Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज'हिन्दू किन्नर हिन्दुओं के यहाँ माँगें, मुस्लिम किन्नर मुस्लिमों के यहाँ': अलीगढ़ में हिन्दू...

‘हिन्दू किन्नर हिन्दुओं के यहाँ माँगें, मुस्लिम किन्नर मुस्लिमों के यहाँ’: अलीगढ़ में हिन्दू किन्नरों पर धर्मांतरण और इस्लाम कबूलने का दबाव, कहा – गुंडे बुला पिटवाते हैं

उन्होंने बताया कि विपक्षी किन्नरों द्वारा हमको ही प्रताड़ित किया गया और हम पर ही केस भी दर्ज कर दिया गया। शिवम किन्नर ने आगे बताया कि उनकी तरफ से भी विपक्षियों पर FIR दर्ज हुई है, लेकिन गंभीर धाराएँ हिन्दू पक्ष पर ही लगा दी गई हैं।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में किन्नरों के 2 गुटों में तनातनी की खबर है। बताया जा रहा है कि क्षेत्र के विवाद के चलते दोनों गुट आमने-सामने आ गए। पुलिस ने मौके पर पहुँच कर हालात को सँभाला। मिली जानकारी के मुताबिक, इस दौरान एक गुट ने जय श्रीराम का नारा लगाते हुए दूसरे गुट कर इस्लाम कबूलने का दबाव बनाने का भी आरोप लगाया। घटना शनिवार (29 अक्टूबर, 2022) की है।

घटना सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के मौरिस रोड की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लगभग 59 साल पहले शहर में किन्नरों के इलाके बाँटे गए थे। अब शहर के हालात में काफी बदलाव आ गया है, इसलिए इलाके को ले कर दोनों गुटों में आपस में तनातनी रहती है। इस दौरान एक गुट ने खुद को हिन्दू समूह बताते हुए कहा कि मुस्लिम किन्नर मुस्लिमों के घर बधाई माँगे और हिन्दू किन्नर हिन्दुओं के घर। हिन्दू गुट का कहना है कि माँस खाने वाले किन्नरों द्वारा बच्चों को दी गई बधाइयाँ कबूल नहीं होंगी।

हिन्दू पक्ष के किन्नरों ने पुलिस स्टेशन में मीडिया से बात की। उन्होंने आरोप लगाया कि मुस्लिम पक्ष के किन्नर बाहर से गुंडे बुला कर उनकी पिटाई करवाते हैं। पीड़ितों ने आरोप लगाया है कि घटना के दिन उन्हें रास्ते में रोक कर आरोपित नंगे हो गए और खुद को ब्लेड मार ली। पीड़ितों का आरोप है कि इस दौरान उनके पक्ष के 2 किन्नर घायल हुए हैं, जिसमें एक के बाल पकड़ कर खींचे गए और दूसरी की चेन भी छीन ली गई। हिन्दू पक्ष की प्रतिनिधि शिवा की शिवम किन्नर ने प्रशासन और अपने समाज से अपनी सुरक्षा की माँग करते हुए बताया कि एक बार उन पर गोली भी चल चुकी है।

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, हिन्दू गुट ने आगे कहा कि विपक्षी किन्नर उन पर जबरन माँस खाने और नमाज़ पढ़ने का दबाव बनाते हैं। उनका आरोप है कि हिन्दू किन्नरों पर इस्लाम कबूलने का दबाव भी बनाया जाता है। हालाँकि पुलिस को दी गई शिकायत कॉपी में इन आरोपों का जिक्र नहीं है। इस दौरान हिन्दू पक्ष का आरोप है कि मुस्लिम किन्नरों ने उनके इलाके में घुस पर हिन्दुओं के घर बधाई माँगी। बताया जा रहा है कि किन्नरों का मुस्लिम पक्ष हिन्दू पक्ष की इन माँगों को मानने के लिए तैयार नहीं है।

कहा जा रहा है कि घटना के दिन भी इसी बात से शुरू हुआ था। बाद में जुबानी बहस मारपीट में बदल गई। इस दौरान पत्थरबाजी होने और लाठी-डंडे चलने का भी दावा किया जा रहा है। कई किन्नरों के नग्न हो कर सड़क कर हंगामे की वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई। घटना की सूचना मिलते ही अलीगढ़ पुलिस मौके पर पहुँची। पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग किया और समझाया-बुझाया। फ़िलहाल दोनों पक्ष अपनी-अपनी माँगों पर अड़े हुए हैं।

ऑपइंडिया ने इस घटना पर पीड़ित शिवा की शिवम किन्नर से बात की। उन्होंने बताया कि विपक्षी किन्नरों द्वारा हमको ही प्रताड़ित किया गया और हम पर ही केस भी दर्ज कर दिया गया। शिवम किन्नर ने आगे बताया कि उनकी तरफ से भी विपक्षियों पर FIR दर्ज हुई है, लेकिन गंभीर धाराएँ हिन्दू पक्ष पर ही लगा दी गई हैं। हिन्दू पक्ष का कहना है कि उनके द्वारा हिन्दू बने रहने की ही लड़ाई लड़ी जा रही है। शिवम किन्नर के मुताबिक, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है और वो इस मामले में उच्चाधिकारियों से मिलेंगी।

शिवम ने हमें बताया कि विपक्षी पक्ष के किन्नरों में वादी का नाम आरती है जो बस नाम की हिन्दू है लेकिन वो असल में मुस्लिम है। शिवम किन्नर का आरोप है कि विपक्षियों ने उनके गुट को फँसाने के लिए खुद से ही खुद को ब्लेड मर ली है।

ऑपइंडिया के पास दोनों पक्षों की FIR मौजूद है। इसमें शिवा की शिवम पक्ष की किन्नर की तहरीर पर दूसरे गुट पर IPC की धारा 323, 336, 352 और 294 के तहत हाजी शहजाद और अज्ञात आरोपित पर केस दर्ज किया गया है। वहीं दूसरे पक्ष की आरती हिजड़ा की तहरीर पर शिवा की शिवम किन्नर गुट पर IPC की धाराएँ 147, 148, 149, 323, 307 और 506 के तहत 19 आरोपितों पर केस दर्ज हुआ है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -