Friday, October 7, 2022
Homeदेश-समाज23 जगहों पर वायुसेना ने बरसाए फूल, बंगाल में ममता सरकार ने कोरोना वॉरियर्स...

23 जगहों पर वायुसेना ने बरसाए फूल, बंगाल में ममता सरकार ने कोरोना वॉरियर्स को सलामी की नहीं दी इजाजत

कोरोना वॉरियर्स को सलामी देने के लिए भारतीय वायुसेना ने कोलकाता के अस्पतालों के ऊपर हेलिकॉप्टर से फूल बरसाने की योजना बनाई थी, लेकिन वहाँ पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार की इजाजत नहीं मिलने के कारण ये संभव नहीं हो सका। बाकी देश भर में योजनाबद्ध तरीके से...

कोरोना वॉरियर्स को सलामी देने के लिए भारतीय वायुसेना ने कोलकाता के अस्पतालों के ऊपर हेलिकॉप्टर से फूल बरसाने की योजना बनाई थी, लेकिन वहाँ पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार की इजाजत नहीं मिलने के कारण ये संभव नहीं हो सका। बाकी देश भर में योजनाबद्ध तरीके से यह सलामी दी गई। पूरे देश में 23 स्थानों पर वायुसेना ने फ्रंटलाइन वॉरियर्स को धन्यवाद देते हुए पुष्पवर्षा की।

भारतीय वायुसेना ने अपने अंदाज़ में कोरोना वॉरियर्स को सलामी दी है, उन्हें धन्यवाद दिया है। भारतीय सेना के तीनों अंगों ने मेडिकल कर्मचारियों, पुलिस, सफाईकर्मियों और नागरिकों को कोरोना वायरस आपदा के बीच देशहित में योगदान देने के लिए धन्यवाद दिया। वायुसेना ने फूल बरसाए और फ्लाईपास्ट के जरिए धन्यवाद ज्ञापन किया। श्रीनगर के डल झील के ऊपर से उड़ान भर के भी धन्यवाद दिया गया।

दिल्ली एनसीआर के ऊपर से भी रविवार (मई 3, 2020) को एरियल सैल्यूट देने की योजना बनाई गई है, जो सुबह 10:30 में ही होना था लेकिन मौसम के कारण इसमें थोड़ी देरी की गई। चडीगढ़ के सुखना झील के ऊपर से दो हरक्यूलस स्पेशल ऑपरेशन्स ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट ने सलामी दी। पंचकूला में सरकारी अपस्ताल के सामने भारतीय सेना के बैंड ने सलामी दी। गोवा के पणजी स्थित मेडिकल कॉलेज में नौसेना के हेलिकॉप्टर ने सलामी दी।

भारतोय सेना के एयरक्राफ्ट्स ने दिल्ली राजपथ के ऊपर से भी सलामी दी। वहाँ नेशनल वॉर मेमोरियल के ऊपर भी फूलों की वर्षा की गई। मुंबई में भी इसी तरह का भव्य नजारा देखने को मिला। वहाँ मैरीन ड्राइव के ऊपर से उड़ान भरी गई।

दिल्ली एनसीआर के अलावा मुंबई, जयपुर, गुवाहाटी, अहमदाबाद, पटना, लखनऊ और श्रीनगर में भी भारतीय वायुसेना ने कोरोना वॉरियर्स को धन्यवाद देने के लिए फ्लाईपास्ट किया। सीडीएस विपिन रावत ने दिल्ली में नेशनल वॉर मेमोरियल पर पूरी क्रिया के अनुसार वीरगति को प्राप्त जवानों को भी श्रद्धांजलि दी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर में नमाज गंगा-जमुनी तहजीब, कर्नाटक के बीदर में पारंपरिक दशहरा पूजा मस्जिद-मुस्लिमों पर हमला: इस्लामी प्रलाप कब तक भोगते रहेंगे हिंदू

कर्नाटक के बीदर में दशहरा पूजा की जो परिपाटी निजाम काल से चल रही है, उस पर इस्लामी प्रलाप चल रहा है। इसके दबाव में पुलिस ने 9 हिंदुओं पर एफआईआर की है।

राजस्थान में छाया बिजली संकट: 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 बंद, प्रदेश में बचा है सिर्फ 4 दिन का कोयला

राजस्थान में बिजली संकट का खतरा बढ़ता जा रहा है। कोयले की आपूर्ति न होने के कारण प्रदेश में 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 ने बिजली उत्पादन करना बंद कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,757FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe