Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजVideo: मुस्लिम संगठन ने भीड़ इकट्ठा कर BJP पार्षद और कोरोना जाँच के लिए...

Video: मुस्लिम संगठन ने भीड़ इकट्ठा कर BJP पार्षद और कोरोना जाँच के लिए गई मेडिकल स्टॉफ से की बदसलूकी, मारने की दी धमकी

वीडियो में हम देख सकते हैं कि एक गली में कुछ लोगों को चारों ओर से घेरकर भीड़ खड़ी है और आसपास के लोगों में काफी हलचल हैं। एक युवक बार-बार स्वास्थ्यकर्मी को मारने के लिए आगे बढ़ रहा है। मगर, कुछ लोग उसे रोककर पीछे ले जा रहे हैं। बाकी लोग वहीं झुंड बनाकर हैं। इसके बाद कत्थई कुर्ते में नजर आ रहा युवक गाली देने लगता हैं। फिर भागकर आगे आता है और पत्थर......

कोरोना वायरस के फैलते प्रकोप के बावजूद भी समुदाय विशेष के कुछ लोग अभी भी इसे लेकर गंभीर नहीं है। कई राज्यों से खबरें आ रही हैं कि हर जगह ये लोग स्वास्थ्यकर्मियों और सुरक्षाकर्मियों का विरोध कर रहे हैं। उनसे बदसलूकी कर रहे हैं। ताजा मामला उत्तराखंड के देहरादून का है। जहाँ न केवल मेडिकल टीम को समुदाय विशेष के लोगों ने जाँच करने से रोका। बल्कि उन्हें मारने की धमकी दी और उनपर हमले का प्रयास भी किया।

इस वाकए की सूचना भाजपा के राज्य उपाध्यक्ष डॉ देवेंद्र भाषिन ने अपने ट्विटर पर शेयर की। उन्होंने वीडियो के जरिए दिखाया कि आखिर कैसे देहरादून के माजरा में भाजपा पार्षद समेत स्वास्थ्यकर्मियों को घेरा गया और फिर गाली-गलौच करके धमकी देकर उन्हें भगाने का पूरा प्रयास हुआ।

इस वीडियो के साथ ट्वीट में उन्होंने लिखा, “देहरादून के माजरा में कोरोना जाँच के लिए गई मेडिकल टीम को मुस्लिम सेवा संगठन के लोगों ने रोका। भाजपा पार्षद आफ़ताब आलम के मेडिकल टीम की मदद व जाँच हेतु समझाने के लिए पहुँचने पर संगठन के लोगों ने उन्हें घेर लिया और मारने की धमकी देते हुए हमले का प्रयास किया।”

वीडियो में हम देख सकते हैं कि एक गली में कुछ लोगों को चारों ओर से घेरकर भीड़ खड़ी है और आसपास के लोगों में काफी हलचल हैं। एक युवक बार-बार स्वास्थ्यकर्मी को मारने के लिए आगे बढ़ रहा है। मगर, कुछ लोग उसे रोककर पीछे ले जा रहे हैं। बाकी लोग वहीं झुंड बनाकर हैं। इसके बाद कत्थई कुर्ते में नजर आ रहा युवक गाली देने लगता हैं। फिर भागकर आगे आता है और पत्थर उठा लेता है। हालाँकि, 2 पुरुष और एक महिला यहाँ उसे रोक लेते हैं।

इस वीडियो में एक और चीज जो देखने वाली है वो ये कि वीडियो में स्वास्थ्यकर्मियों के अलावा किसी के पास भी (एक दो को छोड़कर) मास्क नहीं हैं। जिसे देखकर समझा जा सकता है कि न तो ये लोग खुद सावधानी बरत रहे हैं और जब कोई इन्हें समझाने आता है तो उससे दुर्व्यवहार करते हैं।

बता दें, ये वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रही है। कई लोग ये भी कह रहे हैं कि इस दौरान पार्षद को जान से मारने की धमकी दी गई और सरकारी कर्मचारियों को परेशान किया जाता रहा। इसलिए अब इनके ऊपर कोई कार्रवाई होगी या नहीं?

गौरतलब है कि उत्तराखंड में 4 जमातियों के मिलने के बाद प्रशासन वहाँ पर काफी सख्त हो गया है। अभी हाल ही उत्तराखंड सरकार के आग्रह पर देहरादून जिले से ऐसे 64 लोग सामने आए थे, जो देहरादून के उन चार जमातियों के संपर्क में आए थे, जिन्होंने दिल्ली हजरत निजामुद्दीन स्थित तबलीगी मरकज में हिस्सा लिया थ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe