Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजभिंड के RSS ऑफिस में पिन लगा हैंड ग्रेनेड मिलने से हड़कंप, बॉल समझकर...

भिंड के RSS ऑफिस में पिन लगा हैंड ग्रेनेड मिलने से हड़कंप, बॉल समझकर परिसर में खेल रहे थे बच्चे: बम निरोधक दस्ता ले गई अपने साथ

भिंड में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय के पदाधिकारी बाहर गए हुए थे, ऐसे में कार्यालय खाली पड़ा था। इसी दैरान बच्चों को गेंद के आकार की वस्तु मिली, जो हैंड ग्रेनेड निकली।

मध्य प्रदेश के भिंड में स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ऑफिस कंपाउंड में हैंड ग्रेनेड मिला है। इस हैंड ग्रेनेड से बच्चे खेल रहे थे। इस हैंड ग्रेनेड के मिलने से सनसनी फैल गई। भिंड पुलिस ने मुरैना से बम डिस्पोजल स्क्वॉयड को बुलाया, जिसमें पता चला है कि ये हैंड ग्रेनेड तीन दशक से भी ज्यादा पुराना है और ‘डेड’ हो चुका है। ऐसे में इससे डरने वाली कोई बात नहीं।

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार (24 फरवरी 2024) को बजरिया इलाके में स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ऑफिस कंपाउंड में कुछ बच्चे खेल रहे थे। कार्यालय के पदाधिकारी बाहर गए हुए थे, ऐसे में कार्यालय खाली पड़ा था। इसी दैरान बच्चों को गेंद के आकार की वस्तु मिली, जो हैंड ग्रेनेड निकली। इसके बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। इस हैंड ग्रेनेड में पिन लगा हुआ था। हालाँकि ये हैंड ग्रेनेड काफी पुराना था। इस बीच मौके पर पहुँची ने जाँच की, तो ये गैंड ग्रेनेड ‘डेड’ मिला, यानि ये फट नहीं सकता था। मुरैना पुलिस के बम डिस्पोजल दस्ते ने भी मौके पर जाँच की।

भिंड पुलिस ने बताया कि रात करीब 10 बजे हैंड ग्रेनेड की सूचना मिली थी। वहाँ 12 बजे रात में ही एसपी डॉ असित यादव भी मौके पर पहुँच गए। इसके बाद स्निफर डॉग भी मौके पर पहुँचा। वहीं, मुरैना से बम डिस्पोजल स्क्वॉयड की टीम रात 2 बजे मौके पर पहुँची और हैंड ग्रेनेड को कब्जे में ले लिया है। इस बीच मौके पर स्थानीय विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाहा भी पहुँचे थे।

एसपी असित यादव ने बताया कि ये हैंड ग्रेनेड संभवत; उस जगह से यहाँ पहुँची है, जहाँ से कार्यालय में मिट्टी डलवाई गई थी। वो जगह संभवत: पहले पुलिस का ट्रेनिंग सेंटर था। उस इलाके को चांदमारी भी कहते हैं। वहां से मिट्टी भरने के समय ही ये हैंड ग्नेनेड भी मिट्टी के साथ ही आ गया होगा। हालाँकि ये निष्क्रिय है और किसी तरह का नुकसान नहीं पहुँचा सकता।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -