Tuesday, May 17, 2022
Homeदेश-समाजराहुल भट की हत्या के बाद 350 सरकारी कर्मचारियों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, उपराज्यपाल...

राहुल भट की हत्या के बाद 350 सरकारी कर्मचारियों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, उपराज्यपाल और गृह मंत्रालय को पत्र भेज कहा- नहीं कर रहे महसूस सुरक्षित

"हम पीएम पैकेज के कर्मचारियों और गैर-पीएम पैकेज कर्मचारियों के पास सामूहिक इस्तीफा देने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है, हम जानते हैं कि हमारी जान बचाने का यही एकमात्र उपाय है।"

जम्मू-कश्मीर में बडगाम के चदूरा में इस्लामिक आतंकियों द्वारा कश्मीरी हिंदू राहुल भट की टार्गेटेड किलिंग के बाद घाटी के लोगों में आक्रोश फैल गया है। इस निर्मम हत्या के खिलाफ सैकड़ों की संख्या में कश्मीरी हिंदू सड़कों पर उतर आए और विरोध किया। इस बीच पता चला है कि प्रधानमंत्री के रोजगार पैकेज के तहत काम करने वाले करीब 350 सरकारी कर्मचारियों ने सामूहिक इस्तीफा दे दिया है।

इन सरकारी कर्मियों ने कथित तौर पर अपना इस्तीफा राज्य के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा को भेज दिया है। इसके साथ ही इसकी एक कॉपी गृह मंत्रालय (MHA) को भी भेज दी गई है। इस्तीफे में इन कर्मचारियों का कहना है कि जिस तरीके से राहुल भट की हत्या इस्लामिक आतंकियों ने की है, उससे केपी सरकार के ये कर्मी सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं।

फोटो साभार: ट्विटर यूजर सावधान जम्मू

पत्र में लिखा गया कि बीते 12 सालों से जो कश्मीरी पंडित घाटी में अपनी सेवाएँ दे रहे हैं, उन अल्पसंख्यकों से प्रशासन ने घाटी में उनकी सम्मानजनक वापसी का वादा किया था, लेकिन जान के खतरे के कारण उनमें निराशा है। इसके हलावा संरक्षकों में भी हताशा का भाव है। जबकि जीवन प्रत्येक इंसान का मौलिक अधिकार है।

इसमें आगे कहा गया है, “हम पीएम पैकेज के कर्मचारियों और गैर-पीएम पैकेज कर्मचारियों के पास सामूहिक इस्तीफा देने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है, हम जानते हैं कि हमारी जान बचाने का यही एकमात्र उपाय है।”

न्याय की माँग कर रहे कश्मीरी हिंदू प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज

गौरतलब है कि इससे पहले ऑपइंडिया ने रिपोर्ट किया था कि कैसे राहुल भट की हत्या करने के मामले में कश्मीरी हिंदू प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया गया और आँसू गैस के गोले दागे गए। इन प्रदर्शनों में सरकारी कर्मचारियों और बडगाम में रहने वाले कश्मीरी हिंदुओं के भट की हत्या पर प्रशासन के खिलाफ विरोध किया।

राहुल भट्ट की हत्या

इससे पहले गुरुवार को जम्मू-कश्मीर में बडगाम जिले के चदूरा में आतंकवादियों ने टार्गेटेड अटैक कर राहुल भट नाम के युवा कश्मीरी पंडित की हत्या कर दी थी। इस घटना में तहसीलदार कार्यालय में क्लर्क राहुल भट पर दो इस्लामिक आतंकियों ने गोलियाँ चलाईं थी। कथित तौर पर वो चदूरा स्थित अपने ऑफिस में काम कर रहे थे, तभी आतंकवादियों ने घुसकर उस पर पॉइंट-ब्लैंक रेंज से गोलियाँ चला दीं। गंभीर हालत में भट को श्रीनगर के एक अस्पताल ले जाया गया, जहाँ उनकी मौत हो गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,227FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe