Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाज'भारतीय सेना रेप करती है': DU में आपत्तिजनक पोस्टर, विरोध करने पर ABVP छात्रा...

‘भारतीय सेना रेप करती है’: DU में आपत्तिजनक पोस्टर, विरोध करने पर ABVP छात्रा के कपड़े फाड़े

'भारतीय सेना हमारा रेप करती है' जैसे पोस्टर देख कर ABVP की शिवांगी खड़वाल ने आपत्ति जताई। लेकिन उन पर हमला कर दिया गया, उनके कपड़े फाड़ डाले गए।

दिल्ली विश्वविद्यालय के कैंपस में भारतीय सेना पर अपमानजनक टिप्पणी का मामला सामने आया है। इस पर ABVP ने कड़ा विरोध दर्ज कराते हुए शिकायत भी दायर की है। संगठन ने आरोप लगाया कि कुछ पूर्व छात्रों और बाहरी लोगों द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में ‘भारतीय सेना हमारा रेप करती है’ लिखे पोस्टर्स लहराए गए। ABVP ने बिना अनुमति आयोजित इस कार्यक्रम का विरोध किया है।

जब ये सब हो रहा था, तब DU छात्र संघ की जॉइंट सेक्रेटरी शिवांगी खड़वाल वहाँ से गुजर रही थीं। तभी उस कार्यक्रम के कार्यकर्ताओं द्वारा आपत्तिजनक नारे लगाए गए। भारतीय सेना विरोधी पोस्टर को देख कर जब शिवांगी खड़वाल ने आयोजकों से इस कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में पूछा तो जवाब में वहाँ पर उपस्थित कार्यक्रम के लोगों ने शिवांगी और उनके साथियों पर हमला कर दिया। इस हमले के बाद छात्र और बाहरी लोगों के बीच बुरी तरह से हाथापाई हुई।

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने शिवांगी को बधाई देते हुए कहा कि ये पोस्टर देख कर वो वहाँ घुस गईं और अकेले भीड़ में घुस के उस पोस्टर को उखाड़ फेंका। शिवांगी ने दिल्ली पुलिस के समक्ष दायर की गई शिकायत में कहा है कि भारतीय सेना के अपमान वाले पोस्टर का विरोध करने पर उन्हें धक्का मारा गया और उनके कपड़े फाड़ डाले गए। शिकायत में भारतीय सेना को ‘बलात्कारी’ कहे जाने के आरोप भी लगाए गए।

बताया जा रहा है कि उक्त कार्यक्रम ‘भगत सिंह छात्र एकता मंच’ नामक संस्था द्वारा आयोजित किया गया था। ABVP ने एक वीडियो भी शेयर किया, जिसमें उक्त कार्यक्रम में एक वक्ता कह रही होती हैं, “जब पुलिस आपका रेप करती है, भारतीय सेना आपका रेप करती है, फिर आप अपनी फरियाद लेकर जिस कोर्ट में जाते हो, वहाँ भी लोग बिके हुए होते हैं।” एक ही वाक्य में पुलिस, सेना और जजों को लपेट लिया गया।

ABVP ने इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ ऐसे कार्यक्रमों का पुरजोर विरोध करता है, जिसे बिना किसी अनुमति के आयोजित किया जाता है तथा जिसमें सेना के विरुद्ध गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाता हो। दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ ने विश्वविद्यालय प्रशासन से ऐसे कार्यक्रम के आयोजकों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की माँग की, जिन्होंने महिला दिवस के शुभ अवसर पर सेना की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योगी सरकार के एक्शन के डर से 3 कुख्यात गैंगस्टर मोमीन, इन्तजार और मंगता हाथ उठाकर पहुँचे थाने, किया आत्मसमर्पण

मामला यूपी के शामली जिले का है। सभी गैंगस्टर्स ने कहा कि वो अपराध से तौबा कर भविष्य में अपराध न करने की कसम खाते हैं।

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,018FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe