Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजकचौड़ी लेने गए लड़के पर तहसीम ने फेंका खौलता तेल, चेहरा झुलसाने के बाद...

कचौड़ी लेने गए लड़के पर तहसीम ने फेंका खौलता तेल, चेहरा झुलसाने के बाद आरोपित बाप-बेटा फरार

झगड़े के दौरान ही दुकानदार के बेटे ने नौशाद पर खौलता तेल फेंक दिया और देखते ही देखते नाबालिग का सिर, चेहरा और छाती झुलस गया। नौशाद की चीख सुनकर आसपास के लोग इकट्टा हो गए, लेकिन आरोपित मौका देखकर फरार हो गए।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक कचौड़ी की दुकान पर भयावह घटना घटी है। दुकान पर पहुँचे एक लड़के पर दुकानदार के बेटे ने खौलता तेल डाल दिया, जिससे लड़के का पूरा चेहरा झुलस गया। पीड़ित की गलती बस इतनी थी कि उसने दुकानदार के बेटे से दुकान पर बहस कर ली।

जानकारी के मुताबिक, घटना मेरठ के लिसाड़ी गेट के एक इलाके की है। वहाँ नौशाद नाम का नाबालिग लड़का कचौड़ी लेने तहसीम (कुछ रिपोर्ट्स में तहसीम आरोपित के पिता का नाम बताया गया है) की दुकान पर गया था, लेकिन वहाँ दोनों की किसी बात को लेकर बहस हो गई। धीरे-धीरे मामला गरमा गया और फिर हाथापाई शुरू हो गई। इस बीच तहसीम के पिता और नौकर भी मौके पर पहुँच गए और मारपीट बढ़ गई।

झगड़े के दौरान ही दुकानदार के बेटे ने नौशाद पर खौलता तेल फेंक दिया और देखते ही देखते नाबालिग का सिर, चेहरा और छाती झुलस गया। नौशाद की चीख सुनकर आसपास के लोग इकट्टा हो गए, लेकिन आरोपित मौका देखकर फरार हो गए। कुछ देर में लड़के के परिजनों को घटना का पता चला तो वो भी भागते हुए मौके पर पहुँचे और बेटे को लेकर अस्पताल गए। गनीमत है कि नाबालिग की की आँखें बच गई हैं।

बेटे की पट्टी होने के बाद परिजन लिसाड़ी गेट थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुँचे। मामले में पुलिस की पड़ताल में जारी है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मेरठ सिटी एसपी विनीत भटनागर का कहना है कि मामला दो नाबालिगों के बीच झगड़े का है। उन्होंने बताया कि दोनों की बहस हो गई और हलवाई के बेटे ने करछे में गर्म तेल भरकर नौशाद नाम के नाबालिग लड़के पर फेंक दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले में आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है। 

इस मामले को लेकर थाना प्रभारी प्रशांत कपिल ने बताया कि पीड़ित का उपचार कराया गया है। तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज हो रही है और जल्द ही फरार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -