Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजराजेश यादव बन अब्दुल मोमिन ने फँसाया, भगाकर ले गया मुंबई; जबरन कबूल करवाया...

राजेश यादव बन अब्दुल मोमिन ने फँसाया, भगाकर ले गया मुंबई; जबरन कबूल करवाया इस्लाम: 3 निकाह पहले ही कर चुका था

पीड़ित नाबालिग करीब 4 साल पहले 2018 में अपने घर से लापता हो गई थी। इस मामले में उसके परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले से लव जिहाद की घटना सामने आई है। यहाँ के मौदहा कस्बे की रहने वाली युवती को करीब 4 साल पहले राजेश यादव बनकर अब्दुल मोबिन ने अपने जाल में फँसाया। फिर उसे अपने साथ भगा ले गया। बाद में जबरन धर्मान्तरण करवाकर उससे निकाह किया। मामले में पीड़िता की शिकायत पर आरोपित के खिलाफ धर्मान्तरण कानून समेत अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

घटना का खुलासा मंगलवार (23 नवंबर 2021) को उस वक्त हुआ जब बजरंग दल के नेता आशीष सिंह के साथ पीड़िता के परिजन जिले के पुलिस अधीक्षक के पास शिकायत लेकर पहुँचे। मामले की गंभीरता को देखते हुए जाँच के आदेश दिए गए हैं। पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता ने बताया है कि आरोपित ने 4 साल पहले फोन के जरिए उससे दोस्ती की थी। उस दौरान उसने खुद को राजेश यादव बताया। लड़की को लगा कि वो भी हिंदू ही है और इसी झाँसे में आकर वो आरोपित के साथ रिश्ते में आगे बढ़ती गई।

आरोपित को जब लगा कि लड़की उसके जाल में फँस गई है तो उसे शादी का झाँसा देकर घर से भगा ले गया। पहले उसे बलरामपुर ले गया। फिर मुंबई लेकर गया जहाँ युवती से जबरन इस्लाम कबूल करवाकर निकाह किया गया। निकाह के बाद युवती का नाम बदलकर आयशा मोबिन कर दिया गया। वह उसके साथ मारपीट भी करता था। समय बीता और आरोपित से युवती को एक बच्चा भी हुआ। फिर एक दिन अचानक उसे पता चला कि अब्दुल मोबिन पहले से शादीशुदा है। वह पहले भी तीन लड़कियों से भी निकाह कर चुका था।

बाद में किसी तरह से उसके चंगुल से बचकर भागी पीड़िता अपने मायके पहुँची। एसपी के आदेश पर मोदहा पुलिस स्टेशन में आरोपित के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 376, 461 और पॉक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़ित नाबालिग करीब 4 साल पहले 2018 में अपने घर से लापता हो गई थी। इस मामले में उसके परिजनों ने गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस उसे तलाश नहीं कर पाई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -