Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजगुरुग्राम में जहाँ खुले में होती थी नमाज वहाँ हिंदुओं ने बैठकर खाई मूँगफली,...

गुरुग्राम में जहाँ खुले में होती थी नमाज वहाँ हिंदुओं ने बैठकर खाई मूँगफली, हिन्दू संगठनों ने कहा- यहाँ वॉलीबॉल कोर्ट बनाएँगे

"हम यहाँ चुपचाप बैठे हैं ... लेकिन नमाज की अनुमति नहीं देंगे। हम यहाँ एक खेल की योजना बनाएँगे।" वहीं एक अन्य ने कहा, "हम नेट लगाएँगे... यहाँ वॉलीबॉल कोर्ट बनाएँगे (और) बच्चे खेलेंगे। नमाज नहीं होने देंगे, चाहे कुछ भी हो।"

हरियाणा के गुरुग्राम सेक्टर-12ए में खुले में हर जुमे नमाज पढ़े जाने से रोकने के लिए हिंदू संगठनों ने नई तरकीब निकाली है। आज (नवंबर 12, 2021) सुबह से ही हिंदू संगठन के लोग नमाज़ पढ़ने वाली जगह पर बैठकर मूँगफली खा रहे हैं। 

बता दें कि पिछली बार शुक्रवार (5 नवंबर 2021) को उसी जगह पर गोवर्धन पूजा आयोजित की गई थी। इसमें बीजेपी नेता कपिल मिश्रा भी शामिल हुए थे। इस दौरान यहाँ पर गोबर के उपले लगाए गए थे, जिसे हिंदू संगठनों ने हटाने नहीं दिया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हिंदू संगठनों का कहना है कि किसी भी कीमत पर नमाज नहीं होने देंगे। हिन्दू संगठनों का ये भी कहना है कि वो यहाँ पर वॉलीबॉल कोर्ट बनाएँगे

वहाँ पर बैठे एक शख्स ने कहा, “हम यहाँ चुपचाप बैठे हैं … लेकिन नमाज की अनुमति नहीं देंगे। हम यहाँ एक खेल की योजना बनाएँगे।” वहीं एक अन्य ने कहा, “हम नेट लगाएँगे… यहाँ वॉलीबॉल कोर्ट बनाएँगे (और) बच्चे खेलेंगे। नमाज नहीं होने देंगे, चाहे कुछ भी हो।”

बता दें कि हाल ही गुरुग्राम प्रशासन ने 8 स्थानों पर नमाज पढ़ने की अनुमति को रद्द कर दिया था। गुरुग्राम के प्रशासन ने यह आदेश मंगलवार (2 नवंबर, 2021) को वापस लेने की घोषणा की। जनता के विरोध प्रदर्शन के बाद यह फैसला लिया गया। स्थानीय लोग और कई हिंदू संगठनों ने इसके विरुद्ध आवाज़ उठाई थी, क्योंकि आमजनों को इससे परेशानी हो रही थी और घंटों ट्रैफिक जाम भी लग रहा था। कई अन्य इलाकों में भी स्थानीय लोगों ने आपत्ति दर्ज कराई है। गुरुग्राम प्रशासन ने आश्वासन दिया है कि उन जगहों पर भी यही कार्रवाई होगी।

उल्लेखनीय है कि पुलिस ने कुल 37 जगहों पर नमाज़ पढ़ने की इजाज़त दी थी। इसके विरोध में हिंदू महिलाओं के साथ बड़ी संख्या में लोग लगातार पाँच सप्ताह तक भजन-कीर्तन और नारेबाजी करते हुए सड़क पर निकल आए थे। विरोध करने की कड़ी में गुरुग्राम के सेक्टर-12-ए इलाके में पहुँचे हिंदू संगठनों के प्रतिनिधियों को गुरुग्राम पुलिस ने हिरासत में भी लिया था। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe