात्रों के बीच मारपीट हो गई थी। यहाँ विदेशी मुस्लिम छात्र सार्वजनिक रूप से नमाज पढ़ रहे थे तो एक स्थानीय हिंदू छात्र ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन एक विदेशी छात्र ने स्थानीय छात्र पर हमला कर दिया। इस घटना के बाद मामला बिगड़ गया और जवाब में स्थानीय छात्रों ने भी विदेशी छात्रों के साथ मारपीट की।

इस घटना के बाद विदेश मंत्रालय भी हरकत में आ गया था, तो अफगानिस्तान और गाम्बिया के प्रतिनिधिमंडल ने यूनिवर्सिटी का दौरा किया था। इस घटना के बाद विदेशी छात्रों को नए हॉस्टल में शिफ्ट कर दिया गया था और अब उनमें से 7 को यूनिवर्सिटी से जाने को कहा गया है, क्योंकि वो नियमों के खिलाफ यूनिवर्सिटी कैंपस में रह रहे थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -