Tuesday, November 30, 2021
Homeदेश-समाज'अश्लील बातें करता था, अकेले में मिलने बुलाता था': कॉन्ग्रेस नेता को जूतों से...

‘अश्लील बातें करता था, अकेले में मिलने बुलाता था’: कॉन्ग्रेस नेता को जूतों से पीटने के बाद लड़कियों ने पुलिस को सौंपे सबूत

लड़कियों ने कहा कि वो अकेले में मिलने के लिए भी बुलाता था। दोनों पीड़ित लड़कियों ने पुलिस को सबूत के तौर पर कॉल रिकॉर्डिंग्स उपलब्ध कराए हैं। कॉन्ग्रेसी नेता ने लड़कियों को धमकाया था कि पुलिस में शिकायत करने पर वो मारेंगे।

उत्तर प्रदेश के जालौन में कॉन्ग्रेस जिलाध्यक्ष अनुज मिश्रा पर लड़कियों के साथ छेड़छाड़ और उनके साथ फोन पर अश्लील बातचीत करने का आरोप लगा है। इसके बाद लड़कियों ने ही मिल कर उनकी धुनाई कर दी थी। अब इस मामले में दोनों पीड़ित लड़कियों ने पुलिस को सबूत उपलब्ध कराए हैं। उन्होंने पुलिस को कॉल रिकॉर्डिंग्स दिए हैं। लड़कियों ने कहा कि वो अकेले में मिलने के लिए भी बुलाते थे। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

साथ ही उस कॉन्ग्रेस नेता ने धमकाया भी था कि अगर लड़कियों ने पुलिस में शिकायत की तो अच्छा नहीं होगा। रविवार (नवंबर 1, 2020) की दोपहर दोनों लड़कियों ने तंग आकर उसे मिलने के लिए बुलाया और उसकी पिटाई कर दी। जालौन कॉन्ग्रेस जिलाध्यक्ष अनुज मिश्रा की जूतों से पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया था। युवती की तहरीर पर उनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया गया था। पुलिस उन्हें उठा कर थाने लेकर गई थी।

जालौन पुलिस ने इस मामले की जाँच सीओ सिटी और महिला थाना प्रभारी को सौंपी है। बता दें कि जालौन कॉन्ग्रेस जिलाध्यक्ष अनुज मिश्रा को दो युवतियों ने दोपहर 12 बजे के करीब रेलवे स्टेशन के पास मिलने को बुलाया था। अनुज मिश्रा जैसे ही रेलवे स्टेशन पर पहुँचे, दोनों युवतियों ने चप्पलों और थप्पड़ों से उनकी जम कर धुनाई शुरू कर दी। मिश्रा ने कई बार युवतियों के पैर पकड़ कर माफी माँगी, लेकिन वो पिटाई करती रहीं।

लड़कियों को उन्होंने धमकाया था कि पुलिस में शिकायत करने पर वो मारेंगे। हालाँकि, अनुज मिश्रा का कहना है कि उधारी के रुपए माँगने पर साजिश के तहत उनके साथ मारपीट की गई है। उनका कहना है कि उनकी बिल्डिंग मैटेरियल की दुकान से मकान के निर्माण के लिए युवतियों ने ईंट व गिट्टी की उधार खरीददारी थी और रुपए माँगने पर स्टेशन पर बुलाया था और वो वहाँ रुपए लेने गए तो साजिश के तहत उनकी पिटाई का वीडियो वायरल कर दिया गया।

कोतवाल ने बताया है कि इस मामले की जाँच के लिए और अनुज मिश्रा के आरोपों कि सच्चाई का पता लगाने के लिए दोनों ही युवतियों की कॉल रिकॉर्डिंग्स को खँगाला जाएगा। जिलाध्यक्ष इसे राजनीतिक साजिश बता रहे हैं। फ़िलहाल उन्हें 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। उन्हें उरई जिला कारागार में रखा गया है। कॉन्ग्रेस नेताओं का कहना है कि उक्त युवती को पार्टी की जिला कमिटी से 2 दिनों पहले हटा दिया गया था, इसीलिए उसने द्वेष में आकर इस घटना को अंजाम दिया।

बता दें कि वायरल हुए वीडियो में दोनों लड़कियाँ कॉन्ग्रेस नेता से पूछ रही हैं, “अब लड़कियों को गाली दोगे? अब छेड़खानी करोगे? अब लड़कियों पर ट्राय करोगे?” जिस पर कॉन्ग्रेस नेता अनुज मिश्रा लड़कियों के पैर पकड़ कर उनसे माफ़ी माँगते हैं, उन्हें बहन कह कर संबोधित करते हैं और अंत में कहते हैं कि अब वह ऐसा कभी नहीं करेंगे। सोशल मीडिया पर नेटिज़न्स के बीच इस वीडियो को लेकर काफी प्रतिक्रियाएँ देखने को मिल रही हैं। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,547FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe